01 MARMONDAY2021 7:18:28 AM
Nari

कितनी तरह के होते हैं विटामिन्स, शरीर के लिए क्यों जरूरी?

  • Edited By Anjali Rajput,
  • Updated: 05 Jun, 2020 09:53 AM
कितनी तरह के होते हैं विटामिन्स, शरीर के लिए क्यों जरूरी?

खुद को बीमारियों से बचाने के लिए पोष्क तत्वों का शरीर में जाना बहुत जरूरी है। उन्हीं में से शामिल हैं विटामिन्स। अगर इन विटामिन्स की कमी हो जाए तो शरीर कमजोर तो होता ही हैं साथ ही तरह तरह की बीमारियां भी शरीर को अपने घेरे में लेने लगती हैं। इसलिए इन्हें शामिल करना बहुत जरूरी हैं।

PunjabKesari

चलिए आपको बताते हैं विटामिन्स मिलेंगे कैसे और उससे पहले जान लें ये होते कितने तरह के हैं और इन सबका काम क्या है। विटामिन्स कुल 13 तरह के होते हैं, जो पानी से अवशोषित होकर सीधे रक्तप्रवाह में प्रवेश करते हैं। इससे आप बीमारिययों से बचे रहते हैं। वहीं विटामिन्स बोन डेंसिटी बढ़ाने में भी मदद करते है। इसके आलावा यह कोशिकाओं, हड्डियों, दांतों और कार्टिलेज की मुरम्‍मत और देखभाल में भी अहम भूमिका निभाते हैं।

विटामिन ए

विटामिन ए त्वचा, हड्डियों और शरीर की अन्य कोशिकाओं को मजबूत रखने में काफी महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है और हमारे शरीर से सूजन संबंधी समस्या नहीं उत्पन्न होने देता है। दिल, फेफड़े, किडनी का सामान्य तरीके से काम करने में विटामिन ए की भूमिका काफी अहम मानी जाती है। इसकी कमी से अंधापन, आंखों में सूखापन, रूखे बाल, सूखी त्‍वचा, बार-बार सर्दी-जुकाम, थकान, कमजोरी, नींद न आना, रतोंधी, निमोनिया और वजन में कमी होने जैसी कई परेशानियां शुरू हो जाती हैं।

कमी पूरी कैसे करें?

सब्जियों और फलों सेवन करें। डाइट में अंडा, दूध, गाजर, पीली या नारंगी सब्जियां, पालक, स्वीट पोटेटो, मटर, पपीता, दही, सोयाबीन और पत्तेदार हरी सब्जियां शामिल करें।

PunjabKesari

विटामिन B

विटामिन बी-1, बी-2, बी-3, बी-5, बी-6, बी-7, बी-9 और विटामिन बी-12। यह दानों के छिलकों, अंकुरित अनाज, हरी सब्जियों, गाजर, चुकंदर, अदरक, किशमिश, काजू, मूंगफली में पाया जाता है। इसका प्रमुख काम पाचन क्रिया को ठीक रखना है। बेरी-बेरी रोग भी इसी विटामिन की कमी से होता है।

विटामिन बी6

यह विटामिन आपकी नींद और भूख को कंट्रोल करने में मदद करता है। इसके साथ ही यह नर्वस सिस्टम को भी सही तरीके से काम करने में मददगार होता है। विटामिन बी6 की पूर्ति के लिए शकरकंद और केले जैसी चीजों का सेवन करें।

विटामिन बी12

विटामिन बी12 की कमी के व्यक्ति को थकान महसूस होने लगती है। साथ ही इससे कई बीमारियों का खतरा भी बढ़ जाता है। ऐसे में इसकी कमी को पूरा करने के लिए मीट, अंडे, फूट्स और डेयरी उत्पाद खाएं।

विटामिन सी

कोरोना वायरस से बचने व अन्य समस्याएं जैसे मसूड़ों की सूजन, जोड़ों का दर्द, एनीमिया, दांत टूटना, मसूड़ों से खून आना, चोट लगना, बालों और त्वचा में बदलाव और डिप्रैशन से बचाने केलिए यह विटामिन बेहद जरूरी है। इतना ही नहीं, विटामिन सी की कमी कैंसर हदय रोग जैसी कई गंभीर रोगों को कारण भी बन सकती है। डाइट में आंवला, संतरा, नींबू, हरी मिर्च, कीवी, अंगूर, तरबूज, स्ट्रॉबेरी, पपीता, आलू और टमाटर जैसे खट्टे फलों को शामिल करें।

PunjabKesari

विटामिन डी

हड्डियों को मजबूत बनाने के लिए विटामिन डी बहुत जरूरी है। साथ ही इससे वजन भी कंट्रोल में रहता है। इसकी कमी हो तो गठिया-जोड़ दर्द जैसी समस्या हो सकती है रोजाना सुबह की पहली गुनगुनी 10 से 15 मिनट की धूप लेने से विटामिन डी की कमी पूरी हो जाती है। इसके अलावा सप्लीमेंट्स, विटामिन डी सेलमन, अंडा, दूध, मशरूम और दही भी इसकी कमी को पूरा करते हैं।

विटामिन ई

विटामिन ई शरीर की डैमेज कोशिकाओं को फिर से नई बनाने का काम करता है। साथ ही ये कैंसर सेल्स को भी बढ़ने से रोकता है। वहीं विटामिन ई आपकी स्किन और बालों के लिए बेहद फायदेमंद इसकी कमी को पूरा करने के लिए विटामिन ई युक्त भोजन जैसे पालक, पीनट बटर, बादाम, कोर्न, बादाम तेल में भरपूर होता है। एवोकाडो और सूरजमुखी के बीजों को डाइट में शामिल करें। 

विटामिन के

बाकी विटामिन्स की तरह विटामिन के भी बहुत जरूरी है। शरीर में विटामिन के खून के थक्के को बनाता है ताकि चोट लगने पर ज्यादा रक्त स्त्राव होने से बचे। यह धमनियों में कैलशियम को जमने से भी रोकता है। पालक, केल ब्रोकली औऱ शलगम साग में भरपूर होता है। विटामिन के आपको बुढ़ापा भी नहीं आने देता। 

मल्टी विटामिन्स गोलियां भी है फायदेमंद?

अगर किसी वजह से शरीर में विटामिन्स की कमी आहार के जरिए पूरी नहीं हो पा रही है तो उसे मल्टी-विटामिन्स के जरिए भी पूरा किया जा सकता है। मगर, इसे लेने से पहले डॉक्टर्स से परामर्श जरूर लें।

PunjabKesari

तो देखा कितने जरूरी हैं विटामिन्स इसलिए इनका भरपूर सेवन करें।

Related News