13 JULSATURDAY2024 10:44:45 AM
Nari

Hindi Diwas:  पेरेंट्स बच्चों को जरुर समझाएं मातृभाषा का महत्व

  • Edited By palak,
  • Updated: 14 Sep, 2022 03:48 PM
Hindi Diwas:  पेरेंट्स बच्चों को जरुर समझाएं मातृभाषा का महत्व

आज पूरे भारत में हिंदी दिवस मनाया जा रहा है। हिंदी भाषा का महत्व बताने के लिए हर साल यह दिन मनाया जाता है। आज के बदलते ट्रेंड के कारण अंग्रेजी भाषा का चलन बढ़ता जा रहा है, जिसके कारण बाकी भाषाओं की अहमियत आने वाली पीढ़ी भूलती जा रही है। बच्चों को मातृभाषा के पास रखना जरुरी है। इसलिए उन्हें हिंदी दिवस का महत्व भी पता होना चाहिए। भाषा के साथ जुड़ने से बच्चे समाज और संस्कृति से जुड़ने लगते हैं। इसके अलावा हिंदी जानने से बच्चों को देश की इतिहास की भी कई सारी बातें पता चलती हैं। पैरेंट्स बच्चों को हिंदी दिवस का महत्व समझाकर उन्हें भाषा के करीब रख सकते हैं। तो चलिए बताते हैं कि कैसे आप बच्चों में हिंदी भाषा के महत्व को उजागर कर सकते हैं....

सिखाएं भाषा की अहमियत 

किसी भी चीज की कद्र तब ही होती है जब व्यक्ति को चीज की कद्र पता हो। इसलिए यह आवश्यक है कि बच्चों को मातृभाषा की अहमियत बताई जाए। बच्चों को हिंदी दिवस का इतिहास, महत्व और उससे जुड़ी कुछ दिलचस्प बातें बताकर हिंदी का महत्व बताया जा सकता है। 

PunjabKesari

रुटीन में शामिल करें हिंदी 

बच्चे अपनी आसपास की चीजों से बहुत ही जल्दी प्रभावित होते हैं। रोजमर्रा की जिंदगी में जो चीजें बच्चे देखते हैं उसे ही अपनी आदत बना लेते हैं। ऐसे में आप उनकी रुटीन में हिंदी को शामिल कर सकते हैं। आप हिंदी भाषा में उन्हें लोरियां, कविताएं, कहानियां और मुहावरे  सुना सकते हैं। इसके अलावा आप बच्चों के साथ हिंदी में बात कर सकते हैं। इन सारी चीजों से वह भाषा की कीमत समझेंगे और उसके प्रति उनका सम्मान भी बढ़ेगा। 

बताएं इतिहास 

हिंदी दिवस का इतिहास बहुत ही खास है। लेखकों के द्वारा लिखे गए हिंद के लेख पूरे भारत में बड़े ही शौक से पड़े जाते हैं। हिंदी भाषा में कार्य करने वाले लोगों को भी पूरी दुनिया में सम्मान की नजर से देखा जाता है। आप बच्चों को ऐसी बातें जरुर बताएं। इससे उनके अंदर भी मातृभाषा को लेकर झुकाव पैदा होगा। 

PunjabKesari

तैयार करवाएं स्पीच 

आप हिंदी दिवस पर बच्चों से स्पीच तैयार करवा सकते हैं। इससे उनके अंदर आत्मविश्वास आएगा और मातृभाषा के महत्व को भी वह गहराई से समझ पाएंगे। 

PunjabKesari

Related News