28 MARSATURDAY2020 9:01:45 PM
Nari

पीरियड्स में न पिएं 1 कप से ज्‍यादा चाय, हो सकती है ये समस्याएं

  • Edited By Anjali Rajput,
  • Updated: 25 Feb, 2020 11:43 AM
पीरियड्स में न पिएं 1 कप से ज्‍यादा चाय, हो सकती है ये समस्याएं

अगर आप चाय पीने की शौकीन हैं और सोंचती हैं कि पीरियड्स के दिनों में मसाला चाय पीने से आपके पेट की ऐंठन कम हो जाएगी, तो यह पूरी तरह से गलत है। हाल में किए गए कुछ शोधों के अनुसार, चाय या कॉफी में कैफीन पाया जाता है जो महिलाओं के मासिक धर्म के दौरान PMM को बढ़ा सकता है। यही नहीं चाय (26.1 mg कैफीन) पीने से आपका रक्तचाप और हृदय गति भी बढ़ जाती है जिससे चिंता और तनाव हो सकता है। ऐसे में पीरियड्स के दिनों में आप खुद को और ज्‍यादा असहज महसूस करेंगे।

 

​ब्‍लैक टी में होती है ढेरों कैफीन

ब्लैक टी जिसे हांग-चा के नाम से भी जाना जाता है, उसमें कैफीन की मात्रा सबसे अधिक होती है। 1 कप हांग-चा चाय में 40 - 60 मिलीग्राम कैफीन होता है। हॉग- चा चाय को आमतौर पर मसाला चाय और असम ब्‍लैक टी के रूप में जाना जाता है।

PunjabKesari

​ओलोंग चाय

यह चीन की पारंपरिक चाय है। इन्हीं पत्तियों से ग्रीन टी और काली चाय तैयार की जाती है। इसके एक कप चाय में लगभग 30-40 मिलीग्राम कैफीन होता है जो कि काफी ज्‍यादा है। यह चाय रंग में सुनहरे भूरे किस्‍म की होती है जिसे आली शान चाय के रूप में भी जाना जाता है।

​ज्यादा नहीं पीनी चाहिए ग्रीन टी

वजन घटाने वालों को ग्रीन टी पीना बेहद पसंद आता है लेकिन ग्रीन टी में प्रति कप 30 - 35 मिलीग्राम कैफीन होता है। इसके अलावा, जापान में माचा के नाम से जाना जाता है और चीन में लोंगजिंग वजन कम करने के लिए अच्छा है। ग्रीन टी में कैफीन के अलावा, पॉलीफेनोलिक यौगिक भी पाया जाता है। यह यौगिक बॉडी को आयरन अब्‍सॉर्ब करने से रोकता है। ग्रीन टी पीने से शरीर में आयरन का लेवल थोड़ा प्रभावित हो जाता है। हालांकि यह आपके शरीर में पहले से मौजूद आयरन को कम नहीं करता है। दिन में एक दो कप ग्रीन पीने से शरीर को किसी प्रकार का नुकसान नहीं पहुंचता।

​​PunjabKesari

हो सकती है घबराहट और अनिद्रा

लगभग हर प्रकार की चाय में टैनिक एसिड पाया जाता है, जो कि शरीर को आयरन अवशोषित करने से रोकता है। इसलिये मासिक धर्म के दिनों में बहुत ज्‍यादा पीने से न केवल शरीर में आयरन की कमी हो सकती है। बल्‍कि चाय में मौजूद कैफीन के कारण सिरदर्द, चिड़चिड़ापन, अनिद्रा, चिंता, बेचैनी, घबराहट भी हो सकती है।

​दूध वाली चाय पीने के नुकसान

चाय में एक केमिकल होता है थियोफीलाइन। अगर इसका ज्यादा सेवन किया जाए तो शरीर डीहाइड्रेट हो जाता है और कब्ज की दिक्कत हो सकती है। इसके अलावा चाय में ज्यादा दूध डालकर पीने से ब्लोटिग यानी पेट फूलने की समस्या हो जाती है। चाय में मौजूद कैफीन और दूध की वजह से पेट में गैस की समस्या हो जाती है।

PunjabKesari

लाइफस्टाइल से जुड़ी लेटेस्ट खबरों के लिए डाउनलोड करें NARI APP

Related News