11 MAYTUESDAY2021 5:29:20 PM
Nari

मौत का कारण भी बन सकता है गर्दन का जिद्दी दर्द इसलिए ये गलतियां तो भूल कर भी ना करें

  • Edited By Vandana,
  • Updated: 01 Apr, 2021 10:46 AM
मौत का कारण भी बन सकता है गर्दन का जिद्दी दर्द इसलिए ये गलतियां तो भूल कर भी ना करें

गर्दन में होने वाला दर्द जिसे बहुत हल्के में लिया जाता है लेकिन एक बार यह बढ़ जाए तो खतरनाक भी साबित हो सकता है। जो लोग ज्यादातर सीटिंग जॉब करते हैं उन्हें इस रोग बुलावा जल्दी आता है क्योंकि वे लोग लंबे समय तक एक ही पॉजिशन में बैठे रहते हैं दर्द बढ़ने पर अक्सर लोग हल्की फुलकी एक्सरसाइज और योग कर लेते हैं लेकिन अगर बार-बार यह दर्द उठ रहा है तो गंभीरता से ध्यान देने की जरूरत होती हैं क्योंकि यह सर्वाइकल पेन का रुप भी ले सकता जिसमें दर्द कंधे सिर के पिछले हिस्से व रीढ़ की हड्डी तक पहुंच जाता है।

स्टडी की बात करें तो 53 में एक भारतीय महिला इससे पीड़ित है और 17 की इसी रोग के चलते मौत हो जाती है।

समस्या शुरू होने पर कुछ ऐसे संकेत देखने को मिलते हैं..

गर्दन में दर्द रहता है
अकड़न रहती है
सिरदर्द रहता और चक्कर आते है
हिलाने-जुलाने में भी परेशानी रहती है
रीढ़ की हड्डी, कंधे में दर्द रहता है।
हाथ-पैरों में सुन्नपन और झुनझुनी
कमजोरी महसूस होती है
मांसपेशियों में दिक्कत

PunjabKesari

कारणों की बात करें सबसे ज्यादा दिक्कत उन लोगों को आती जो

एक ही पॉजिशन में बैठे रहते हैं...
घंटों गर्दन टेढ़ी करके फोन पर लगे रहते हैं...
एक्सीडेंट भी एक कारण हो सकता है अगर गर्दन अधिक मुड़ जाए इससे जकड़न आ जाती है मांसपेशियां कमजोर हो जाती है।

अब जानिए बचाव कैसे किया जा सकता है...

सही पोजिशन

सबसे पहले तो अपनी पोजिशन ठीक रखें। हर वक्त एक ही स्थिति में ना बैठे रहे। गर्दन झुकाकर मोबाइल स्क्रीन ही ना देखें बल्कि आंखों के बराबर ऊंचाई में लाकर इस्तेमाल करें।

PunjabKesari

एक्सरसाइज व योग

गर्दन से जुड़ी एक्सरसाइज करें और योग का सहारा भी लें। ताड़ासन, वृक्षासन, संपूर्णासन आदि करें। मोशन एक्सरसाइज करें जिसमें सिर को क्रमवार बाईं और दाईं तरफ कंधे की ओर झुकाएं। अपनी ठुड्डी को नीचे की तरफ झुकाएं फिर ऊपर ले जाएं। सिर को क्रम वार बाईं और दाईं ओर कान की तरफ मोड़ें।

तनाव ना लें

तनाव ना लें क्योंकि सर्वाइकल पेन होने का एक कारण तनाव लेना भी है।

विटामिन डी डाइट लें

हड्डियों को मजबूत रखें और विटामिन डी और कैल्शियम खाते रहें। हल्दी वाला पानी पीएं।तिल के तेल की मालिश करें और लहसुन का सेवन भी जरूर करें।

PunjabKesari

ऊंचा तकिया यूज ना करें

ऊंचा तकिया इस्तेमाल करते हैं तो आदत बदलें। सही आकार का स्लिम तकिया या बिना तकिए के सोने की आदत डालें।

बर्फ से सिकाई

गर्दन में ज्यादा दर्द से तो बर्फ के टुकड़े से सिकाई करें। इससे आप भी आपको आराम मिलेगा।

PunjabKesari

ध्यान रखें कि इन सभी नुस्खों से अगर फर्क ना दिखें तो डाक्टरी जांच जरूर करवाएं।

Related News