24 JANSUNDAY2021 1:30:44 PM
Nari

शुरू से ही बच्चे में डालें ये आदतें तभी होंगे वे Mentally Strong

  • Edited By neetu,
  • Updated: 08 Jan, 2021 01:19 PM
शुरू से ही बच्चे में डालें ये आदतें तभी होंगे वे Mentally Strong

कोरोना के कारण हर किसी की डेली रूटीन में बहुत से बदलाव आए। बात अगर बच्चों की करें तो स्कूल बंद होने के कारण उनके मानसिक व व्यावहारिक विकास धीमा हो गया। ऑनलाइन क्लासिस होने के बावजूद भी बच्चे अच्छे से सभी चीजों को सीख नहीं पाएं। इस पर पेरेंट्स का फर्ज बनता है कि वे बच्चों को कुछ ऐसी आदतें सिखाएं जिससे उनका बेहतर तरीके से विकास हो सके। तो चलिए आज हम आपको कुछ ऐसे टिप्स बताते है, जिसे अपानकर आप अपने बच्चों को मानसिक तौर पर मजबूत बना सकते हैं। 

PunjabKesari

क्लास से अलग किताबें पढ़ाएं

बच्चे के ज्ञान को बढ़ाने के लिए उसे उसके कोर्स के अलावा किताबें पढ़ने को दें। साथ ही उससे जोर-जोर से किताबें पढ़वाएं। इससे बच्चे की अन्य विषयों के बारे में जानने की रूचि बढ़ेगी। इसके अलावा जोर से पढ़ने से उसका आत्मविश्वास बढ़ेगा। ऐसे में वह किसी के सामने बोलने से कभी कतराएगा नहीं। आप उनके लिए अलग-अलग कहानियों, कॉमिक्स बुक खरीद सकते हैं। 

अखबार पढ़ने की आदत डालें

सुबह अखबार पढ़ने से देश-विदेश की जानकारी मिलने के साथ दिमागी विकास होने में मदद मिलती है। ऐसे में बच्चे को इसे पढ़ने को कहे। अगर आपका बच्चा छोटा है तो उसे मनोरंजन वाले आर्टिकल सुनाएं। इससे बच्चे के दिमाग का विकास होने के साथ सोचने व समझने की शक्ति बढ़ेगी। 

PunjabKesari

बच्चे के सवालों का जवाब दें

घर का माहौल हमेशा ऐसा होना चाहिए कि बच्चा बिना किसी रोक-टोक के अपने मन की बात कहे। साथ ही पेरेंट्स का फर्ज बनता है कि बच्चों के सभी सवालों का जवाब दें। इससे उसके दिमाग का विकास होने के साथ सोचने व समझने की शक्ति बढे़गी। साथ ही वे अलग-अलग चीजों के बारे में गहराई से जान पाएगा। 

दूसरों से घुलने-मिलने दें

कई बच्चे बहुत ही संकोची व शर्माने वाले होते हैं। अपने इसी स्वभाव के कारण वे जल्दी किसी से घुलते-मिलते नहीं है। मगर ऐसे बच्चों का मानसिक व व्यवहारिक तौर पर सही तरीके से विकास नहीं हो पाता है। इसके लिए मां-बाप की जिम्मेदारी बनती है कि वे बच्चों को दूसरों के साथ मिलने व बातचीत करने की आदत डालें। साथ ही उन्हें घर पर बंद रखने की जगह बाहर दूसरे बच्चों के साथ खेलने के लिए प्रेरित करें। इससे वे व्यवहार कुशल होने के साथ जीवन में आने वाली चुनौतियों का खुद सामना करना सीखेंगे।  

PunjabKesari

आपको हमारा आर्टिकल कैसा लगा हमें कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं।

Related News