30 NOVMONDAY2020 12:37:25 AM
Nari

चावल में मिलाएं ये फलियां, दिल रहेगा स्वस्थ और नहीं बढ़ेगी डायबिटीज

  • Edited By neetu,
  • Updated: 31 Oct, 2020 06:18 PM
चावल में मिलाएं ये फलियां, दिल रहेगा स्वस्थ और नहीं बढ़ेगी डायबिटीज

दाल या बीन्स में विटामिन्स व मिनरल्स भरपूर मात्रा में मौजूद होते हैं। इनके सेवन करने से शरीर को सभी जरूरी तत्व आसानी से मिलते हैं। ऐसे में बीमारियों से बचाव रहने के साथ शरीर के बेहतर विकास में मदद मिलती है। खासतौर पर जो लोग शाकाहारी होते हैं। उन्हें इसका सेवन करने से प्रोटीन सही मात्रा में मिलता है। गुणों से भरपूर होने के चलते इन्हें सुपर फूड कहा जाता है। खासतौर पर डायबिटीज व दिल के मरीजों के लिए इनका सेवन करना बेहद फायदेमंद होता है। तो चलिए आज हम आपको इनके बारे में विस्तार से बताते हैं। मगर उससे पहले जानते हैं कि फलियों को डाइट में शामिल करना चाहिए। 

 

असल में,हरी मटर की फलियां, राजमा, सोयाबीन, चना, सेम, मूंग, बीन्स आदि को दालों व हरी फलियों की श्रेणी में रखा जाता है। इनका सेवन करने से शरीर को प्रोटीन, आयरन, फाइबर, विटामिन्स व मिनरल्स आदि तत्व उचित मात्रा में मिलते हैं। 

पौष्टिक तत्वों से भरपूर 

फलियों व दालों में कैल्शियम, आयरन, फॉस्फोरस, जिंक, विटामिन-बी, मैग्नीशियम आदि भारी मात्रा में होते है। ऐसे में इनका सेवन करने से शरीर को सभी जरूरी तत्व आसानी से मिल जाते हैं। 

PunjabKesari

शाकाहारी लोगों के लिए प्रोटीन का उचित स्त्रोत 

प्रोटीन की कमी को पूरा करने के लिए मांस व अंडे खाने की सलाह दी जाती है। मगर जो लोग शाकाहारी है वे प्रोटीन को सही मात्रा में लेने के लिए अपनी डाइट में फलियों को शामिल कर सकते हैं। इनसे उन्हें प्रोटीन के साथ अन्य जरूरी तत्व भी आसानी से मिल जाएंगे। 

डायबिटीज में फायदेमंद 

डायबिटीज के मरीजों को अपने डाइट का खास ध्यान रखने की जरूरत होती है। उन्हें मीठी चीजों के साथ चावन खाने की मनाही होती है। मगर इन फलियों के साथ चावल को मिलाकर खाने से इनकी पौष्टिकता बढ़ती है। ऐसे में इन्हें डायबिटीज के मरीज भी बिना किसी परेशानी के खा सकते हैं। असल में, फलियों में ग्लाइसेमिक इंडेक्स कम मात्रा में होता है। ऐसे में इनका सेवन करने से शुगर लेवल बढ़ने की परेशानी से बचाव रहता है। इनमें मौजूद घुलनशील फाइबर डायबिटीज को कंट्रोल में रखने का काम करता है। इन्हें चावल के साथ मिलाकर खाने से चावल भी पौष्टिक गुणों से भर जाते हैं। इन्हें खाने का तरीका...

 

हरी मटर या फलियों को चावल के साथ पकाएं। इस तरह चावल बनाने से इसकी गुणवत्ता बढ़ेगी। एक रिसर्च के अनुसार, इस तरह चावल खाने से उनका नुकसान होने की जगह फायदा होगा। इससे दिल स्वस्थ रहने और इससे जुड़ी बीमारियों के लगने से बचाव रहेगा। 

PunjabKesari

दिल के लिए फायदेमंद 

एक रिसर्च के अनुसार, डेली डाइट में इन फलियों का सेवन करने से दिल स्वस्थ रहता है। साथ ही इससे जुड़ी बीमारियों के होने का खतरा कई गुणा कम होता है। 

कैंसर से बचाव 

एंटी-ऑक्सीडेंट, एंटी-वायरल गुणों से भरपूर फलियों का सेवन करने से कैंसर जैसी गंभीर बीमारी से बचा जा सकता है। ये तत्व शरीर में कैंसर की कोशिकाओं को पनपने से रोकते है। ऐसे में इस गंभीर रोग से बचाव रहता है। 

इम्यूनिटी बढ़ाए

एंटी-ऑक्सीडेंट, एंटी-वायरल गुणों से भरपूर फलियों का सेवन करने से इम्यूनिटी बढ़ने में मदद मिलती है। ऐसे में बीमारियों से लड़ने की शक्ति बढ़ने के साथ गंभीर रोग लगने का खतरा कम रहता है। खासतौर पर सर्दियों में इंफेक्शन या सर्दी-जुका, बुखार होने की परेशानी से बचाव रहता है। 
 

Related News