14 AUGSUNDAY2022 8:54:43 AM
Nari

पति को सबक सिखाने के लिए पत्नी ने उतारा ‘मंगलसूत्र’, कोर्ट ने महिला को लगाई लताड़

  • Edited By vasudha,
  • Updated: 15 Jul, 2022 11:47 AM
पति को सबक सिखाने के लिए पत्नी ने उतारा ‘मंगलसूत्र’, कोर्ट ने महिला को लगाई लताड़

मद्रास उच्च न्यायालय ने कहाकि अलग रह रही पत्नी द्वारा ‘थाली’ (मंगलसूत्र) को हटाया जाना पति के लिए मानसिक क्रूरता समझा जायेगा। यह टिप्पणी करते हुए न्यायालय ने पति की तलाक की अर्जी को स्वीकृति दे दी।

PunjabKesari
न्यायमूर्ति वी. एम. वेलुमणि और न्यायमूर्ति एस. सौंथर की एक खंडपीठ ने इरोड के एक मेडिकल कॉलेज में प्रोफेसर के रूप में कार्यरत सी. शिवकुमार की अपील को स्वीकार करते हुए यह टिप्पणी की। उन्होंने स्थानीय परिवार न्यायालय के 15 जून, 2016 के आदेश को रद्द करने का अनुरोध किया था, जिसमें तलाक देने से इनकार कर दिया गया था।

PunjabKesari
जब महिला से पूछताछ की गई, तो उन्होंने स्वीकार किया कि अलगाव के समय उसने अपनी थाली की चेन (महिला द्वारा शादी के प्रतीक के रूप में पहनी जाने वाली पवित्र चेन) को हटा दिया था। हालांकि महिला ने स्पष्ट किया कि उसने सिर्फ चेन हटाई थी और थाली रखी थी।

PunjabKesari
महिला के वकील ने हिंदू विवाह अधिनियम की धारा सात का हवाला देते हुए कहा कि मंगलसूत्र पहनना आवश्यक नहीं है और इसलिए पत्नी द्वारा इसे हटाने से वैवाहिक संबंधों पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा। इन दलीलों को सुनने के बाद बेंच ने कहा कि मंगलसूत्र जैसी पवित्र निशानी को हटाना अलग ही मायने रखता है। जो यह बताता है कि महिला शादी को बनाए रखना नहीं चाहती थी। इसलिए दोनों का तलाक मंजूर किया जाता है।

Related News