23 JULTUESDAY2024 5:25:40 PM
Nari

महिलाओं को इस वजह से होता है Urine Infection! जानिए लक्षण और घरेलू इलाज

  • Edited By Charanjeet Kaur,
  • Updated: 23 Aug, 2023 01:06 PM
महिलाओं को इस वजह से होता है Urine Infection! जानिए लक्षण और घरेलू इलाज

आजकल यूरिन इंफेक्शन की शिकायत ज्यादातर लोगों को रहती है। लेकिन यूरिन इंफेक्शन पुरुषों से ज्यादा महिलाओं को होती है। टीनऐज के बाद वाली फेज से ही लड़कियों को यूरिन इंफेक्शन की समस्या से गुजरना पड़ सकता है। एक स्टडी के हिसाब से 50 प्रतिशत महिलाओं को जीवन में कभी- न- कभी यूरिनरी ट्रैक्ट इंफेक्शन होता ही है। आइए आपको बताते हैं महिलाओं में यूरिन इंफेक्शन के लक्षण, कारण और बचाव का तरीका...

PunjabKesari

क्या होता है यूरिन इंफेक्शन

यूरिन इंफेक्शन यूरिनरी कॉर्ड में होने वाले इंफेक्शन के कारण होता है, जिसे यूरिनरी ट्रैक्ट इंफेक्शन (UTI) भी कहा जाता है। मूत्राशय और इसकी नील के बैक्टीरिया से संक्रमित होने पर यू.टी. आई होता है। यह बैक्टीरिया यूरिनरी ट्रैक्ट (Urinary Tract) के जरिए शरीर में घुसकर ब्लैडर (Bladder) और किडनी  (Kidneys)को नुकसान पहुंचाते हैं। यूरिन में होने वाले इंफेक्शन का मुख्य कारण ई-कोलाई बैक्टीरिया होता है।

UTI के कारण

- शारीरिक संबंध बनाते समय germs urethra में चले जाते हैं।
-पब्लिक या गंदा टॉयलेट इस्तेमाल करने पर इन्फेक्शन हो सकता है।
-टॉयलेट वाले गंदे पानी के छींटें आप तक आ जाएं।
-Genitals को गंदे हाथों से छूना।
- जब बैक्टीरिया आपके Urethra या Vulva तक पहुंच जाए।

ये होते हैं लक्षण

- यूरिन करते समय बहुत जलन महसूस होती है।
- पेट के निचले हिस्से और कमर में असहनीय दर्द होता है।
-यूरिन बहुत ज्यादा पीला या मटमैले रंग का आना।
- यूरिन कम मात्रा में लेकिन थोड़ी- थोड़ी देर बाद आना।
- बहुत तेज प्रेशर महसूस होना लेकिन यूरिन पास करने पर कुछ ड्रॉप या बहुत कम मात्रा में यूरिन आता है।
-यूरिन इंफेक्शन के समय रोगी को थकान ज्यादा महसूस होना। महिलाएं बिना कोई मेहनत का काम किए भी हर थका- थका अनुभव करती हैं।

PunjabKesari

ऐसे करें यूरिन इन्फेक्शन से बचाव

- यूरिन रोकने की कोशिश न करें।
- खूब सारा पानी पीएं।
- शारीरिक संबंध बनाने के बाद प्राइवेट पार्ट को साफ जरूर करें।
- साफ इनर वियर पहनें।

यूटीआई से बचाव के लिए घरेलू उपाय

सेब का सिरका

यह यूरिन ट्रैक्ट इन्फेक्शन की वजह बनने वाले बैक्टीरिया से बचाव करता है। सेब के सिरके में नींबू का रस और शहद मिलाकर इस्तेमाल करें।

PunjabKesari

कैनबेरी जूस

रोजाना आधा ग्लास क्रैनबेरी जूस (Cranberry Juice) पीने से यूरिन इन्फेक्शन से राहत मिलने और बैक्टीरिया को बढ़ने से रोकने में मदद मिलती है।

गर्म पानी की सिकाई

रोजाना गर्म पानी की सिकाई से मूत्राशय का प्रेम कम होता है और इंफेक्शन से होने वाले दर्द से भी राहत मिलती है।

PunjabKesari

पानी पीएं

यूरिन इन्फेक्शन से पीड़ितव हैं तो रोजाना ज्यादा पानी पीएं। इससे इंफेक्शन से राहत मिलती है।
 

Related News