16 APRFRIDAY2021 5:22:33 PM
Nari

VLCC, Shahnaz जैसी कंपनियों के पीछे महिलाओं का हाथ, घर-घर फेमस हैं इनके प्रोडक्ट

  • Edited By Janvi Bithal,
  • Updated: 06 Mar, 2021 03:04 PM
VLCC, Shahnaz जैसी कंपनियों के पीछे महिलाओं का हाथ, घर-घर फेमस हैं इनके प्रोडक्ट

आने वाली 8 मार्च को पूरे विश्व में अंतराष्ट्रीय महिला दिवस मनाया जाएगा। महिलाओं को मूल रूप से सशक्त करना और उन्हें हर काम में प्रेरित करना ही इस दिन का उद्देशय है। वैसे तो बहुत सी महिलाएं हैं जो अपने अपने क्षेत्र नाम कमा चुकी हैं लेकिन आज हम आपको उन महिलाओं से मिलवाएं जिनके प्रोडक्ट तो घर-घर में फेमस हैं तो चलिए इनके बारे में आपको बताते हैं। 

1. वंदना लूथरा - फाउंडर, VLCC

VLCC इस नाम के प्रोडक्ट आपके घर पर तो जरूर होंगे। खासकर महिलाएं इस कंपनी का कोई न कोई प्रोडक्ट तो जरूर वापरती होंगी। VLCC की इंस्टेंट ग्लो ब्लीच की बात कर लें या फिर इसके फेसमास्क की लेकिन इस बात में तो कोई शक नहीं है कि आज इस कंपनी ने न सिर्फ भारत में बल्कि विदेशों तक अपनी पहचान बना ली है। बहुत से लोगों को यह भी लगता होगा कि इस कंपनी का मालिक और संस्थापक कोई पूरूष है लेकिन जी नहीं आप यहां पर गलती कर बैठे हैं क्योंकि इस कंपनी की संस्थाप कोई और नहीं बल्कि इसकी सफलता के पीछे एक महिला का हाथ है। हम जिस महिला की बात कर रहे हैं उनका नाम है वंदना लूथरा। 

इस कंपनी को वंदना ने 1989 में शुरू किया था। वंदना भी बाकी महिलाओं की तरह हाउसवाइफ थी और जब उन्होंने यह कंपनी शुरू की तो उनकी बेटियां तब बहुत छोटी थी लेकिन धीरे-धीरे इस कंपनी ने अपना इतना नाम बना लिया कि आज इससे हजारों लोगों को रोजगार मिल रहा है। हालांकि वंदना ने इस कंपनी को महज 2 हजार रुपए से शुरू किया था लेकिन आज VLCC 16 देशों में अपना सेंटर चला रहा है। शुरूआत में वंदना को भी काफी आलोचनाओं का सामना करना पड़ा लेकिन अगर वंदना तब लोगों की बातों में आकर रूक जाती तो शायद आज उनका नाम कोई नहीं जानता होता लेकिन उन्होंने लोगों की बातों को सहा और बिना परवाह किए इस लाइन में आगे बड़ी तभी आज वह एक सफल बिजनेसुवमन हैं।

PunjabKesari

वीएलसीसी या वंदना लूथरा कर्ल और कर्व्स को वंदना लूथरा ने वेलनेस सेंटर के रूप में ग्राहकों के लिए आहार योजना और वजन नियंत्रण योजना प्रदान करने के उद्देश्य से स्थापित किया था। लेकिन आज कंपनी देश के साथ-साथ विश्व स्तर पर फेमस है। वर्तमान में, संगठन स्लिमिंग, ब्यूटी ट्रीटमेंट, लेजर, हेयर ट्रांसप्लांट जैसी सर्विस प्रदान करता है। 

इतना ही नहीं वंदना एक चैरिटी भी चलाती है जो शारीरिक रूप से विकलांग और वंचित समुदायों को छात्रवृत्ति के रूप में वित्तीय सहायता प्रदान करती है। वंदना खुशी नाम के एक NGO की प्रमुख हैं। यह 3000 से अधिक बच्चों को शिक्षा और मुफ्त भोजन प्रदान करता है, व्यावसायिक कोचिंग योजनाओं और टेलीमेडिसिन केंद्रों का संचालन करता है। वंदना मोरारजी देसाई राष्ट्रीय योग संस्थान की सदस्य भी हैं।

बता दें कि वंदना को उनके योगदान के लिए 2013 में पद्म श्री से सम्मानित किया गया है और 2015 में फॉर्च्यून इंडिया द्वारा भारत में व्यापार में 33 वीं सबसे शक्तिशाली महिला के रूप में सूचीबद्ध किया गया है।

2. शहनाज हुसैन - सीईओ, Shahnaz Herbals

शहनाज हुसैन को तो आज के समय में "हर्बल ब्यूटी केयर की रानी" कहा जाता है। आज वह एक जाने माने ब्रांड  Shahnaz Herbals की सीईओ हैं। उनके दिए हुए ब्यूटी टिप्स, हेयर केयर टिप्स तो महिलाएं जरूर सुनती हैं लेकिन शहनाज का यह सफर भी आसान नहीं था। इस मुक्काम को पाने के लिए शहनाज के कड़ी मेहनत की और फिर वह यहां तक पहुंची। 

शहनाज की शादी बहुत ही कम उम्र में हो गई थी। ऐसे में जिंदगी भर घर संभालने के ख्याल को पीछे छोड़ शहनाज ने आगे बढ़ने और कुछ करने की ठानी। एक तरफ उनकी बेटी ने जूनियर स्कूल में दाखिला लिया तो वहीं दूसरी ओर शहनाज ने खुद सीनियर स्कूल में दाखिला लिया।  

PunjabKesari

साल 1977 में शहनाज ने दिल्ली में अपने घर से ही शहनाज हुसैन हर्बल्स की शुरुआत की थी। उन्हें शुरुआत से ही लोगों का अच्छा समर्थन मिला । फिर धीरे-धीरे शहनाज ने मुहांसे, झाई, त्वचा में नमी की कमी और एलोपेसिया यानि बालों को गिरने से रोकने के लिये विभिन्न उत्पाद बाजार में पेश किये। आपको यह भी बता दें कि भारत में सौंदर्य चिकित्सा के क्षेत्र में अंतररा‌ष्ट्रीय स्तर के प्रशिक्षण संस्थानों की आवश्यकता महसूस करते हुए शहनाज ने ‘वूमैन्स वर्ल्ड इंटरनेशनल’ की स्थापना की इसके बाद उन्होंने ‘मैन्स वर्ल्ड इंटरनेशनल’ भी शुरू किया। देश से शुरू की गई यह कंपनी अब विदेशों तक अपने पैर पसार चुकी है। 

शहनाज ने सौंदर्य और कल्याण में सरकारी कौशल विकास परियोजनाओं के साथ भी समझौता किया है। उनकी कंपनी ने 40,000 से अधिक महिलाओं को प्रशिक्षित किया है। उन्हें बहुत सारे अवॉर्ड्स भी मिल चुके हैं। 

3.  फाल्गुनी नायर - फाउंडर और सीईओ, Nykaa

 Nykaa इस ब्रांड का एप तो आपके फोन में जरूर होगा। जायज सी बात है आपने  Nykaa से कईं सारे प्रोडक्ट्स भी मंगवाएं होंगे और इसकी एड भी आपने जरूर देखी होगी।  Nykaa आज न सिर्फ भारत में बल्कि विदेशों तक फेमस है और आज यह कपड़ों से लेकर फैशन का भी हर एक सामान बेचता है। लेकिन इस ब्रांड को खड़े करने की कहानी भी आपको जरूर सुन लेनी चाहिए। 

इस कंपनी को खड़ा करने वाली महिला का नाम है फाल्गुनी नायर।  Nykaa कंपनी को शुरू करने से पहले फाल्गुनी  कोटक महिंद्रा बैंक में बतौर कैपिटल इनवेस्टमेंट मैनेजिंग डायरेक्टर के रूप में काम करती थी। फाल्गुनी हमेशा इस बात पर यकीन करती है आप बड़े सपने रखो लेकिन शुरूआत हमेशा छोटे से करो। 

अब भई कुछ पाने के लिए हम कुछ खोना भी पड़ता है और ऐसा ही कुछ हुआ था फाल्गुनी के साथ। सफल बिजनेसवुमन बनने के लिए और सफलता पाने के लिए फाल्गुनी को जॉब तक छोड़नी पड़ी।  फाल्गुनी के जॉब छोड़ने के भी 2 कारण थे एक तो उनका मेकअप के प्रति प्यार और दूसरा वह सफल बिजनेसवुन बनना चाहती थी और ऑनलाइन मार्केंटिंग को भी जानना चाहती थीं। 

PunjabKesari

फाल्गुनी गुजराती परिवार से हैं और नकी मानें तो उनके जहन में खुद का बिजनेस शुरू करने का ख्याल कम उम्र में ही आ गया था ऐसा इसलिए भी क्योंकि फाल्गुनी के पिता एक व्यापारी थे। 

फाल्गुनी की जिंदगी तो अच्छी चल रही थी लेकिन कहते ना कि जिस काम को करके आपको खुशी का एहसास न हो फिर आपको वो नहीं करनी चाहिए और फाल्गुनी के साथ भी कुछ ऐसा ही था वह पैसा तो कमा रही थी लेकिन वह हमेशा बैचेन रहती थी और अपनी एक अलग पहचान बनाना चाहती थी। फाल्गुनी ने अपने सपने को पूरा करने के लिए कभी यह भी नहीं सोचा कि उनकी उम्र 50 साल है और लोग क्या कहेंगे। उन्होंने नौकरी छोड़ी और फिर बिजनेस को शुरू करने के सफर में निकल पड़ीं। फाल्गुनी के पास इतने पैसे भी नहीं थे कि वह अपना खुद का बिजनेस शुरू कर सकें लेकिन फिर भी उन्होंने जीवन में जोखिम लिया और इस काम की शुरूआत की। 

हालांकि फाल्गुनी के लिए यह आसान नहीं था इसका एक कारण यह था कि फाल्गुनी जिस क्षेत्र में आई थी वहां पहले से ही बड़ी बड़ी कंपनिया अपना पैर पसारे हुए थे। लेकिन कहते हैं न कि अगर आपके मन में कुछ करने की चाह हो तो क्या नहीं होता है। वर्तमान की बात करें तो आज Nykaa ने अपनी विदेश तक एक अलग पहचान बना ली है। 

बात अवॉर्ड्स की करें तो फाल्गुनी को बिज़नेस टुडे ने न्याका के संस्थापक फाल्गुनी नायर को बिजनेस 2017 में सबसे शक्तिशाली महिलाओं में स्थान दिया वहीं नायर ने इकोनॉमिक टाइम्स स्टार्टअप अवार्ड्स 2017 में ‘वुमन अहेड’ पुरस्कार भी जीता।

4.  सुचि मुखर्जी - फाउंडर और सीईओ, LimeRoad

आपने LimeRoad कंपनी का नाम भी सुना होगा। इसकी संस्थापक भी एक महिला है। जिनका नाम सुचि मुखर्जी है। खबरों की मानें तो सुचि  को इस कंपनी के बनाने का ख्याल तब आया जब वह maternity लीव पर थी। उन्होंने इस कंपनी की शुरूआत 2012 में मनीष सक्सेना, अंकुश मेहरा, और प्रसाद मलिक के साथ  की। 

PunjabKesari

 महिलाओं के लिए सब से विस्तृत और शानदार ऑनलाइन लाइफस्टाइल प्लेटफॉर्म है। लाइमरोड एप से आप कपड़े, एक्सेसरीज, होम फर्निशिंग प्रोडक्ट्स खरीद सकते हैं। लाइमरोड वेबपोर्टल और मोबाइल एप पर लड़कियां और महिलाएं शानदार ज्वैलरी, आकर्षक कपड़े, पर्स आदि लाइफ स्टाइल से जुड़ीं चीजें खरीद सकती हैं और दोस्तों को शेयर भी कर सकती हैं।

आज सुचि अपनी सफलता का कारण सिर्फ और सिर्फ अपने माता पिता को मानती को हैं। सूचि कहती हैं कि अगर उनके माता पिता का उन्हें साथ न मिलता तो वह आज यहीं तक नहीं होती।

Related News