21 APRWEDNESDAY2021 8:02:38 PM
Nari

बदायूं गैंगरेप केस: महिला आयोग की सदस्य ने पीड़िता पर मढ़ा दोष, गुस्से से आग बबूला हुई एक्ट्रेस

  • Edited By Bhawna sharma,
  • Updated: 08 Jan, 2021 12:10 PM
बदायूं गैंगरेप केस: महिला आयोग की सदस्य ने पीड़िता पर मढ़ा दोष, गुस्से से आग बबूला हुई एक्ट्रेस

देश में महिलाओं के साथ बढ़ते अपराधों ने इंसानियत को शर्मसार करके रख दिया है। बीते कुछ दिनों पहले उत्तर प्रदेश के बदायूं जिले से दिल दहला देने वाली घटना सामने आई थी। जहां एक 50 साल की आंगनबाड़ी महिला कार्यकर्ता के साथ हैवानियत की सारें हदे पार की गई। इस मामले के सामने आने के बाद जहां एक तरफ पीड़ित महिला के लिए इंसाफ की मांग की जा रही है तो वहीं दूसरी तरफ राष्ट्रीय महिला आयोग की एक सदस्य चंद्रमुखी देवी ने पीड़िता पर ही सारा दोष मढ़ दिया है। 

PunjabKesari

चंद्रमुखी देवी ने पीड़िता पर घर से अकेले बाहर जाने का दोष लगाते हुए कहा कि अगर वह महिला शाम के समय नहीं गई होती या उसके साथ परिवार का कोई बच्चा होता तो ऐसी घटना शायद नहीं घटती। सोशल मीडिया पर चंद्रमुखी के इस बयान के बाद यूजर्स मे उन्हें आड़े हाथ लिया है। लोगों का कहना है कि इस तरह की सोच रखने वाली महिला आयोग की सदस्य कैसे हो सकती है।

लोगों ने की पद से हटाने की मांग

चंद्रमुखी देवी के इस बयान के बाद कई लोगों ने उन्हें माफी मांगने के लिए कहा तो वहीं कुछ लोग ने उन्हें राष्ट्रीय महिला आयोग से हटाने की मांग कर रहे हैं। 

भड़की बाॅलीवुड की हसीनाएं

सिर्फ आम लोग ही नहीं बाॅलीवुड एक्ट्रेसेस ने भी चंद्रमुखी के दिए इस बयान पर गुस्सा जाहिर किया है। उन्होंने राष्ट्रीय महिला आयोग की अध्यक्ष रेखा शर्मा से इस मामले पर सफाई मांगी है। पूजा भट्ट ने ट्वीट कर लिखा, 'आदरणीय रेखा शर्मा, क्या आप बदायूं बलात्कार मामले के संदर्भ में अपने प्रतिनिधि के इस बयान से सहमत हैं। कृपया स्पष्ट करें कि यदि आप अपने प्रतिनिधि से सहमत हैं तो सपष्ट करें की उस समय अकेले मंदिर जाने में पीड़िता गलती थी।' 

 

तापसी पन्नू

तापसी पन्नू ने भी अपना गुस्सा जाहिर करते हुए लिखा, 'अगर ऐसी सोच के लोग इस देश में मौजूद नहीं होते तो ऐसी घटन नहीं होती।' 

 

 

उर्मिला मातोंडकर

हाल ही में शिवसेना में शामिल हुई एक्ट्रेस उर्मिला मातोंडकर ने लिखा, 'ऐसी मानसिकता को भीतर से बदलने की जरूरत है। तब तक बेहतरी की कोई उम्मीद नहीं है। एक महिला इस तरह से अन्य महिला को गुनहगार कैसे कह सकती हैं। दुर्भाग्यपूर्ण बात है।' 

 

 

यह है मामला

बता दें यह घटना 6 जनवरी 2021 को उत्तर प्रदेश के बदायूं जिले में उघैती थाना इलाके के एक गांव की है। जहां एक महिला के साथ गैंगरेप कर उसकी हत्या कर दी गई। पीड़ित के पक्ष का कहना है कि पीड़िता हमेशा की तरह गांव के मंदिर में पूजा करने के लिए गई थी। तभी मंदिर के पुजारी, उसके चेले और ड्राइवर ने महिला के साथ बलात्कार किया और फिर उसकी हत्या कर दी।

Related News