23 JULTUESDAY2024 5:18:06 PM
Nari

अब सात मिनट में होगा कैंसर का इलाज, सैकड़ों रोगियों को नई जिंदगी दे सकता है ये इंजेक्शन!

  • Edited By vasudha,
  • Updated: 01 Sep, 2023 09:36 AM
अब सात मिनट में होगा कैंसर का इलाज, सैकड़ों रोगियों को नई जिंदगी दे सकता है ये इंजेक्शन!

ब्रिटेन की सार्वजनिक क्षेत्र की ‘राष्ट्रीय स्वास्थ्य सेवा' (एनएचएस) इंग्लैंड ने कैंसर का टीका जारी किया है जो इलाज के समय में तीन चौथाई की कमी ला सकता है। इस टीके को लगाने में महज सात मिनट लगेंगे,  यह दुनिया में पहली ऐसी स्वास्थ्य प्रणाली है जो हर साल सैकड़ों कैंसर रोगियों के लिए सात मिनट में लगने वाले इंजेक्शन को जारी कर रही है।

PunjabKesari

टीके को मिल गई है मंजूरी 

एनएचएस इंग्लैंड ने एक बयान में कहा कि  चिकित्सा और स्वास्थ्य देखभाल उत्पाद विनियामक एजेंसी एमएचआरए ने इस टीके को मंजूरी दे दी है। इसमें कहा गया है कि इस समय कैंसर रोगियों को इम्युनोथैरेपी एजेजोलिजुमाब दी जाती है जिसे देने में आधे घंटे से एक घंटे तक का समय लग सकता है। बयान के अनुसार नया कैंसर रोधी टीका कम समय में दिया जा सकता है और रोगियों को होने वाली परेशानियों को कम कर सकता है। इससे एनएचएस टीमों का समय भी बचेगा। 


इस टीके से बचेगा समय

मेडिकल रिपोर्ट्स के मुताबिक एटेजोलिजुमाब, रोश (आरओजी.एस) कंपनी जेनेंटेक द्वारा तैयार किया गया इंजेक्शन है। ये एक इम्यूनोथेरेपी दवा है जो मरीज की प्रतिरक्षा प्रणाली को कैंसर कोशिकाओं का पता लगाने और उसे नष्ट करने में सहायता करती है। स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने बताया कि वर्तमान में फेफड़े, स्तन, लिवर और मूत्राशय सहित कुछ और प्रकार के कैंसर वाले एनएचएस रोगियों को ट्रांसफ़्यूज़न द्वारा उपचार की पेशकश की गई है।  एनएचएस इंग्लैंड ने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि इंग्लैंड में हर साल एटेजोलिजुमाब का इलाज शुरू करने वाले लगभग 3,600 रोगियों में से ज्यादातर समय बचाने वाले इंजेक्शन पर स्विच करेंगे। 

PunjabKesari
भारत का ये है हाल

दुनियाभर में मौत के लिए दूसरा सबसे प्रमुख कारण कैंसर है। वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन के अनुसार आज के समय में हर वर्ष 10 मिलियन कैंसर के नए मामले सामने आते हैं। वहीं अगर भारत की बात की जाए तो  यहां हर साल  16 मिलियन कैंसर से जुड़े मामले रिपोर्ट किए जाते हैं । भारत में कैंसर के प्रकार में 6 तरह के कैंसर ज्यादा होते हैं, जिसमें फेफड़ों का कैंसर, मुंह का कैंसर, पेट का कैंसर, स्तन कैंसर, सर्वाइकल कैंसर और कोलोरेक्टल कैंसर शामिल है।

 

कैंसर क्या है?

शरीर में होने वाली असामान्य और खतरनाक स्थिति, जिसमें कोशिकाओं की असामान्य वृद्धी होती है, उसे कैंसर कहते हैं। हमारे शरीर में कोशिकाओं का लगातार विभाजन होना एक सामान्य प्रक्रिया है, जिस पर शरीर का पूरा नियंत्रण रहता है। लेकिन जब किसी विशेष अंग की कोशिकाओं पर शरीर का नियंत्रण नहीं रहता है तो वे असामान्य रूप से बढ़ने लगती है और ट्यूमर का रूप ले लेती है, इसे कैंसर कहा जाता है। ज्यादातर कैंसर ट्यूमर के रूप में होते हैं, लेकिन ब्लड कैंसर के मामले में ट्यूमर नहीं होता है।

PunjabKesari

कैंसर के लक्षण 

सभी कैंसर के लक्षण उसके प्रकार और स्थान के अनुसार अलग-अलग होते हैं। लेकन कुछ अन्य लक्षण भी हैं जो देखे जा सकते हैं। 

-शरीर का वजन अचानक कम होना या बढ़ जाना।
-ज्यादा थकान और कमजोरी महसूस होना।
-त्वचा में गांठ बनना।
-त्वचा के रंग में बदलाव होना।
-पाचन संबंधी समस्या, कब्ज या दस्त होना।
-जोड़ों और मांसपेशियों में दर्द
-घाव ठीक होने में ज्यादा समय लगना
-भूख कम लगना।


 

Related News