23 OCTFRIDAY2020 5:42:46 AM
Nari

International Girl Child Day: क्यों मनाया जाता है बालिका दिवस, ऐसे हुई इस दिन की शुरूआत

  • Edited By Bhawna sharma,
  • Updated: 11 Oct, 2020 03:02 PM
International Girl Child Day: क्यों मनाया जाता है बालिका दिवस, ऐसे हुई इस दिन की शुरूआत

आज पूरा विश्व 'अंतरराष्ट्रीय बालिका' दिवस मना रहा है। इस दिन का तात्पर्य बेटियों को महत्व देना है। लेकिन देखा जाए तो आज भी बेटियों को वो सम्मान नहीं मिल रहा जिसकी वह हकदार हैं। इसका उदाहरण है समाज में बढ़ रहे रेप मामले। वहीं आज भी लड़कियों को शिक्षा और उनके कानूनी अधिकारों से दूर रखा जाता है। दुनिया को लड़कियों के प्रति सम्मान और उनके अधिकारों के प्रति जागरूक करने के लिए 11 अक्तूबर को 'अंतरराष्ट्रीय बालिका दिवस' मनाया जाता है। 

PunjabKesari

जानिए 'अंतरराष्ट्रीय बालिका' दिवस का इतिहास

इस दिन की शुरूआत एक एनजीओ ने 'प्लान इंटरनेशनल' के प्रोजेक्ट के रूप में की थी। 'क्योंकि मैं एक लड़की हूं' नाम से इस एनजीओ ने एक अभियान चलाया था। इस अभियान को इंटरनेशनल लेवल पर लेकर जाने के लिए कनाडा सरकार तक इसका प्रस्ताव पहुंचाया गया था। जिसके बाद एनीजीओ के इस प्रस्ताव क कनाडा सरकार ने 55वें आम सभा में प्रस्तुत किया और 19 दिसंबर, 2011 को इसे पारित किया गया था। 11 अक्तूबर की तारीख अंतरराष्ट्रीय बालिका दिवस मनाने के लिए तय की गई। 

PunjabKesari

इस बार की थीम 

अंतरराष्ट्रीय बालिका दिवस की इस साल की थीम है- "हमारी आवाज और हमारा समान भविष्य"। जिसका उद्देश्य ये है कि कैसे छोटी लड़कियां आज पूरी दुनिया को एक रास्ता दिखाने में जुटी हुई हैं। 

PunjabKesari

पहली बार मनाए गए अंतरराष्ट्रीय बालिका दिवस की थीम

प्रस्ताव पारित होने के बाद पहला अंतरराष्ट्रीय बालिका दिवस 11 अक्टूबर, 2012 को मनाया गया था। इस समय इसकी थीम "बाल विवाह उन्मूलन" रखी गई थी। लेकिन आज भी दुनिया के कई हिस्सों में बाल विवाह से जुड़े मामले सामने आते रहते हैं। हालांकि बाल विवाह को खत्म करने के लिए कानून भी बनाए गए हैं। लेकिन जब तक लोग शिक्षित नहीं होंगे इस कुरीति को खत्म करना मुश्किल है।

Related News