05 MARFRIDAY2021 5:01:51 AM
Nari

कब्ज-गैस ही नहीं, कई बीमारियों का रामबाण इलाज कचनार, एक्सपर्ट से जानें कैसे करें इस्तेमाल

  • Edited By Anjali Rajput,
  • Updated: 17 Feb, 2021 09:47 AM
कब्ज-गैस ही नहीं, कई बीमारियों का रामबाण इलाज कचनार, एक्सपर्ट से जानें कैसे करें इस्तेमाल

कचनार के फूल जहां को महकाते हैं वहीं आयुर्वेद में इसका इस्तेमाल जड़ी-बूटी के रूप में किया जाता है। कुछ लोग कचनार के हरे मूंगरों की सब्जी बनाकर भी खाते हैं। मगर, क्या आप जानते हैं कि इसके फूलों से लेकर छाल तक का इस्तेमाल सर्दी-खांसी, मुंह में छाले और थायराइड जैसी बीमारियों की रामबाण दवा है। चलिए आज हम आपको बताते हैं कि कचनार के फूलों का इस्तेमाल आप किन किन बीमारियों के इलाज में कर सकते हैं...

1. खून को करे साफ

कचनार के फूल या छाल का आप काढ़ा बनाकर पीएं। इसके लिए इसके फूलों या छाल को 10-20 मि.ली. पानी में अच्छी तरह उबालकर ठंडा करें। फिर इसमें 2-3 बूंद शहद मिलाकर पिएं। यह ब्लड प्यूरीफायर की तरह काम करती है।

PunjabKesari

2. सर्दी-खांसी से राहत

दिन में 2 बार 20 मि.ली. काढ़ा कचनार के फूल का काढ़ा पीने से सर्दी-खांसी से राहत मिलती है। हालांकि इससे पहले एक बार अपने डॉक्टर से जरूर सलाह लें।

3. मुंह के छाले का इलाज

1 लीटर पानी में करीब 50 ग्राम कचनार की छाल उबालें। फिर इससे दिन में 2 से 3 बार कुल्ला करें। इससे मुंह के छाले ठीक हो जाएंगे।

4. पीरियड्स में फायदेमंद

इसके फूलों का काढ़े का पीने से पीरियड्स में हैवी ब्लीडिंग, अनियमित पीरियड्स, ऐठंन व दर्द की समस्या से राहत मिलती है। दिन में 2 बार 20 मि.ली. काढ़ा का सेवन करें। 

PunjabKesari

5. कब्ज और गैस

अपच, गैस, कब्ज की दिक्कत में भी इस काढ़े का सेवन फायदेमंद होता है। साथ ही इससे पाचन क्रिया भी दुरुस्त रहती है लेकिन एक बार अपने डॉक्टर से सलाह जरूर लें।

6. अर्थराइटिस दर्द से राहत

जोड़ों में दर्द, अर्थराइटिस, सोरायसिस, उठने-बैठने में दिक्कत या सूजन की परेशानी रहती है तो इसके काढ़े का सेवन आपके लिए फायदेमंद रहेगा।

7. ल्यूकोरिया से करे बचाव

इसके लाल फूलों का चूर्ण बनाकर 1-2 ग्राम रोजाना गर्म पानी के साथ लें। इससे ल्यूकोरिया की परेशानी दूर हो जाएगी।

PunjabKesari

8. बवासीर

कचनार की जड़ से बना चूर्ण तैयार सुबह 1 गिलास पानी या छाछ के साथ लें। इससे ना सिर्फ बवासीर की परेशानी की दूर होगी बल्कि पाचन संबंधी समस्याएं भी दूर रहेंगी।

10. पीलिया का इलाज

कचनार के पत्तों का पेस्ट बनाएं। अब 1 गिलास दूध के साथ इसका सेवन करें। इससे पीलिया की समस्या जल्दी दूर होगी और साथ ही शरीर की कमजोरी भी।

11. पेचिश से राहत

दस्त या पेचिश की दिक्कत होने पर भी कचनार का सेवन फायदेमंद साबित हो सकता है। इसका कसैला और ठंडा स्वाद दस्त व पेशिच की समस्या से राहत देता है। साथ ही इससे दस्त से खून आने की समस्या से भी राहत मिलती है।

PunjabKesari

कचनार के साइड-इफेक्ट्स

जहां हर चीज के कुछ फायदे होती हैं वहीं उसके नुकसान भी होते हैं। उसी तरह कचनार का अधिक मात्रा में सेवन एसिडिटी, स्किन में रैशेज व खुजली की समस्या हो सकती है। कुछ लोगों को इससे उल्टी भी होने लगती है। ऐसे में ध्यान रखें इसका सेवन करने से पहले डॉक्टर से जरूर सलाह लें।

Related News