17 MAYTUESDAY2022 3:40:40 AM
Nari

डिलीवरी के बाद क्यों करवानी चाहिए Postpartum मसाज, जानिए इसके फायदे

  • Edited By Vandana,
  • Updated: 26 Apr, 2022 12:22 PM
डिलीवरी के बाद क्यों करवानी चाहिए Postpartum मसाज, जानिए इसके फायदे

बच्चे के जन्म के बाद महिलाओं का शरीर बहुत ही कमजोर पड़ जाता है। इसलिए महिलाएं अपने शरीर की मसाज करवाती है जिसको पोस्टपार्टम मसाज कहते हैं। इस मसाज को कराने से नई मां के शरीर को बहुत से फायदे मिलते हैं। महिलाओं का शरीर बहुत ही रिलैक्स महसूस करता है। उन्हें शारिरीक और मानसिक दोनों रुप में बहुत ही आराम मिलता है। थकान, लौ एनर्जी, स्ट्रैस जैसी परेशानियों से निपटने के लिए आप पोस्टपार्टम मसाज करवा सकती हैं। तो चलिए बताते हैं इस मसाज से होने वाले फायदों के बारे में...

क्या होती है पोस्टपार्टम मसाज 

बच्चे के जन्म के बाद महिलाओं के शरीर में बहुत से बदलाव आते हैं। जिससे महिलाओं का शरीर कमजोर पड़ने लगता है। इसलिए महिलाएं अपनी शरीर की मसाज करवाती है जिसे पोस्टपार्टम मसाज कहते हैं। इससे नई मां को शारिरीक और मानसिक तौर पर बहुत ही आराम महसूस होता है। डिलीवरी के बाद शरीर में होने वाले दर्द जैसे कमर दर्द, पेट दर्द, सिरदर्द या स्तनपान करवाने से होने वाले ब्रेस्ट के दर्द में राहत मिलती है। मांसपेशियां भी बहुत आरामदायक महसूस करती है। डिलीवरी के बाद यह मसाज महिलाओं के लिए बहुत ही फायदेमंद हो सकती है। 

PunjabKesari

कब शुरु करें मसाज

पोस्टपार्टम मसाज महिलाओं के बच्चे के जन्म के बाद करवानी चाहिए। जब आप स्वंय के अंदर कुछ अच्छा महसूस करने लगें तो आपको ये मसाज करवा लेनी चाहिए। आपकी चाहे सिजेरियन डिलीवरी हुई हो या फिर नॉर्मल आपके शरीर को रिकवर होने के लिए 6-8 हफ्ते लगते हैं। इसके बाद जब तक आपका बच्चा पूरी तरह से स्वस्थ न हो। आप मसाज न करवाएं। यदि आपकी सिजेरियन डिलीवरी हुई है तो आप मसाज करवाने के लिए बिल्कुल भी जल्दबाजी न करें। 

मसाज करवाने के फायदे 

गर्भावस्था के बाद आपके शरीर में दर्द, पीठ के निचले हिस्से, कूल्हों में दर्द, पेट में दर्द हो सकता है। मसाज करवाने से आपकी मांसपेशियों को बहुत ही आराम मिलता है।  शरीर का दर्द भी कम होती है। यदि आपको डिलीवरी के बाद सूजन है तो आप मसाज जरुर करवाएं। प्रेग्नेंसी के दौरान शरीर में खून की मात्रा 50% ज्यादा हो जाती है। मसाज से आपके शरीर में तरल पदार्थ के सुंतलन को बनाए रखने में मदद मिलती है। 

PunjabKesari

. यदि आपको बच्चे के लिए सारी रात जागना पड़ता है तो शरीर में मसाज जरुर करवाएं। इससे आपको नींद अच्छी आएगी और मसाज आपकी थकान को भी कम करने में मदद करेगीष 
. बच्चे की मालिश के बाद आप अपनी मसाज करवा सकते हैं। महिलाओं को प्रेग्नेंसी के बाद डिप्रेशन, एंग्जायटी हो सकती है। हार्मोन्स के बदलाव के कारण आपके शरीर में यह बदलाव देखने को मिलते हैं। 
. एंग्जायटी जैसी समस्या से निजात पाने के लिए आप मसाज करवा सकती हैं। इससे आपके शरीर को काफी आराम मिलेगा। 

PunjabKesari

मसाज कब न करवाएं

.  सिजेरियन डिलीवरी के बाद जब तक आपका टांका अच्छे से ठीक नहीं हो जाता मसाज न करवाएं। 
. यदि आपको त्वचा संबंधी समस्याएं  है तो भी आप मसाज न करवाएं। 
. उच्च रक्तचाप और हर्निया जैसी बीमारी में भी मसाज न करवाएं । 

Related News