16 APRFRIDAY2021 4:29:10 PM
Nari

हमेशा अच्छा नहीं होता दौड़ना, महिलाओं को हो सकती हैं ये 5 परेशानियां

  • Edited By Anjali Rajput,
  • Updated: 24 Feb, 2021 09:15 AM
हमेशा अच्छा नहीं होता दौड़ना, महिलाओं को हो सकती हैं ये 5 परेशानियां

रनिंग यानि दौड़ना अच्छे स्वास्थ्य के लिए बेहद फायदेमंद होता है। इससे शारीरिक ही नहीं बल्कि मानसिक बीमारियां भी दूर रहती है। आज के दौर में ज्यादातर औरतें भी रनिंग पसंद करती हैं लेकिन महिलाओं के लिए दौड़ना हानिकारक भी सबित हो सकता है। जी हां, रनिंग एक्सरसाइज महिलाओं की ब्रेस्ट से लेकर यूट्रस तक पर असर डालती हैं। चलिए आपको बताते हैं इससे महिलाओं को क्या-क्या नुकसान हो सकते हैं।

ब्रेस्ट का आकार हो सकता है खराब

एक्सपर्ट की मानें तो रनिंग से ब्रेस्ट का आकार बिगड़ सकता है क्योंकि औरतें दौड़ते समय काफी बल का प्रयोग करती हैं। इससे बचने के लिए फिटिंग या पैडेड पहनें।

PunjabKesari

नार्मल डिस्चार्ज

शोध के मुताबिक, रनिंग या पेट पर प्रेशर करने वाली एक्सरसाइज करते समय महिलाओं को हल्का डिस्चार्ज हो सकता है। हालांकि इससे घबराने की कोई बात नहीं। ऐेसे में रनिंग करते समय पतली लाइनर और काटन की पैंटी पहनें।

इंफेक्शन का खतरा

रनिंग के दौरान निकलने वाला पसीना रैशेज, खुजली और इंफेक्शन का कारण बन सकता है। इसके अलावा वैजाइना के आसपास भी दौड़ते समय पसीना निकलता है, जिससे जांघों में रगड़ व इंफेक्शन का खतरा बढ़ जाता है। इससे बचने के लिए दौड़ते समय कॉटन की पैंटी पहनें और एंटी-बैक्टीरियल प्रोडक्ट्स यूज करें। साथ ही रनिंग कम से कम 15 मिनट बाद स्नान जरूर करें।

PunjabKesari

यूरिनरी लीकेज

शोध के मुताबिक, जिन महिलाओं की पेल्विक फ्लोर की मांसपेशियां कमजोर होती हैं उन्हें रनिंग के दौरान यूरिन लीकेज की प्रॉब्लम हो सकती है। इसके अलावा हार्मोनल बदलाव, मोनोपॉज और हाल ही में मां बनने वाली महिलाओं के कारण गर्भाशय के साथ अंदरूनी हिस्सों में ढीलापन आ जाता है, जिससे रनिंग के दौरान बाथरूम ब्रेक की समस्या हो सकती है।

निचले हिस्से में चेफिंग

नियमित रनिंग करने वाली महिलाओं को चेफिंग या रैशेज की समस्या भी झेलनी पड़ती है। हालांकि इससे परेशान होने की जरूरत नहीं। दौड़ने से पहले एंटी-चेफिंग बाम लगा लें और काॅटन बाॅटम स्नग पहने। इससे यह समस्या नहीं होगी।

PunjabKesari

दौड़ते समय इनमें से कोई भी समस्या हो रही है तो उससे घबराने की जरूरत नहीं लेकिन अगर आपकी परेशानी लगातार बनी रहे तो डॉक्टर के पास जाना ही बेहतर होगा।

Related News