23 OCTFRIDAY2020 5:39:10 AM
Nari

एक गलती आपकी जिंदगी पर ना पड़ जाए भारी, ब्रेस्ट कैंसर के हैं ये संकेत !

  • Edited By Vandana,
  • Updated: 22 Oct, 2020 01:45 PM
एक गलती आपकी जिंदगी पर ना पड़ जाए भारी, ब्रेस्ट कैंसर के हैं ये संकेत !

महिलाओं की हैल्थ प्रॉब्लम में एक प्रॉब्लम ब्रेस्ट कैंसर की है। आज भारत में 25 से 40 साल की अधिकतर महिलाएं इस बीमारी की चपेट में आ रही है जिसका एक कारण लापरवाही भी है। लापरवाही संकेतों को अनदेखा करने की। दरसअल 60 फीसदी महिलाओं यह जान ही नहीं पाती कि वह बीमारी से ग्रस्त हैं क्योंकि इस बीमारी को लेकर वह जागरुक ही नहीं हैं। नतीजा वह जब इसके बारे में जान पाती हैं तब तक बीमारी तीसरी या चौथी स्टेज पर पहुंच जाती हैं लेकिन अगर कुछ शरीर में होने वाले बदलावों पर ध्यान दिया जाए तो इस बीमारी को समय पर ही पकड़ा जा सकता है, जिससे मरीज जल्दी सही हो सकता है।

PunjabKesari

आज हम आपको कुछ ऐसी ही कुछ महत्वपूर्ण बातों की जानकारी इस वीडियो में देंगे जिसके बारे में हर महिला को पता होना चाहिए।  उससे पहले इसके लक्षण जानिए। इन लक्षणों की अनदेखी बिलकुल ना करें... 

- अगर स्तनों पर किसी तरह की गांठ बनी हो

- स्तनों में दर्द, खुजली और लालगी बनी हो। 

- अंडरआर्म्स या बाजु कंधे के आसपास हिस्से में दर्द, सूजन या गांठ बनी हो।

- गर्दन के ऊपरी हिस्से में दर्द रहता हो भी क्योंकि कैंसर की कोशिकाएं जब बढ़ने लगती हैं तो यह रीढ़ की हड्डी पर असर डालता है जिससे गर्दन में तेज दर्द और सूजन की समस्या होने लगती है।

- निप्पल में मटमैला पानी जैसे चिपचिपा डिस्चार्ज हो तो। 

- निप्पल मुड़े हो या निप्पल का रंग व आकार बदलने लगे।

- बहुत ज्यादा थकान महसूस करती हो तो क्योंकि कैंसर के सैल्स रक्त की कोशिकाओं पर दबाव डालते हैं जिससे शरीर अत्यधिक थकान महसूस करता है।

ऐसे कोई लक्षण दिखे तो तुरंत डाक्टरी जांच करवाएं क्योंकि समय पर अगर बीमारी को पकड़ लिया जाए तो इससे छुटकारा पाना आसान है। 

PunjabKesari

कारणों की बात करें तो इसके बहुत से कारण हो सकते हैं... 

-यह बीमारी जेनेटिक भी है। घर में किसी महिला को अगर यह समस्या है तो घर की अन्य महिला को भी इसका खतरा रहता है।

- आपका लाइफस्टाइल सहीं ना होना भी एक बड़ा कारण है। जैसे हैल्दी की बजाए अनहैल्दी चीजों का सेवन ज्यादा करना।

- जो महिलाएं 30 के बाद प्रेग्नेंसी कंसीव करती हैं, उनमें भी कैंसर की संभावनाएं बढ़ जाती हैं। 

- बर्थ कंट्रोल पिल्स का अधिक सेवन करने वाली महिलाओं को भी इसका खतरा रहता है।

- पीरियड्स जल्दी आने व जल्दी बंद हो जाने से भी इस बीमारी का खतरा। जैसे मासिक धर्म 12 साल की उम्र से पहले शुरू हुए हों और 55 साल से पहले बंद हुए हो उन्हें ब्रेस्ट कैंसर होने का खतरा ज्यादा होता है।

- बहुत ज्यादा तनाव में रहने वाली महिलाएं भी इसकी चपेट में आ सकती है।

किन बातों पर ध्यान देनें की जरूरत

- नहाते समय स्तनों के आसपास हाथ लगाकर जरूर चेक करें। स्तनों के आसपास किसी तरह का दर्द या गांठ हो तो तुरंत डाक्टरी जांच करवाएं। 

- डाइट में हैल्दी चीजों का सेवन करें। फ्रूट्स नट्स व हरी सब्जियां खाएं।

- व्यायाम-योग को अपनी दिनचर्या का हिस्सा बनाएं। वजन को कंट्रोल में रखें।

- मेडिटेशन करें खुद को तनाव से दूर रखें। 

- जंकफूड का सेवन ना करें। 

यह चीजों आपको सिर्फ ब्रेस्ट कैंसर से ही नहीं बल्कि अऩ्य कई तरह की बीमारियों से भी बचा कर रखेंगी।

PunjabKesari

Related News