27 NOVSUNDAY2022 5:12:41 AM
Nari

किराना स्टार्टअप ने  19 साल के युवा को बना दिया अरबपति, एक साल में बनाई 1,000 करोड़ की संपत्ति

  • Edited By vasudha,
  • Updated: 24 Sep, 2022 10:21 AM
किराना स्टार्टअप ने  19 साल के युवा को बना दिया अरबपति, एक साल में बनाई 1,000 करोड़ की संपत्ति

एक तरफ कोरोना काल में जहां अपना काम-काज और कारोबार खो रहे थे वहीं दूसरी तरफ  देश में स्टार्टअप कंपनियों की संख्या भी बढ़ रही थी। इन स्टार्टअप कंपनियों के चलत लाखों लोगों को रोजगार मिला है। यह सब संभव हो सका देश के युवाओं के चलते, क्योंकि अब वह आत्मनिर्भर बन गए हैं। नौकरियों की लालसा ना करते हुए अपने हुनर का इस्तेमाल कर नए-नए स्टार्टअप लेकर आ रहें हैं। यह कहना गलत नहीं होगा कि यूथ नौकरी मांगने वाले नहीं बल्कि नौकरी देने वाला बन रहा है।

PunjabKesari
 कैवल्य और आदित ने रचा इतिहास

 Zepto के सह-संस्थापक कैवल्य वोहरा और आदित पालिचा भी इस लिस्ट में शामिल हो गए हैं। यह दोनों पालिचा वेल्थ-हुरुन इंडिया रिच लिस्ट 2022 में शामिल होने वाले सबसे कम उम्र के उद्यमी बन गए हैं। कैवल्य और आदित ने साल पहले  Zepto की शुरुआत की थी, उस समय उनकी उम्र 19 साल थी। वोहरा की संपत्ति करीब 1,000 करोड़ रुपये है, जिसके चलते वह अमीर लोगों की सूची में 1,036 रैंक पर हैं, जबकि पालिचा 1,200 करोड़ की संपत्ति के साथ अमीरों की सूची. में 950वें स्थान पर हैं। 

PunjabKesari
कैवल्य के पास 1,000 करोड़ से अधिक की संपत्ति

कैवल्य वोहरा भारत के पहले टीनएजर हैं, जिनके पास 1,000 करोड़ से अधिक की संपत्ति है। वोहरा कंप्यूटर साइंस में स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी से ग्रेजुएट भी हैं। उन्हाेंने साल 2020 में आदित पलीचा के साथ जेप्टो की स्थापना की थी। एक साल में ही कंपनी के वैल्यूएशन में 50 फीसदी से अधिक का उछाल आ गया। शुरुआत में उनके उकंपनी का नाम किरानाकार्ट था, एक ऐसा मंच जिसने ऑनलाइन डिलीवरी के लिए किराने की दुकानों के साथ पार्टनर किया था।

PunjabKesari
स्टार्टअप कंपनी को मिली नई पहचान 

सबसे पहले किरानाकार्ट ने स्थानीय किराना स्टोरों के साथ हाथ मिलाया और 45 मिनट के अंदर किराने का सामान घर-घर तक पहुंचाया। इसके बाद Zepto की शुरुआत की गई जो कि 10 मिनट में किराने के सामान की डिलीवरी करवाती है। इसमें ताजे फल और सब्जियां, खाना बनाने की जरूरी चीजें, डेयरी, स्वास्थ्य और स्वच्छता के उत्पाद आदि शामिल है। देखते ही देखते उनकी कंपनी एक नए मुकाम पर पहुंच गई।

PunjabKesari
Zepto 10 मिनट में करता है डिलीवरी

इस साल मई तक, जेप्टो को 200 मिलियन डॉलर की फंडिंग प्राप्त हुई, जिससे इसका मूल्य 900 मिलियन डॉलर तक पहुंच गया। अब दोनों दोनों युवा उद्यमी हुरुन इंडिया फ्यूचर यूनिकॉर्न इंडेक्स 2022 में सबसे कम उम्र के स्टार्ट-अप संस्थापक बन चुके हैं। Zepto के 90% ऑर्डर डार्क स्टोरफ्रंट और मिनी-वेयरहाउस के जरिए डिलीवर किए जाते हैं।


 

Related News