04 MARTHURSDAY2021 2:54:35 PM
Nari

बच्चों को सनटैन से बचाने के लिए मीरा करती हैं ये काम, हर मां जान लें स्मार्ट ट्रिक

  • Edited By neetu,
  • Updated: 22 Feb, 2021 01:00 PM
बच्चों को सनटैन से बचाने के लिए मीरा करती हैं ये काम, हर मां जान लें स्मार्ट ट्रिक

मीरा राजपूत भले ही एक्टिंग की दुनिया से दूर है। मगर वह अपने घरेलू नुस्खों व ब्यूटी केयर टिप्स को लेकर बेहद ही फेमस है। ऐसे में वे आएदिन स्किन को हैल्दी व ग्लोइंग बनाए रखने के लिए अपने इंस्टाग्राम में पोस्ट शेयर करती है। इनकी खासियत है कि वे खुद के साथ अपने बच्चों की स्किन केयर के लिए भी घरेलू चीजों को अपनाती है। बात अगर बच्चों की करें तो दिनभर ग्राउंड या खुली जगह पर खेलने से उन्हें भी सनटैन या एलर्जी की समस्या होती है। ऐसे में इससे उन्हें सुरक्षित रखने के लिए मीरा नेचुरल टोनर का इस्तेमाल करती है। 

मीरा का कहना है कि...

मीरा राजपूत का मानना है कि बच्चे के शारीरिक विकास के साथ उनकी स्किन केयर भी अच्छे से ध्यान देना चाहिए। ताकि बच्चे की स्किन को गहराई से पोषण मिल सके। साथ ही आगे चलकर उन्हें स्किन से जुड़ी कोई परेशानी नाा हो। इसलिए मीरा अपने बच्चों की स्किन केयर के लिए बाहर के प्रॉडक्ट्स की जगह घरेलू चीजें यूज करती है। वे बच्चों को टैनिंग और सनबर्न से बचाए रखने के लिए अपनी मम्मी का सालों पुराना नुस्खा अपनाती है। 

PunjabKesari

बच्चों को लगाती है नेचुरल टोनर

वे नेचुरल टोनर के तौर पर कच्चा दूध इस्तेमाल करती है। उनका मानना है कि बच्चे की नाजुक व कोमल स्किन के लिए कच्चा दूध पूरी तरह से सेव होता है। यह शिशु की मुलायम कोशिकाओं को मजबूत बनाएं रखने में मदद करता है। इसके अलावा दूध में कैल्शियम, विटामिन, प्रोटीन, लेक्टिक एसिड व एंटी-बैक्टीरियल गुण होते हैं। ऐसे में यह धूल-मिट्टी, प्रदूषण से खराब हुई स्किन को रिपेयर करते हैं। यह त्वचा पर जमा बैक्टीरिया से लड़ने की शक्ति देता है। ऐसे में बच्चे के बेहतर विकास के लिए जिस तरह दूध पीना जरूरी होता है। ठीक उसी तरह उसकी स्किन को साफ, निखरा, ग्लोइंग व सनटैन से सुरक्षित रखने के लिए इसे चेहरे पर लगाना जरूरी है। 

यूं करें कच्चा दूध यूज 

- इसके लिए एक कटोरी में कच्चे दूध के 4-5 बड़े चम्मच लें। 
- फिर कॉटन से इसे बच्चे के चेहरे, गर्दन, हाथ-पैर, अंंडरआर्म्स, बाजूओं पर लगाएं। 
- एक बार दूध सूखने पर इस प्रक्रिया को 4-5 बार दोहराई। 
- बाद में उन्हें गुनगुने पानी से नहा दें। 
- अगर चाहे तो इसे बच्चे के सिर्फ चेहरे पर लगा सकती है। इसके लिए ऊपर बताएं तरीके की तरह इसे बच्चे के चेहरे पर लगाएं। बाद में गुनगुने पानी से कॉटन के कपड़े को निचोड़ कर शिशु का चेहरा साफ करें। 

PunjabKesari

इससे सनटैन से खराब हुई स्किन रिपेयर होगी। साथ ही बच्चे की स्किन साफ व ग्लोइंग नजर आएगी। 

पूरी देखभाल के लिए मिल्क बॉथ रहेगा सही

बसंत मौसम के बाद गर्मी शुरू हो जाएगी। इस दौरान बच्चे शाम के समय भी बाहर खेलते हैं। बच्चे के बेहतर शारीरिक व मानसिक विकास के लिए अच्छी डाइट के साथ खेलना भी जरूरी है। इससे उनकी मांसपेशियों व हड्डियों में मजबूती आने के साथ आत्मविश्वास बढ़ने में मदद मिलती है। ऐसे में इन्हें बाहर मैदान में जाने से रोकना गलत रहेगा। मगर बाहर धूल-मिट्टी होने के कारण सनटैन व स्किन से जुड़ी अन्य समस्या के होने का डर रहता है। इससे बच्चे को सुरक्षित रखने के लिए आप कच्चे दूध से उन्हें नहा भी सकते हैं। इससे उनकी स्किन को गहराई से पोषण मिलेगा। सनटैन, दाग-धब्बे की समस्या दूर होकर स्किन साफ, निखरी, मुलायम व ग्लोइंग नजर आएगी। 

बच्चों की स्किन के लिए बेस्ट रहेगा सरसों तेल

कच्चे दूध के अलावा सरसों का तेल भी बच्चों की स्किन के लिए फायदेमंद होता है। यह एंटी-बैक्टीरियल, एंटी-वायरल आदि गुणों से भरपूर यह तेल स्किन को पोषित करता है। लंबे समय तक नमी बरकरार रखने के साथ बैक्टीरियों से बचाए रखेगा। ऐसे में बाहर खेलने से खराब व गंदी हुई स्किन साफ होने में मदद मिलेगी। साथ ही ब्लड सर्कुलेशन तेज होने से शारीरिक विकास बेहतर होने में मदद मिलेगी। 

PunjabKesari

ऐसे करें इस्तेमाल 

- रात को सोने से पहले सरसों के तेल से बच्चे की बॉडी मसाज करें। खासतौर पर उनके हाथ-पैरों व इसे लगाएं। 
- उसके बाद गुनगुने पानी से बच्चे को नहा दें। 

नाखून व उंगलियां भी रहेगी स्वस्थ

बच्चों को हाथ मुंह में डालने की आदत होती है। ऐसे में उंगलियों व नाखूनों पर बैक्टीरिया जमने से बीमार होने का खतरा अधिक रहता है। इससे बचने के लिए आप बच्चों के हाथ सरसों के तेल से साफ कर सकते हैं। यह उंगलियों व नाखूनों के बीच बैक्टीरिया को पनपने के रोकने में मदद करता है।

नोट- वैसे तो आपको बाजार में आसानी से सरसों तेल मिल जाएगा। मगर आप चाहे तो सरसों के बीज को चक्की में पीसवा कर शुद्ध तेल बना सकती है। 
 

Related News