22 JANFRIDAY2021 3:27:04 PM
Nari

क्या ब्रेस्टफीडिंग करवाने वाली महिलाओं को खाना चाहिए पपीता?

  • Edited By Anjali Rajput,
  • Updated: 12 Nov, 2020 02:07 PM
क्या ब्रेस्टफीडिंग करवाने वाली महिलाओं को खाना चाहिए पपीता?

प्रेगनेंसी में महिलाओं को पपीता ना खाने की सलाह दी जाती है, खासकर पहले 8 महीने तक। दरअसल, पपीता पेट की सफाई करता है इसलिए प्रेगनेंसी में इससे गर्भपात का डर रहता है। मगर, महिलाओं के मन में सवाल रहता है कि क्या स्तनपान के दौरान वो पपीता खा सकती है या नहीं। चलिए आज हम आपको बताते हैं कि ब्रेस्टफीडिंग करवाने वाली महिलाओं को पपीता खाना चाहिए या नहीं।

क्या ब्रेस्टफीडिंग में खाना चाहिए पपीता?

एक्सपर्ट की मानें तो प्रेगनेंसी में कच्चा पपीता खाना हानिकारक होता है लेकिन प्रसव के बाद नहीं। ब्रेस्टफीडिंग करवाने वाली महिलाओं के लिए पपीता खाना बिल्कुल सुरक्षित है। इसमें ऐसे तत्व होते हैं, जो मां व शिशु के लिए फायदेमंद हो सकता है।

PunjabKesari

ब्रेस्टफीडिंग करवाते समय पपीता खाते समय मिलते हैं ये फायदे...

1. पपीता स्तनपान करवाने वाली महिलाओं के लिए उत्तम आहार है। कच्चा या पका पपीता खाने से ब्रेस्टमिल्क की गुणवत्ता बढ़ती है।
2. इसमें एंटीऑक्सीडेंट और विटामिन सी होता  है, जिससे मां के साथ शिशु की इम्यूनिटी पावर भी बेहतर होती है। 
3. गर्भावस्था में महिलाओं की स्किन डल हो जाती है। ऐसे में पपीते का सेवन खोई रंगत वापिस लाने में भी मदद कर सकता है।
4. पपीता खाने से प्रेगनेंसी के बाद आई शारीरिक कमजोरी भी दूर होती है और इससे एनर्जी मिलती है। साथ ही इससे मांसपेशिसां भी मजबूत होती है। 
5. फाइबर से भरपूर पपीता डिलीवरी के बाद पाचन क्रिया को भी सही रखता है।
6. अगर डिलीवरी के बाद आपको पीरियड्स सामान्य नहीं आ रहे तो पपीते से आपकी वो प्रॉब्लम भी दूर हो जाएगी।

PunjabKesari

स्तनपान करवाने वाली महिलाओं के लिए फायदेमंद है ये फल
एवोकाडो

एवोकाडो पोटैशियम से भरपूर होता है, जो मां की शारीरिक कमजोरी दूर करने के साथ शिशु की आंखों की रोशनी भी बढ़ाता है।

खरबूजा

इसमें विटामिन्स मैग्नीशियम, फाइबर, पोटैशियम और फोलेट जैसे तत्वों होते है, तो इम्यूनिटी बढ़ाने के साथ बॉडी को हाइड्रेट भी रखते हैं।

अंजीर

डिलीवरी के बाद महिलाओं के शरीर में पानी की कमी हो जाती है। ऐसे में आप अंजीर का सेवन कर सकती हैं। इसमें आयरन होता है, जिससे शरीर में खून की कमी नहीं होती। साथ ही इससे ब्रेस्ट मिल्क भी बढ़ता है।

Related News