14 AUGSUNDAY2022 8:37:12 AM
Nari

अच्छा खाना न बनाने पर पत्नी की पिटाई कर सकता है पति....45 % महिलाओं की यही है सोच

  • Edited By vasudha,
  • Updated: 14 Jul, 2022 12:12 PM
अच्छा खाना न बनाने पर पत्नी की पिटाई कर सकता है पति....45 % महिलाओं की यही है सोच

भले ही देश तरक्की की राह पर है लेकिन कुछ लोगों की पुरानी सोच अभी भी नहीं बदली है। तभी तो पत्नी को थप्पड़ मरना या उस पर हाथ उठाना सही ठहराया जा रहा है। भारतीय महिलाएं आज भी अपने पति के हाथों पिटती हैं और घरेलू हिंसा की शिकार होती हैं। हैरानी की बात तो यह है कि 45 फीसदी महिलाएं इस पिटाई को सही भी मानती हैं

PunjabKesari
एनएफएचएस की रिपोर्ट में हुआ खुलासा

शहर की महिलाएं भी पतियों द्वारा पिटायी को जायज ठहरा रही हैं।  यह बात राष्ट्रीय परिवार स्वास्थ्य सर्वेक्षण (एनएफएचएस) के एक सर्वेक्षण में सामने आयी है। 45 फीसदी महिलाओं का मानना है कि अगर पत्नी अपने सास-ससुर सहित पति के परिवार के लोगों का आदर नहीं करती है और ऐसी स्थिति में पति उसकी पिटाई करता है, तो यह सही है। 

PunjabKesari
पिटाई के बताए गए हैं कारण

सर्वेक्षण ने उन संभावित परिस्थितियों को सामने रखा जिनमें एक पति अपनी पत्नी की पिटायी करता है: यदि उसे उसके विश्वासघाती होने का संदेह है, अगर वह ससुराल वालों का अनादर करती है, अगर वह उससे बहस करती है, अगर वह उसके साथ यौन संबंध बनाने से इनकार करती है, अगर वह उसे बताये बिना बाहर जाती है, अगर वह घर या बच्चों की उपेक्षा करती है, अगर वह अच्छा खाना नहीं बनाती है।

PunjabKesari

पुरुषों से भी ली गई राय

इसी तरह 32 फीसदी महिलाओं ने कहा कि अगर पत्नी अपने घर और बच्चों का सही देखभाल नहीं करती और इस स्थिति में वह पति के हाथों पिटती है, तो यह गलत नहीं है। पुरुषों से भी इस मुद्दे पर राय ली गई।  44 प्रतिशत पुरुषों ने माना कि पत्नी की पिटाई में कुछ भी गलत नहीं है।तकरीबन 40 फीसदी शादीशुदा महिलाओं को घरेलू हिंसा का अनुभव है


बहुत कम महिलाएं लेती हैं पुलिस की मदद

NHFS के मुताबिक, ऐसी सोच रखने वाली महिलाओं की संख्या तमिलनाडु (56 फीसदी), आंध्र प्रदेश (62.5 फीसदी) और कर्नाटक में (59 फीसदी) है। सबसे अधिक महिलाओं ने घर या बच्चों की उपेक्षा और ससुराल वालों के अनादर की वजह से पिटाई को सामान्य बताया। सिर्फ 2 फीसदी महिलाएं ही इस मामले में पुलिस की सहायता लेती हैं।

PunjabKesari
22 फीसदी महिलाओं की ये है सोच

इसके साथ ही 22 फीसदी महिलाओं का यह भी मानना है कि पत्नियों को कोई अधिकार नहीं है कि वह पति से जुबान लड़ाए। इतना ही नहीं 20 फीसदी महिलाओं का तो यह भी मानना है कि यदि पति को अपनी पत्नी पर शक है तो वह हाथ उठा सकता है। पति की इजाजत के बिना घर से बाहर जाना भी गलत बताया जा रहा है। 

Related News