27 JUNMONDAY2022 2:15:10 AM
Nari

अब नहीं पड़ेगी इंस्टिट्यूट में जाने की जरूरत, महिला ने लिखी आईलेट्स पर पहली किताब

  • Edited By shipra rana,
  • Updated: 07 Mar, 2020 04:12 PM
अब नहीं पड़ेगी इंस्टिट्यूट में जाने की जरूरत, महिला ने लिखी आईलेट्स पर पहली किताब

जैसे की आप सबको पता है कि विदेश जाने के लिए आईलेट्स का एग्जाम देना बहुत जरूरी है।विद्यार्थी न जाने कितनी फीस देकर अपना समय लगाकर आईलेट्स की परीक्षा देते है। अब ऐसे में आईलेट्स देने वाले लोगों के लिए यह अच्छी खबर है कि अब आईलेट्स सीखने के लिए उन्हें लंबे समय तक इंस्टिट्यूट में जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी l जी हां, अमृतसर की एक महिला विद्वान डॉ. रोमा ने इस पर नई खोज करते हुए आईलेट्स सीखने के लिए इसके संबंधित किताब लिख दी है जो कि भारतवर्ष में एक मिसाल है l

PunjabKesari
इस संबंध में जानकारी देते हुए इस किताब की विमोचक श्रीमती रोमा ने बताया कि उनके द्वारा लिखी गई इस किताब में पूरा ज्ञान दिया गया l इसमें सीखने वाले स्टूडेंट को अपने घर पर बैठकर ही इस किताब के माध्यम से आईलेट्स संबंधी पूरी जानकारी मिल जाएगी और वह इस प्रकार से ट्रेंड हो जाएगा कि उसे किसी इंस्टिट्यूट में जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी l
अब इससे जुड़े कुछ सवाल है जो हर विद्यार्थी लेखिका से जरूर पूछना चाहते है। 

प्रश्न :- क्या आईलेट्स के संबंधित इसमें चारों मॉड्यूलज दिए गए हैं ?

उत्तर:- बिल्कुल , पूरे नियम के अनुसार इन मेंड्यूल्स का वर्णन किया गया है l

प्रश्न:- सीखने वाले को इसमें और क्या फायदा है ?

उत्तर:- यह खर्चहीन है ! आईलेट्स सीखने के लिए प्रति व्यक्ति 10 से 15 हजार रुपए का खर्च आता है l वह भी इंस्टिट्यूट पर निर्भर करता है l इसके इलावा कई महीने तक आने जाने का खर्चा अलग होता है और समय की अधिक बर्बादी होती है l क्योंकि आदमी घर पर बैठकर ही से सब कुछ सीख लेता है l

PunjabKesari

प्रश्न :- इंस्टिट्यूट में सीखने और किताब पढ़ने में अंतर क्या है ?

उत्तर:- इंस्टिट्यूट में सिखाने से इसके ट्रेनर सिर्फ उन्हें इस बात की जानकारी देते हैं कि आने वाले पेपर में उन्हें किस प्रकार से हैंडलिंग देनी जबकि मैंने अपने अनुभव से वह सब कुछ लिख दिया है जो सिलेबस में होता है l

प्रश्न:- इंस्टिट्यूट में सीखने और किताब पढ़ने में कुछ अधिक क्या है ?

उत्तर:- यदि इंस्टिट्यूट में कुछ सीखने से स्टूडेंट को कोई शंका हो तो उसे बार-बार ट्रेनर के पास जाना पड़ेगा लेकिन किताब को किसी भी समय खोल कर इसकी पूरी जानकारी ली जा सकती है और इस किताब में बहुत सरल ही तरीके से समझाया गया है l

PunjabKesari

प्रश्न :-आपने इतनी बड़ी चुनौती पूर्ण किताब लिखी आप की शैक्षणिक योग्यता का आधार क्या है ?

उत्तर:- मुझे अपने फील्ड में लगभग 22 साल का अनुभव है l यूनिवर्सिटी मे बी.जे.एम.सी, एम. ए. व पीएचडी (अंग्रेजी) में शिक्षा प्राप्त की है l

प्रश्न:- इस किताब को लिखने में कितना समय लगा ?

उत्तर:- 1 साल से कुछ महीने अधिक समय में यह किताब लिखी गई है और इसमें दिन-रात की मेहनत शामिल है l

Related News