22 APRTHURSDAY2021 12:07:08 PM
Nari

कोरोना की सूखी खांसी और गीली खांसी में कैसे पहचानें फर्क?

  • Edited By Anjali Rajput,
  • Updated: 25 Aug, 2020 03:32 PM
कोरोना की सूखी खांसी और गीली खांसी में कैसे पहचानें फर्क?

बुखार, सांस लेने में तकलीफ के अलावा सूखी खांसी भी कोरोना के मुख्य लक्षणों में से एक हैं। मगर, मौसम में बदलाव के कारण भी लोगों को खांसी की समस्या हो रही है लेकिन कई लोग इसे भी कोरोना का लक्षण समझ रहें हैं। कोरोना वायरस के लक्षण सर्दी या फ्लू से मिलते-जुलते जरूर है लेकिन जरूरी नहीं कि वो कोरोना ही हो। ऐसे में आपको सूखी व गीली खांसी के बीच अंतर पता होना बहुत जरूरी है। 

क्या है सूखी और गीली खांसी में फर्क?

दुनियाभर में 60% कोरोना के मामले ऐसे हैं, जिनमें व्यक्ति को सूखी खांसी थी। जबकि मौसमी बदलाव के कारण गीली खांसी की समस्या देखने को मिलती है। सूखी खांसी में कफ कम या बिल्कुल नहीं होता। साथ ही इससे गले के पिछले हिस्से में गुदगुदी महसूस होती है। जबकि गीली खांसी में गले व नाक में कफ व बलगम जमा हो जाता है।

PunjabKesari

आवाज में भी आता है फर्क

सूखी खांसी के कारण आवज तेज और खरखराहट वाली हो जाती है जबकि गीली खांसी में ऐसा नहीं होता। वहीं बच्चों और वयस्कों दोनों में सूखी खांसी, जुकाम या फ्लू ठीक होने के बाद भी कई हफ्तों तक रहती है लेकिन गीली खांसी कुछ दिनों में ही ठीक हो जाती है। वहीं गीली खांसी के साथ बहती नाक, पोस्टनेसल ड्रिप या थकान जैसे लक्षण भी दिखाई देते हैं।

सांस नली में भी होती है तकलीफ

सूखी खांसी होने से सांस नली में सूजन यी जलन होने के कारण होती है कि क्योंकि यह गले व फेफड़ों में जीवाणु के हमला करने पर होती है। जबकि गीली खांसी धूल-मिट्टी, गलत खान-पान के कारण होती है। वहीं दूषित पानी के कारण भी यह समस्या हो सकती है।

कोरोना का मुख्य लक्षण सूखी खांसी

सूखी खांसी कोरोना के प्राथमिक लक्षणों में से एक है, जो एलर्जी, साइनसाइटिस, अस्थमा, टॉन्सिलाइटिस या धूल-धुएं के कारण हो सकता है। लेकिन सिर्फ सूखी खांसी आने से भी घबराने की बात नहीं। अगर इसके साथ तेज बुखार, स्वाद या गंध ना आना, सांस लेने में तकलीफ और दस्त हो तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें।

PunjabKesari

कोरोना वायरस के लक्षणों को समझें

बुखार, थकान व सूखी खांसी कोरोना के लक्षण है लेकिन इसके साथ कुछ मरीजों में गले में खराश व दर्द, सीने में दर्द, सांस लेने में तकलीफ और डायरिया की समस्या भी देखने को मिल रही है। जबकि 60% मरीज तो ऐसे हैं, जिनमें कोरोना के लक्षण दिखाई ही नहीं दे रहे। वहीं 80% मरीजों में कोरोना के लक्षण हल्के नजर आते हैं।

अब जानिए घरेलू उपचार

अगर स्थिति ज्यादा गंभीर नहीं है तो आप कुछ घरेलू नुस्खे अपनाकर भी खांसी से छुटकारा पा सकते हैं जैसे...

. दिन में सुबह-शाम नमक वाले पानी से गरारे करें।
. शहद और अदरक को एक साथ खाने से भी राहत मिलेगी।
. सोते समय एक ऊंचे तकिए का इस्तेमाल करें।
. तुलसी, अदरक, लोंग, इलायची, दालचीनी का काढ़ा बनाकर पीएं।
. आधा चम्मच हल्‍दी पाऊडर को 1 गिलास गर्म दूध में मिलकार पीने से भी आराम मिलेगा।
. ज्यादा से ज्यादा गुनगुना पानी पीएं और मसालेदार, ऑयली व जंक फूड्स से परहेज रखें।

PunjabKesari

Related News