04 JULMONDAY2022 9:02:33 AM
Nari

Mira Kapoor देसी घी को खा नहीं पी रही हैं वो भी एक खास वजह के लिए...

  • Edited By Vandana,
  • Updated: 04 Jun, 2022 04:00 PM
Mira Kapoor देसी घी को खा नहीं पी रही हैं वो भी एक खास वजह के लिए...

बचपन से ही हम लोग, अक्सर दादी-नानी से ये सुनते आ रहे हैं कि घी खाना चाहिए। भारत की रसोई में घी की इस्तेमाल सदियो से हो रहा है। घी हमारे रसोई में मिलने वाले सबसे जरूरी और विशेष खाद्य पदार्थों में से एक है। इसे खाने से हमारी हड्डियों को सिर्फ मजबूती ही नहींं मिलती बल्कि स्किन भी चमकदार और बेदाग होती है। एक इंटरव्यू में करीना कपूर खान ने कहा था कि वह बचपन से ही घी खाती रही हैं और का एक से 2 चम्मच वह डेली रूटीन में ले ही लेती हैं। बचपन से उनके घर में सब घी के शौकीन रहें हैं और वह भी। करीना के अलावा और भी कई सेलिब्रिटीज और न्यूट्रिशियनिस्ट भी घी के अनगिनत फायदे बता चुके हैं और हाल ही में मीरा राजपूत ने घी को लेकर एक खुलासा किया है कि घी खाती नहीं बल्कि पीती हैं। दरअसल, वह बेदाग और ग्लोइंग स्किन के लिए घी पीती हैं।

देसी घी पीने के फायदे

चलिए, आपको बताते हैं कि घी पीने के आयुर्वेद के अनुसार, कितने सारे फायदे है। आयुर्वेद में इस थेरेपी को स्नेहन कहते हैं जो शरीर को अंदर से डिटॉक्स करने का काम करती हैं। इस बारे में इंस्टाग्राम में एक पोस्ट शेयर करके मीरा ने बताया कि औषधीय घी या स्नेहन पीने का उनका उद्देश्य इंटरनल ओलिएशन है।

PunjabKesari
पोस्ट में उन्होंने लिखा, 'घी हमारे शरीर के टॉक्सिन पदार्थों को बाहर निकालने का काम करते हैं और शरीर की मांसपेशियों और कोशिकाओं को पोषण देता है। आपको धीरे-धीरे घी की मात्रा को तब तक बढ़ाना होता है, जब तक कि यह आपके शरीर को भर न दे और आपके छिद्रों से बाहर न आ जाए।' आपको बता दें कि घी में बहुत से तत्व पाए जाते हैं जैसे -विटामिन ए, डी, कैल्शियम, फॉस्फोरस, मिनरल्स और पोटैशियम आदि। आयुर्वेद में इसके सर्वोत्तम फायदे के लिए खाली पेट घी पीने की सलाह दी जाती है।


चलिए आपको बताते हैं कि स्‍नेहन क्‍या होता है?

स्नेहन या घी पीना आयुर्वेदिक डिटॉक्स थेरेपी का हिस्सा है। यह शरीर की अंदर से सफाई करता है। ये पूरी प्रक्रिया 7-8 दिनों की होती है। इसमें कुछ मिनटों के अंतराल में घी का सेवन किया जाता है। वैसे इस पद्धति को आयुर्वेदिक चिकित्सक की निगरानी में करने की सलाह दी जाती है और इस चीज का ध्यान रखना जरूरी होता है कि स्नेहन शुरू करने से पहले शरीर को घी के उचित पाचन के लिए तैयार किया जाता है। इसका मतलब है कि हमें शरीर की अग्नि (पाचन अग्नि) को मजबूत करना होता है और कुछ निश्चित दिनचर्या अपनानी होती है। जैसेः- इसे करने से पहले मसालेदार खाने व कोल्ड ड्रिंक्स के सेवन की सख्त मनाही होती है। ये ह‍िमालयन जड़ी बूटी है जो सर्दी-खांसी सम‍ेत अन्य समस्याओं का इलाज करती हैं।

चलिए आपको घी के कुछ फायदे बताते हैंः

अगर आपकी स्किन बहुत ज्यादा ड्राई है तो आप स्किन पर घी की मालिश कर सकते हैं। इससे जलन दाने और सूजन से राहत मिलती है।

बालों की इंफेक्शन, रूखापन और जड़ों को मजबूती देने के लिए स्कैल्प पर घी की मसाज की जाती है।

घी एंटी-इंफ्लेमेटरी गुणों से भरपूर होता है जो शरीर को आराम पहुंचाता है। रोजाना उचित मात्रा में घी का सेवन करने से वजन कम होता है और यह आपके दिल को भी स्वस्थ रखता है।

लैक्टोज उत्पादों के लिए घी एक स्वस्थ विकल्प है। यह अनहेल्दी कोलेस्ट्रॉल को कम करता है।

अगर आप इस थेरेपी करना चाहते हैं तो इसे शुरू करने से पहले किसी विशेषज्ञ से जरूर बात करें क्योंकि ये जरूरी होता है।

Related News