21 APRWEDNESDAY2021 7:43:25 PM
Nari

उत्तर प्रदेश में कोरोना के नए स्ट्रेन की दस्तक, एक्सपर्ट बोले- यह ज्यादा संक्रामक है लेकिन...

  • Edited By Janvi Bithal,
  • Updated: 02 Jan, 2021 11:16 AM
उत्तर प्रदेश में कोरोना के नए स्ट्रेन की दस्तक, एक्सपर्ट बोले- यह ज्यादा संक्रामक है लेकिन...

एक तरफ जहां साल की शुरूआत में ही लोगों को वैक्सीन पर अच्छी खबर मिल गई वहीं दूसरी तरफ कोरोन का नया स्ट्रेन लगातार लोगों की चिंता बढ़ा रहा है। ब्रिटेन के बाद धीरे-धीरे इस नए स्ट्रेन ने बाकी देशों में अपने पैर पसारने शुरू कर दिए हैं। वहीं भारत में भी इस नए स्ट्रेन ने दस्तक दे दी है। 

उत्तर प्रदेश में मिले मरीज

आपको बता दें कि हाल ही में यूपी लौटे 1655 लोगों में से दो में कोरोना के नए स्ट्रेम मिला है जिसने एक बार फिर से लोगों की चिंता बढ़ा दी है। खबरों की मानें तो यह मामले मेरठ और नोएडा से हैं। उत्तर प्रदेश में इसके नए स्ट्रेन मिलने के बाद लोगों में चिंता बढ़ गई है। 

PunjabKesari

बच्ची में भी मिला था कोरोना का नया स्ट्रेन 

आपको बता दें कि इससे पहले लंदन से आई बच्ची में भी कोरोना के नए स्ट्रेन पाया गया था। दरअसल विशेषज्ञों की मानें तो कोरोना का यह नया स्ट्रेन पुराने वायरस से 70 प्रतिशत ज्यादा खतरनाक है और इसका सबसे ज्यादा खतरा युवाओं और बच्चों को हैं। 

नए स्ट्रेन को लेकर सामने आई नई स्टडी 

कोरोना का कहर अभी खत्म भी नहीं हुआ था कि इस नए स्ट्रेन ने लोगों की चिंता बढ़ा दी। एक तरफ जहां यह कहा जा रहा है कि यह वायरस  70 प्रतिशत ज्यादा खतरनाक है वहीं इस पर एक स्टडी सामने आई है। जिसमें इस बात का खुलासा हुआ है कि बेशक यह स्ट्रेन पुराने वायरस से ज्यादा खतरनाक है लेकिन यह जानलेवा नहीं है इसलिए इससे पैनिक होने वाली बात नहीं है। 

एम्स के पूर्व डायरेटर ने कही यह बात 

 कोरोना के नए स्ट्रेन पर एम्स के पूर्व डायरेटर डॉ. एम सी मिश्रा ने कहा कि यह वायरस खतरनाक नहीं है। दरअसल एक स्टडी की मानें तो दोनों स्ट्रेन के 1800-1800 मरीज लिए गए जिसमें से सिर्फ 42 मरीजों को ही अस्पताल में एडमिट करना पड़ा था। इनमें से 26 मरीज पुराने स्ट्रेन के थे और 16 मरीज नए स्ट्रेन के थे। ऐसे में उन्होंने कहा कि नए स्ट्रेन के कारण लोगों को कम एडमिट होना पड़ रहा है। 

PunjabKesari

पुराने स्ट्रेन में हुईं ज्यादा मौतें 

वहीं मौतों के आंकड़ों के बारे में बात करते हुए डॉ. मिश्रा ने कहा कि पुराने वायरस से पीड़ित मरीजों की ज्यादा मौते हुईं और नए से कम इसलिए यह स्ट्रेन भले संक्रामक ज्यादा है लेकिन यह जानलेवा नहीं है इसलिए इसके प्रति पैनिक होने वाली बात नहीं है। 

डरें नहीं बस फॉलो करें ये चीजें 

वहीं इस पर मैक्स के कोविड एक्सपर्ट डॉक्टर रोमेल टिक्कू ने कहा कि इससे लोगों को डरने की जरूरत नहीं हैं बल्कि उन्हें मास्क पहनना चाहिए, बाहर जा रहे हैं तो मास्क जरूर पहनें, हाथों को धोना और अगर आपमें कुछ लक्षण नजर आते हैं तो आप बिना देरी किए टेस्ट करवाएं। 

PunjabKesari

वैक्सीन की सफलता की ओर भारत 

आपको बता दें कि भारत में वैक्सीन को आपातकालीन इस्तेमाल के लिए मंजूरी दे दी गई है और आज 2 जनवरी को पूरे देश में इसका ड्राई रन है। ऐसे में  लोग अब इस वायरस के जाने के दिन गिनने  लगे हैं। 

Related News