Twitter
You are hereNari

कभी पिता ने फेंका था एसिड, आज चला रही हैं 'साहस फाउंडेशन'!

कभी पिता ने फेंका था एसिड, आज चला रही हैं 'साहस फाउंडेशन'!
Views:- Sunday, January 13, 2019-5:05 PM

एसिड अटैक एक ऐसा घिनौना अपराध है जिसके जख्म तो शायद भर जाएं लेकिन इसकी पीड़ा इंसान को उम्र भर झेलनी पड़ती है। इसका शिकार ज्यादातर लड़कियां ही होती हैं। जिसकी वजह से उनकी सारी जिंदगी खराब हो जाती है क्योंकि इस घटना ले उनकी सूरत बिगड़ जाती है। आज हम मुंबई की रहने वाली अनमोल रॉड्रीग्ज के बारे में बात कर रहे हैं जिन पर उनके ही पिता ने एसिड अटैक किया था वो भी 2 महीने की उम्र में।

 

पिता ने फेंका था बेटी पर तेजाब 

जब वे अपनी मां की गोद में दूध पी रही थी तब उनके पिता ने मां और बेटी दोनों पर तेजाब फेंक दिया था। इसके पीछे की वजह थी कि अनमोल के पिता बेटी नहीं बल्कि बेटा चाहते थे। इस हादसे में उनकी मां की मौत हो गई और अनमोल बच गई लेकिन उनका चेहरा बुरी तरह से झुलस चुका था। इस हादसे के बाद अनमोल के पिता फरार हो गए।  

PunjabKesari, Anmol Rodriguez

'श्री मानव सेवा संघ' शेल्टर में हुआ पालन पोषण

अनमोल के इलाज का खर्च डॉक्टरों और नर्सों ने मिल कर किया। जब वे 5 साल की हुई तब उनके जख्म ठीक हो गए लेकिन उनकी एसिड से उनकी बाई आंख को बहुत नुकसान हुआ। इसके बाद उन्हें श्री मानव सेवा संघ शेल्टर में भेज दिया गया लेकिन उनसे बाकी के बच्चे बहुत डरते और दूरी बनाकर रखते थे। धीरे-धीरे वक्त बीतता गया और अनाथालय के लोग उन्हें समझने लगे। इस बार में अनमोल बताती है कि बाहर की दुनिया में अभी भी उनके लिए मुश्किले भरी पड़ी थी। 

PunjabKesari, Anmol Rodriguez

नहीं मानी हार 

इतनी दुख और तकलीफे सहने के बाद भी अनमोल के हौंसले बुलंद रहे और वे आगे बढ़ती रही। अपनी पढ़ाई को हथियार बनाया और फैशन के दुनिया में करियर बनाने के लिए मैदान में उतर पड़ी। इस काम की शुरुआत उन्होंने कॉलेज लाफ से कर दी, इंस्टाग्राम में उनके काफी फोलोवर्स हैं। 

PunjabKesari, Anmol Rodriguez

चला रही हैं साहस फाउंडेशन 

अनमोल एसिड अटैक सर्वाइवर के लिए साहस नाम का फाउंडेशन चला रही है। जिसका मकसद एसिड का शिकार हुई लड़कियों के इलाज में मदद करना है ताकि उन्हें बेहतर इलाज मिल सके और वे अपने करियर को आगे बढ़ा सकें। 


यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!
Edited by:

Latest News