26 JANSUNDAY2020 4:40:50 PM
Nari

अधिक प्रोटीन बिगाड़ सकता है सेहत, पूरे दिन में सिर्फ इतनी मात्रा जरूरी

  • Edited By Anjali Rajput,
  • Updated: 14 Jan, 2020 10:20 AM
अधिक प्रोटीन बिगाड़ सकता है सेहत, पूरे दिन में सिर्फ इतनी मात्रा जरूरी

स्वस्थ रहने के लिए शरीर को कई पोषक तत्वों की जरूरत होती है, जिसमें से एक प्रोटीन भी है। कुछ लोगों को लगता है कि अधिक प्रोटीन लेने से सेहत बनती है जबकि ऐसा नहीं है। प्रोटीन लेने के साथ-साथ इसकी सही मात्रा का ध्यान रखना भी जरूरी है क्योंकि इसकी अधिक मात्रा भी आपकी सेहत के लिए सही नहीं है। जब शरीर में प्रोटीन की मात्रा कम या अधिक हो जाती है तो कई दिक्कत शुरू हो जाती है।

प्रोटीन क्यों है जरूरी

प्रोटीन का काम शरीर की टूट-फूट की मरम्‍मत करना होता है। यह शरीर में कोशिकाओं बनाने में मदद करता है साथ ही हससे टूटे हुए तन्तुओं का पुनर्निर्माण होता है। शरीर के निर्माण में यह अपनी अहम भूमिका निभाता है व पाचक रसों का निर्माण करता है। बता दें कि नाखून और बाल प्रोटीन से बने होते हैं। ऐसे में उन्हें मजबूत बनाने के लिए भी प्रोटीन जरूरी है।

PunjabKesari

हो सकती है ये समस्याएं

जहां इसका कमी कमजोर इम्यून सिस्टम, थकावट, नाखून टूटना, लाल चकत्ते पड़ जाना और बाल झड़ना जैसी कई परेशानियां की वजह बनती है। वहीं इसकी अधिक मात्रा लेने से वजन बढ़ना, किडनी की समस्याएं, डिहाइड्रेशन, हड्डियां कमजोर होना, जोड़ों में दर्द, कब्ज जैसी समस्याएं हो सकती हैं।

वर्कआउट करने वाले भी रहें सावधान

शरीर को जितनी प्रोटीन की जरूरत पूरे दिन में उतनी ही लेनी चाहिए। वर्कआउट करने वाले लोगों की प्रोटीन डाइट सामान्य व्यक्ति से अधिक होती है क्योंकि प्रोटीन को मांसपेशियों का भोजन माना जाता है। मगर इसके चक्कर में कुछ लोग बहुत ज्यादा ही प्रोटीन लेना शुरू कर देते हैं, जिससे शरीर के अंदरूनी अंगों पर इसका असर पड़ना शुरू हो जाता है।

किडनी को नुकसान

गुर्दे रक्त में प्रोटीन को शुद्ध करने का काम करती है और जब प्रोटीन की मात्रा ज्यादा हो जाती हैं तो किडनी पर दवाब ज्यादा बढ़ जाती है। किडनी को शरीर से एक्स्ट्रा नाइट्रोजन बाहर निकालने में ज्यादा मेहनत करनी पड़ती है जिससे कई बार किडनी खराब होने का खतरा भी बन जाता है।

PunjabKesari

दिल की बीमारी

इससे शरीर में सेचुरेडेड फैट और कोलेस्ट्रॉल की मात्रा बढ़ने लगती है जो बुरे कोलेस्ट्रॉल को बढ़ा कर दिल की बीमारियों और स्ट्रोक का कारण बनती है।

यूरिक एसिड बढ़ जाना

अगर उच्च प्रोटीन डाइट लेते हैं तो यूरिक एसिड बढ़ जाता है। यूरिक एसिड बढ़ जाए तो  जोड़ों में दर्द और गठिया होने का खतरा रहता है।

ये लोग करें परहेज?

दरअसल, अधिक प्रोटीन लेने से शरीर में कीटोंस की मात्रा बढ़ जाती है। कीटोंस विषैला पदार्थ होता है जो किडनी, लिवर व हड्डियों पर ज्यादा असर डालता है इसलिए किडनी व रूमेटाइड अर्थराइटिस से पीड़ित व्यक्ति को भी प्रोटीन ना लेने की सलाह दी जाती है।

PunjabKesari

प्रोटीन चार्ट

-छोटे बच्चे: प्रतिदिन 10 ग्राम 
-स्कूल जाने वाले बच्चे : प्रतिदिन 19-34 ग्राम
-टीनएजर लड़के: प्रतिदिन 50 ग्राम
-टीनएजर लड़कियां: प्रतिदिन 46 ग्राम 
-युवा पुरुष: प्रतिदिन 52 ग्राम 
-युवा महिलाएं: प्रतिदिन 46 ग्राम 
-गर्भवती महिलाएं: प्रतिदिन 71 ग्राम

हालांकि यह एक अनुमानित चार्ट है। सिर्फ आयुवर्ग ही नहीं बल्कि वजन, शारीरिक श्रम और स्वास्थ के स्तर पर भी प्रोटीन की मात्रा निर्भर करती हैं।

इन चीजों में मिलता है भरपूर प्रोटीन

दूध, दही के अलावा कद्दू के बीज, पालक, टोफू, क्विनोआ (Quinoa), मसूर दाल, उड़द की दाल, मूंग की दाल, चने, चिया सीड्स, ब्लैक आइड पीज (Cowpea), ब्रोकली और शतावरी में भरपूर प्रोटीन मिलता है।

PunjabKesari

लाइफस्टाइल से जुड़ी लेटेस्ट खबरों के लिए डाउनलोड करें NARI APP

Related News