16 APRFRIDAY2021 5:14:11 PM
Nari

समय रहते करें गठिए की पहचान, ये होते हैं लक्षण

  • Edited By Harpreet,
  • Updated: 27 May, 2020 09:24 AM
समय रहते करें गठिए की पहचान, ये होते हैं लक्षण

गठिया एक ऐसी बिमारी है जो शरीर के ज्वाइंट्स यानि जोड़ों को प्रभावित करती है। ज्यादातर यह परेशानी बुजुर्गों में देखने को मिलती है। मगर कई बार बच्चे और युवावस्था के लोग भी इस बिमारी की चपेट में आ जाते हैं। आज के इस बदलते लाइफस्टाइल में वैसे भी कौन सी बिमारी व्यक्ति को किस उम्र में अपना शिकार बना ले, इस बारे में कोई कुछ नहीं कह सकता। तो चलिए जानते हैं गठिया रोग के कारण, इसकी पहचान कैसे करें और इससे कैसे बचा जाए।

 

गठिया होने के मुख्य कारण...

-एक्सरसाइज न करना।

-शारीरिक श्रम में कमी।

-घंटों एक ही जगह बैठे रहना।

-आर्टीफिशल मीठे के अधिक सेवन।

-धूम्रपान या फिर कोई भी नशा।

-कोई गहरी चोट, जिसका समय पर इलाज न हुआ हो।

-मोटापा।

arthritis,nari

शुरुआत में करें पहचान

कई बार व्यक्ति जोड़ों में होने वाले दर्द को इग्नोर करता रहता है। जो आगे चलकर गठिए के रूप में सामने आता है, खासतौर पर 60 के पार हो जाने पर जोड़ों में होने वाली दर्द को बिल्कुल भी इग्नोर नहीं करना चाहिए।

गठिए के शुरूआती लक्ष्ण

-जोड़ों में हर वक्त दर्द रहना।

-हल्की-हल्की सूजन।

-हाथ से चीजे गिर जाना।

-हल्की सी चीज को भी उठाते वक्त दर्द या फिर मुश्किल महसूस होना।

-धीरे-धीरे समस्या जोड़ों के मुड़ने तक पहुंच जाती है।

arthritis,nari

अगर शुरुआत में ही गठिए की पहचान कर ली जाए, तो समय रहते इसका डॉक्टरी इलाज संभव है। आप चाहें तो ऐलोपैथी, आयुर्वेद या फिर होमियोपैथी के किसी भी अच्छे डॉक्टर से संपर्क कर सकते हैं, मगर जितना हो सके जल्दी।

गठिया के पेशेंट रहें इन चीजों से दूर

अक्सर देखा गया है कि लोग किसी भी बिमारी की दवा तो लेते हैं, मगर दवा के साथ साथ उन्हें क्या चीजें खानी चाहिए और क्या नहीं इस बारे में उन्हें बहुत कम पता होता है। आइए जानते हैं गठिया पेशेंट्स को किन-किन चीजों से दूर रहना चाहिए।

खट्टे फल-छाछ

वैसे तो विटामिन सी युक्त फल शरीर के लिए लाभदायक हैं, मगर गठिया पेशेंट्स को खट्टे फल और अन्य खट्टास वाली चीजों से दूर रहना चाहिए। साथ ही ठंडी तासीर वाली चीजें जैसे कि छाछ, सोडा, लेमन जूस और कोल्ड ड्रिंक्स इत्यादि चीजों का सेवन बिल्कुल नहीं करना चाहिए।

arthritis,nari

मीठी चीजें

गठिया पेशेंट्स को मीठे पदार्थ, ड्रिंक्स से खास दूरी बनानी चाहिए। मीठे का किसी भी फार्म में अधिक सेवन आपके लिए खतरनाक और बिमारी को बढ़ाने वाला हो सकता है।

डेयरी प्रोडक्ट्स

दूध, दही, पनीर इत्यादि चीजों में हाई प्रोटीन पाया जाता है। गठिया मरीजों को जितना हो सके लाइट और हेल्दी खाना लेना होता है। ऐसे में आपको डेयरी प्रोडक्ट्स जैसे चीज, पनीर, देसी घी आदि चीजों से दूरी बनाकर रखनी होगी।

नमक और सैचुरेटिड फैट

मीठे के साथ-साथ आपको अधिक नमक और तले पदार्थों से भी दूर रहना है। स्मोकिंग और अन्य किसी भी तरह का नशा आपके लिए नुकसानदायक है। शराब का सेवन करने से आपको भले रात में आराम मिले, मगर दिन भर आपको दोगुने दर्द का सामना करना पड़ सकता है।

arthritis,nari

तो ये थी कुछ खास बातें जिनका गठिया के मरीजों को खास ध्यान रखना चाहिए।

-समय रहते गठिया जैसी बिमारी से बचने के लिए रोजाना साइकलिंग करें।

-कम से कम 45 मिनट के लिए साइकिल चलाएं। खूब सारा पानी पिएं।

-एक जगह पर 2 घंटे से ज्यादा न बैठे रहें। सिटिंग जॉब वाले ज्यादा तली हुई और मीठी वस्तुओं से दूर रहें।

-ऐसा करने से गठिए के साथ-साथ आप शूगर, हाई बी.पी., हाई कोलेस्ट्रोल और अन्य कई जानलेवा बिमारियों से बचे रहेंगे।

Related News