02 JULSATURDAY2022 2:01:22 AM
Nari

Heritage Fashion: लग्जरी बैग्स में भी ओल्ड इज गोल्ड का बढ़ रहा है ट्रेंड

  • Edited By vasudha,
  • Updated: 18 Jun, 2022 02:42 PM
Heritage Fashion: लग्जरी बैग्स में भी ओल्ड इज गोल्ड का बढ़ रहा है ट्रेंड

कुछ चीजें ऐसी होती हैं जो हमारी परंपराओं से जुड़ी हुई होती हैं और हमें अपनी जड़ों की याद दिलाती हैं। शायद यही कारण है कि पुराना फैशन एक बार फिर वापसी कर रहा है। बदलते फैशन में आज फिर वही दौर आ रहा है जो 70, 80 के दशक में चला करता था। नई पीढ़ी को लुभाने के लिए कपड़े ही नहीं लग्जरी बैग्स में भी पुराना फैशन देखने को मिल रहा है। 

PunjabKesari

इस सीजन बैग्स पर कुछ ज्यादा ही फोकस किया जा रहा है। उदाहरण के लिए, बोटेगा वेनेटा ने हाल ही में कुछ अभिलेखीय टुकड़ों  (archival pieces) को फिर से जारी करने की  की घोषणा की है। ब्रांड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी का कहना है कि हम  Traditional पर ध्यान देने की कोशिश कर रहे हैं।  लुई वुइटन, गुच्ची और फेरागामो ने भी कुछ ऐसा करने की कोशिश की है। 

PunjabKesari

Chloe, Dior, Louis Vuitton जैसे ब्रांडों ने कई पीढ़ियों की ज़रूरतें को ध्यान में रखकर डिजाइन तैयार किए हैं और यह समझ में आता है कि ब्रांड समकालीन स्पर्श वाले क्लासिक्स के साथ युवा दर्शकों तक पहुंच रहे हैं। स्टाइलिस्ट ईशा भंसाली कहती हैं कि कई जाने- माने ब्रैंड के बेग्स में क्लासिक्स का एक अनूठा आकार है और शैली की एक विशिष्ट भावना व्यक्त करते दिखाई दे रहे हैं। 

PunjabKesari
विंटेज हैंडबैग सर्किट पर सबसे लोकप्रिय ब्रांडों में से एक गुच्ची भी शिल्प कौशल और डिजाइन के लिए जाना जाता है और यह दशकों से लोगाें की पहली पसंद बना  हुआ है। यह ब्रांड अपने इतिहास को याद रखता है और उसका सम्मान करता है। गुच्चियो गुच्ची ने एक सूटकेस क्राफ्ट के साथ फैशन की दुनिया में अपनी यात्रा शुरू की थी। गुच्ची का आधुनिकीकरण किया  गया और ब्रांड को सफलता के शिखर पर पहुंचा दिया।

PunjabKesari

1947 में बनाया गया स्ट्रॉ हैंडल वाला बैग लंबे समय से ब्रांड का प्रतीक रहा है। दरअसल कंपनी  ने बांस के हैंडल के साथ एक चमड़े के बैग का उत्पादन किया गया था, जो उस समय के लिए फैशनेबल था। 1950 के दशक में, लाल-धारीदार कंधे की पट्टियाँ एक ट्रेडमार्क के रूप में दिखाई देती थी। Dioris  ने भी नई व्याख्या पेश कर रहा है। कंपनी का मूल सैडल बैग जॉन गैलियानो की रचना थी, जो आइकॉनिक होने के साथ-साथ एस्पिरेशनल भी हैं। कभी-कभी आप नहीं जानते कि इतिहास को आइकॉनोग्राफी में कहां से लाया जाता है। 

PunjabKesari

Related News