03 MARWEDNESDAY2021 3:20:28 AM
Nari

वजन घटाना है तो पहले बढ़ाएं मेटाबॉल्जिम रेट, खाएं ये 5 तरह के बीज

  • Edited By neetu,
  • Updated: 17 Jul, 2020 03:51 PM
वजन घटाना है तो पहले बढ़ाएं मेटाबॉल्जिम रेट, खाएं ये 5 तरह के बीज

हमारे द्वारा खाया गए भोजन का एनर्जी में बदलने को मेटाबॉलिज्म या चयापचय कहते है। असल में हमारे शरीर को बहुत से काम जैसे कि खाने को पचाने, खून का सही ढंग से संचार करने, हॉर्मोनल संतुलन को बनाएं रखने के लिए शक्ति की जरूरत होती है, जो भोजन से पूरी होती है। ऐसे में हमारा मेटाबॉलिज्म जितना अच्छा होगा शरीर में उतनी ही चुस्ती व फुर्ती रहती है। इसकी कमी से थकान, कमजोरी, चक्कर, वजन बढ़ना, जोड़ों में सूजन व तनाव आदि की परेशानी से गुजरना पड़ सकता है। ऐसे में आज हम आपको ऐसे 5 बीजों के बारे में बताते हैं जिसके सेवन से आपको मेटाबॉलिज्म रेट बढ़ाने में मदद मिलेगी। 

अलसी के बीज 

अलसी के बीजों में प्रोटीन, आयरन, पोटैशियम, फोस्फोरस, कैल्शियम, फाइबर, ओमेगा-3 फैटी एसिड आदि तत्व पाए जाते हैं। ये दिखने में छोटे भूरे और सुनहरे रंग के पाएं जाते है। इसके सेवन से पेट से संबंधित परेशानियों से राहत मिलती है। यह पाचन तंत्र को मजबूत कर पेट दर्द, कब्ज, एसिडिटी आदि परेशानियों से राहत दिलाता है। इसके सेवन से गुड़ बैक्टीरिया को बढ़ने में मदद मिलती है। यह शरीर में फ्री रेडिकल्स सेल्स को खत्म कर मेटाबॉलिज्म को बढ़ाने का काम करता है। आप इसका पाउडर बना कर दूध में या सब्जी व सूप में डालकर रोटी के साथ खा सकते हैं।  

nari,PunjabKesari

चिया बीज

चिया सीड्स में प्रोटीन, फाइबर, फैट, मैंगनीज, ओमेगा -3 फैटी एसिड आदि गुण होते हैं। इसमें मौजूद एंटी-ओक्सीडेंट गुण शरीर में मौजूद फ्री रेडिकल्स को निकालने में फायदेमंद होते हैं। रोजाना इसका सेवन करने से दिल और हड्डियां मजबूत होती है। कब्ज, एसिडिटी आदि की परेशानी दूर होती है। साथ ही इसमें फाइबर अधिक मात्रा में होने से इसके सेवन से लंबे समय तक पेट भरा रहता है। ऐसे में वजन कंट्रोल में रहने के साथ मेटाबॉलिज्म को बढ़ने में मदद मिलती हैं। इसको खाने के लिए चिया के बीजों को दूध में 15 मिनट तक भिगो कर रखें। तय समय के बाद इसमें थोड़ा सा शहद या चीनी मिला कर सेवन करें। इसके अलावा इसको सलाद में डालकर भी सेवन किया जा सकता है। 

nari,PunjabKesari

सूरजमुखी के बीज

सूरजमुखी के बीजों में विटामिन ई, विटामिन बी-1, मैगनीज, मैग्नीशियम, फॉस्फोरस, फोलेट एसिड, एंटी- ऑक्सीडेंट गुण पाएं जाते हैं। शरीर को स्वस्थ बनाए रखने के लिए ये काफी फायदेमंद होते हैं। ये शरीर में बैड कोलेस्ट्रॉल को कम कर गुड कोलेस्ट्रॉल को बढ़ाता है। ऐसे में शरीर में सूजन होने की परेशानी दूर होती है। साथ ही दिल स्वस्थ होने से इससे जुड़ी बीमारियों के लगने का खतरा कई गुणा कम हो जाता है। पोषक तत्वों से भरपूर होने से हर उम्र के लोगों द्वारा इसका सेवन किया जा सकता है। इसे खाने से शरीर के मेटाबॉलिज्म रेट बढ़ने में मदद मिलती है। आप इसका सब्जियों में डालकर या सलाद के तौर पर सेवन कर सकते हैं। 

तरबूज के बीज

अक्सर लोग तरबूज को खाने समय इसके बीजों को फेंक देते हैं। मगर इसके बीजों में विटामिन, प्रोटीन, मिनरल्स, ओमेगा 6 फैटी एसिड आदि पोषक तत्व पाएं जाते हैं। ये दिल और दिमाग को स्वस्थ रखने में मदद करते है। स्मरण शक्ति बढ़ने के साथ ब्लड सर्कुलेशन बेहतर ढंग से काम करता हैं। इसका नियमित रूप से सेवन करने से मेटाबोलिज्म रेट बढ़ाता है। इसके साथ ही हाई ब्लड प्रेशर, डायबिटीज और कैंसर जैसे बीमारियों के होने का खतरा कम होता है। पाचन तंत्र मजबूत हो पेट से जुड़ी समस्याओं से छुटकारा मिलता है। 

nari,PunjabKesari

तुलसी के बीज

औषधीय गुणों से भरपूर तुलसी का सेवन करने से शरीर की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ने में मदद मिलती है। इसके बीजों में आयरन, कैल्शियम, मैग्नीशियम, एंटी-ऑक्सीडेंट, एंटी-बैक्टीरियल गुण होते हैं। इसमें फाइबर और एंटी-ऑक्‍सीडेंटस अधिक मात्रा में होने से मोटापा और ब्लड प्रेशर कम करने करने में मदद मिलती है। रोजाना तुलसी के बीजों से तैयार चाय या काढ़ा का सेवन करने से  पाचन शक्ति मजबूत होने के साथ सर्दी-जुकाम, खांसी, मौसमी बुखार से बचाव रहता है। खासतौर पर मानसून के मौसम में इसका सेवन जरूर करना चाहिए।

Related News