14 AUGSUNDAY2022 9:41:37 PM
Nari

वुमन्स डे पर महिलाओं को तोहफा, राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने 29 महिलाओं को दिया नारी शक्ति पुरस्कार

  • Edited By Anjali Rajput,
  • Updated: 09 Mar, 2022 10:09 AM
वुमन्स डे पर महिलाओं को तोहफा, राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने 29 महिलाओं को दिया नारी शक्ति पुरस्कार

अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने 2020 और 2021 के लिए 29 उत्कृष्ट महिलाओं को नारी शक्ति पुरस्कार से सम्मानित किया। उन्होंने मंगलवार को प्रथम महिला सांप बचावकर्ता से लेकर डाउन सिंड्रोम प्रभावित कथक नृत्यांगना तक 29 उत्कृष्ट उपलब्धि हासिल करने वाली महिलाओं को नारी शक्ति पुरस्कार से नवाजा।

29 महिलाओं को किया गया सम्मानित

अट्ठाईस पुरस्कार (2020 और 2021 के लिए प्रत्येक में 14) 29 महिलाओं को महिलाओं के सशक्तिकरण की दिशा में उनके असाधारण कार्य के लिए दिए गए हैं।

 

स्नेक फ्रेंड वनिता जगदेव बोराडे

पुरस्कार पाने वाली महिलाओं में वनिता जगदेव बोराडे, पहली महिला सांप बचावकर्ता का नाम भी शामिल हैं, जिन्होंने प्रकृति और वन्यजीव संरक्षण और प्रदूषण मुक्त वातावरण को बढ़ावा देने के लिए 'सोयरे वनचारे बहुउद्देशीय फाउंडेशन' की स्थापना की। उन्होंने करीब 50,000 से अधिक सांपों को उनके प्राकृतिक आवास में छोड़कर बचाया। इसके अलावा उन्होंने कई सांप जागरूकता कार्यक्रम भी आयोजित किए, जिसमें सर्पदंश पीड़ितों के लिए प्राथमिक उपचार, सुरक्षा संबंधी विचार जैसे विषय शामिल थे। "स्नेक फ्रेंड" के रूप में पहचानी जाने वाली वनिता को भारतीय डाक विभाग उनके नाम का डाक टिकट जारी करके सम्मानित किया।

कथक डांसर सायली नंदकिशोर

उनके अलावा डाउन सिंड्रोम से प्रभावित कथक डांसर सायली नंदकिशोर अगवाने को भी इस सम्मान से सम्मानित किया गया। उन्होंने 100 से अधिक कार्यक्रमों में अपनी प्रस्तुति दी है। ग्लोबल ओलंपियाड डांस प्रतियोगिता में उन्हें कांस्य पदक भी मिल चुका है। कई कठिनाई का सामना करने के बावजूद उन्होंने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भारतीय शास्त्रीय नृत्य को बढ़ावा दिया।

बिजनेवुमन तागे रीता ताखे

बिजनेवुमन तागे रीता ताखे को भारत की पहली ऑर्गेनिक कीवी वाइन 'नारा आल्बा' का उत्पादन करने के लिए इस अवॉर्ड से नवाजा गया। लगभग 60,000 लीटर वाइन बनाने वाली रीता की कंपनी का टर्नओवर करीब 4.5 करोड़ रुपए है। उन्होंने इंजीनियर की पढ़ाई की है लेकिन खुद का बिजनेस करने के लिए लाखों की नौकरी ठुकरा दी।

 

 

उन्होंने 2016 में लोअर सुबनसिरी, अरुणाचल प्रदेश में 'लंबू सुबू फूड एंड बेवरेजेज', नारा-आबा 'वाइन' की स्थापना की। उन्हें संयुक्त राष्ट्र महिला ट्रांसफॉर्मिंग इंडिया अवार्ड से भी सम्मानित किया जा चुका है। नारी शक्ति पुरस्कार उन्हें अंतरराष्ट्रीय स्तर पर महिलाओं को बढ़ावा देने के लिए दिया जाता है।

इन महिलाओं को भी किया गया सम्मानित

. दृष्टिबाधित सामाजिक कार्यकर्ता टिफनी बरार को दृष्टिबाधित ग्रामीण महिलाओं के लिए उनके अनुकरणीय कार्य के लिए सम्मानित किया गया।

. जैविक किसान उषाबेन दिनेशभाई वसावा को जैविक खेती में उनके उत्कृष्ट योगदान और जमीनी स्तर पर महिला किसानों को शिक्षित करने में सहायता के लिए सम्मानित किया गया।

. निवृति राय, कंट्री हेड, इंटेल इंडिया को प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में उत्कृष्टता के लिए सम्मानित किया गया है, जो वास्तव में 21 वीं सदी की महिलाओं का प्रतिनिधित्व करती है। साथ ही यह भारत के लिए आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस सक्षम हाई-टेक भविष्य का निर्माण करने के लिए छात्रों को सशक्त बनाती है।

. शोभा गस्ती, जिन्होंने कर्नाटक के बेलगाम में तीन तालुकों के 360 गांवों में काम करने वाली महिला अभिवृधि मट्टू संरक्षण समस्त (एमएएसएस) शुरू की, उन्हें महिलाओं और लड़कियों के सशक्तिकरण के लिए इस अवॉर्ड से सम्मानित किया गया।

. हस्तशिल्प और हथकरघा में बेहतर योगदान के लिए अंशुल मल्होत्रा ने राष्ट्रपति से सम्मान हासिल कर हिमाचल का नाम चमकाया है।

. यह पुरस्कार पाने वाली महिलाओं में मर्चेंट नेवी की कप्तान राधिका मेनन, सामाजिक उद्यमी अनीता गुप्ता, नवाचार के लिए विख्यात नासिरा अख्तर, गणितज्ञ नीना गुप्ता का नाम भी शामिल है।

बता दें कि  नारी शक्ति पुरस्कार महिला और बाल विकास मंत्रालय की एक पहल है, जो व्यक्तियों और संस्थानों द्वारा किए गए असाधारण योगदान को स्वीकार करती है और महिलाओं को समाज में सकारात्मक बदलाव के लिए गेम-चेंजर और उत्प्रेरक के रूप में मनाती है।

Related News