20 APRSATURDAY2024 1:46:31 PM
Nari

तो इस कारण महिलाओं में बढ़ता है Cholestrol, इन 7 तरीकों से करें कंट्रोल

  • Edited By palak,
  • Updated: 24 Feb, 2024 02:11 PM
तो इस कारण महिलाओं में बढ़ता है Cholestrol, इन 7 तरीकों से करें कंट्रोल

गलत खान-पान और खराब लाइफस्टाइल के कारण हाई कोलेस्ट्रॉल गंभीर परेशानी का कारण बना हुआ है। शरीर में कोलेस्ट्रॉल का स्तर बढ़ने के कारण हार्ट से जुड़ी बीमारियोंऔर हाई बीपी की समस्या होने लगती है। एक्सपर्ट्स की मानें तो पुरुषों की तुलना में महिलाओं में एचडीएल कोलेस्ट्रॉल का स्तर ज्यादा होता है क्योंकि महिलाओं में हार्मोन एस्ट्रोजन कोलेस्ट्रॉल के स्तर को बढ़ावा देता है यही कारण होता है कि महिलाओं में जल्दी मोटापा भी होता है और उससे जुड़ी बीमारियां भी। खान-पान का सबसे ज्यादा असर महिलाओं पर ही होता है इसलिए पुरुणों की तुलना में महिलाओं में दिल की बीमारियां ज्यादा होती हैं। आज आपको इस आर्टिकल के जरिए कुछ ऐसे टिप्स बताते हैं जिनके जरिए आप कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कंट्रोल कर सकती हैं। आइए जानते हैं।

क्या होता है कोलेस्ट्रॉल? 

कोलेस्ट्रॉल एक तरह का फैट होता है जिसका निर्माण लिवर के द्वारा किया जाता है। ज्यादा चाइनीज फूड, जंक फूड खाने के कारण यह शरीर में ज्यादा बनने लगता है। जब शरीर में कोलेस्ट्रॉल की मात्रा ज्यादा हो जाती है तो यह नसों में जम जाता है जिसके कारण शरीर में ब्लड सर्कुलेशन भी सही से नहीं हो पाता। ऐसे में हार्ट को पंप करने में भी परेशानी आती है। 

PunjabKesari

महिलाओं में क्यों बढ़ता है कोलेस्ट्रॉल का स्तर

कई कारणों से कोलेस्ट्रॉल का स्तर शरीर में बढ़ सकता है जैसे सैचुरेटेड फैट, ट्रांस फैट, लाल मीट खाने से, फुल फैट डेयरी प्रोडक्ट्स खाने से। इसके अलावा एक्सरसाइज न करने के कारण और खराब लाइफस्टाइल भी कोलेस्ट्रॉल का स्तर शरीर में बढ़ा सकता है। कुछ जेनेटिक्स कारण भी कोलेस्ट्रॉल का स्तर शरीर में बढ़ा सकते हैं। जेनेटिक्ल कारणों से बढ़ने वाले कोलेस्ट्रॉल की स्थिति को हाइपरकोलेस्ट्रोलेमिया (Hypercholestrolemia) कहते हैं।  

ये भी पढ़ें: सावधान! High Cholesterol होने पर जीभ में दिखते हैं ये 7 लक्षण

कैसे करें कंट्रोल?

कोलेस्ट्रॉल का स्तर समझें 

शरीर में कोलेस्ट्रॉल का स्तर नियंत्रित करने के लिए पहले ये समझें कि कोलेस्ट्रॉल का स्तर कितना बढ़ा है। कोलेस्ट्रॉल को मुख्यतौर पर एलडीएल और एचडीएल के तौर पर समझा जाता है। एलडीएल धमनियों में जम जाता है जिसके कारण दिल से जुड़ी समस्याएं होने लगती हैं। वहीं एचडीएल ब्लड सर्कुलेशन से एलडीएल को फिल्टर करता है। महिलाओं में एलडीएल को कम करके कोलेस्ट्रॉल का स्तर कंट्रोल किया जा सकता है।

PunjabKesari

हेल्दी डाइट 

कोलेस्ट्रॉल का स्तर कंट्रोल करने के लिए अपनी डाइट का ध्यान रखें। डाइट में हल्दी, लहसुन, अदरक और दालचीनी जैसे सूपरफूड्स शामिल करें। यह सारी चीजें कोलेस्ट्रॉल का कम करने में मदद करती है। 

हर्ब्स 

कोलेस्ट्रॉल का स्तर कंट्रोल करने के लिए आप डाइट में कुछ हर्ब्स जैसे गुग्गुल, अर्जुन, त्रिफला जैसी एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर जड़ी बूटियां शामिल कर सकते हैं। इनमें पाए जाने वाले गुण कोलेस्ट्रॉल को धमनियों में जाने से रोकते हैं जिससे दिल स्वस्थ रहता है।  

PunjabKesari

नियमित एक्सरसाइज 

डेली रुटीन में एक्सरसाइज शामिल करने से भी कोलेस्ट्रॉल कंट्रोल में रहेगा। एक्सरसाइज से दिल मजबूत और हेल्दी बनेगा। पैदल चलना, स्विमिंग जैसी एक्सरसाइज रोज 30 मिनट के लिए करें। 

ये भी पढ़ें: क्या आपको भी है आधी रात में उठकर खाना खाने की आदत तो जान लें नुकसान

बॉडी को डिटॉक्स 

आयुर्वेद की मानें तो डिटॉक्स थेरेपी से आपके शरीर में से विषाक्त पदार्थ बाहर निकलते हैं जिससे स्वस्थ रहते हैं।  ऐसे में आप किसी एक्सपर्ट की निगरानी में डिटॉक्स थेरेपी करवा सकते हैं। इससे शरीर साफ भी होगा और पाचन मजबूत बनेगा। 

स्ट्रेस से दूर रहें 

तनाव की मदद से भी हाई कोलेस्ट्रॉल को कंट्रोल में रख सकते हैं। ज्यादा तनाव लेने के कारण हृदय संबंधी समस्याओं को जोखिम बढ़ता है। ऐसे में ध्यान, ब्रीदिंग एक्सरसाइज के जरिए आप अपने दिमाग को शांत रख सकते हैं। 

PunjabKesari

एक्सपर्ट से लें सलाह 

यदि लाइफस्टाइल में बदलाव करने के बाद भी शरीर में कोलेस्ट्रॉल का स्तर कम नहीं होता तो आप एक बार डॉक्टर की सलाह जरुर लें। डॉक्टर शरीर में बढ़ने वाले कोलेस्ट्रॉल के स्तर को समझ कर आपका इलाज कर सकते हैं। 

 

Related News