20 MAYMONDAY2024 8:47:32 AM
Nari

इंजरी ने रोका इस स्पोर्ट्स खिलाड़ी का सफर पर नहीं मानी हार, UPSC क्रैक कर बनीं IPS

  • Edited By Charanjeet Kaur,
  • Updated: 18 Apr, 2024 01:08 PM
इंजरी ने रोका इस स्पोर्ट्स खिलाड़ी का सफर पर नहीं मानी हार, UPSC क्रैक कर बनीं  IPS

'लहरों से डर कर नौका पार नहीं होती, कोशिश करने वालों की हार नहीं होती! ' सोहनलाल द्विवेदी जी की कविता के ये बोल कुहू गर्ग में सटीक बैठते हैं। 25 साल कुहू का अच्छा- खासा बैडमिंटन प्लेयर के तौर पर करियर रहा है। वो कई सारी वर्ल्ड चैंपियनशिप में भी हिस्सा ले चुकी हैं। हालांकि स्पोर्ट्सवूमेन की तौर पर उनका सफल दौर एक इंजरी के चलते रुक गया। ऐसा में जहां लोग टूट जाते हैं, लेकिन कुहू न हार नहीं मानी और अपनी जिंदगी की नई पारी शुरु की। उन्होंनें IPS बनने के जुनून में यूपीएससी की तैयारी शुरु दी और सफलता भी हासिल की।

PunjabKesari
इंटरनेशनल लेवल Badminton प्लेयर रह चुकी हैं कुहू

उत्तराखंड की रहने वाली कुहू ने यूपीएससी की परीक्षा में 178वीं रैंक हासिल किया है। वो उत्तराखंड के पूर्व डीजीपी अशोक कुमार की बेटी हैं। कुहू के देहरादून के वेल्हम Badminton और ब्राइटलैंड स्कूल से अपनी शुरुआती पढ़ाई की। उसके बाद दिल्ली यूनिवर्सीटी के एसआरसीसी कॉलेज से अपनी ग्रेजुएशन पूरा किया।  वो 9 साल की थी जब उन्होंने Badminton खेलना शुरु किया। अपने टैलेंट के दम पर वो इंटरनेशनल लेवल पर बैडमिंटन खेलने लगीं और कई सारे टूर्नामेंट में भाग लिया। शटलर के तौर पर भी उनके नाम पर कई सारी उपलब्धियां है। 

PunjabKesari

इंजरी की वजह से किया यूपीएससी का रुख

 कुहू का 15-16 साल का बैडमिंटन करियर  में अचनाक रुकावट तब आई जब उन्हें नी इंजरी हुई। उनका ACL टीअर हो गया और इसके लिए उन्हें सर्जरी भी करवानी पड़ी। इस सर्जरी के बाद 1 साल तक वो खेल नहीं पाईं। इस समय कुहू ने यूपीएससी करने की ठानी।  अपने पहले अटेम्पट में ही उन्हें 178वीं रैंक मिला और IPS की केटेगरी में उसका चयन हो गया। 

PunjabKesari

कैसे की यूपीएससी की तैयारी

यूपीएससी की तैयारी के लिए कुहू ने ऑनलाइन कोचिंग से लेकर 10-15 घंटे की पढ़ाई की। वहीं पापा का मार्गदर्शन और Experience भी बहुत काम आया। आज कुहू ने आइपीएस बनकर अपने परिवार वालों और खासकर पापा का सीना गर्व से चौड़ा कर दिया है।

Related News