27 JUNMONDAY2022 12:59:08 AM
Nari

क्या C Section डिलीवरी से लेट हो सकते हैं Periods?

  • Edited By Anjali Rajput,
  • Updated: 01 Sep, 2021 11:48 AM
क्या C Section डिलीवरी से लेट हो सकते हैं Periods?

सी-सेक्शन या सिजेरियन सेक्शन एक ऐसी प्रक्रिया है जिसमें बच्चे की डिलीवरी सर्जरी द्वारा की जाती है। मां बनने के बाद महिलाओं की जिंदगी कई मायनों में बदल जाती। जहां महिलाओं को डिलीवरी के बाद कई परेशानियों का सामना करना पड़ता है वहीं आमतौर पर कुछ महिलाओं के मन में सवाल आता है कि क्या सी-सेक्शन डिलीवरी के बाद उनके पीरियड्स आने में अधिक समय लगेगा। चलिए आपको बताते हैं कि सी-सेक्शन का पीरियड्स पर कोई असर पड़ता है या नहीं।

क्या सी-सेक्शन से पीरियड्स हो सकते हैं लेट?

नहीं, सी-सेक्शन डिलीवरी के कारण पीरियड्स में देरी नहीं होती। हालांकि, इससे मासिक धर्म की प्रकृति जरूर प्रभावित होती है, जैसे कि हेल्थ प्रॉब्लम्स, हार्मोन्स में उतार-चढ़ाव, आराम की कमी, तनाव, वजन बढ़ना या कम होना, खानपान और स्तनपान के कारण पीरियड्स जल्दी या लेट हो सकते हैं।

PunjabKesari

सी-सेक्शन के बाद पहली माहवारी कब हो सकती है?

सिजेरियन के बाद मासिक धर्म पूरी तरह से हार्मोन्स पर निर्भर करते हैं। प्रसव के बाद, ह्यूमन क्रॉनिक गोनाडोट्रोपिन या एचसीजी, प्रोजेस्टेरोन और एस्ट्रोजन के हार्मोन का स्तर नीचे की ओर होता है। वहीं, सी-सेक्शन के बाद पीरियड्स स्तनपान पर भी निर्भर करते हैं।

. अगर आप समय पर ब्रेस्टफीडिंग करवा रही हैं तो इसका असर हॉर्मोनल लेवल पर पड़ेगा। इससे प्रोलैक्टिन का स्तर बढ़ेगा, जिससे ओव्यूलेशन में देरी होगी। ऐसे में पीरियड्स दोबारा शुरू होने में कम से कम 6 महीने लग सकते हैं। इसके अलावा, पीरियड्स अनियमित भी हो सकते हैं।

. अगर आप स्तनपान नहीं करावा रहीं तो शरीर में प्रोलैक्टिन का स्तर कम हो जाता है। इससे पीरियड्स जल्दी आ जाते हैं। हालांकि, कुछ मामलों में सिजेरियन सेक्शन डिलीवरी के 6 सप्ताह बाद पहली अवधि होती है।

PunjabKesari

सी-सेक्शन के बाद पहला पीरियड कैसा होगा?

प्रसव के लगभग 4 से 6 सप्ताह बाद योनि से कुछ खून निकलेगा, जिसे लोचिया भी कहा जाता है। इस प्रकार के डिस्चार्ज को सामान्य माना जाता है क्योंकि यह अपने आप बह जाता है, चाहे आपकी सी-सेक्शन डिलीवरी हो या नॉर्मल। याद रखें कि यह डिस्चार्ज पीरियड नहीं है। इसके अलावा, यह लंबे समय तक चलने वाला नहीं होना चाहिए और रंग में हल्का होना चाहिए।

पीरियड्स हो सकते हैं अनियमित

डिलीवरी के बाद अनियमित पीरियड्स काफी सामान्य हैं। कुछ महिलाओं का चक्र थोड़ा अधिक अनियमित होता है जबकि कई बार अवधि सामान्य 28-दिवसीय चक्र पर वापिस चली जाती है। ऐसी बहुत सी चीजें हैं जो मासिक धर्म की नियमितता को प्रभावित कर सकती हैं जैसे वजन बढ़ना या कम होना, तनाव और थायराइड की समस्या। कुछ मामलों में, अनियमित चक्र भी पेरिमेनोपॉज़ का संकेत हो सकता है। हालांकि, ज्यादातर महिलाएं अपने 40 के दशक में इस चरण में प्रवेश करती हैं।

‍कब होंगे पीरियड्स समान्य?

जब शरीर पूरी तरह से ठीक हो जाता है और हार्मोन संतुलित हो जाते हैं तो पीरियड्स गर्भावस्था से पहले की तरह सामान्य हो जाएंगे। ऐसे में अगर पीरियड्स अनियमित हैं तो घबराने की जरूरत नहीं।

PunjabKesari

सी-सेक्शन के बाद पहला पीरियड्स दर्दभरा होगा?

कुछ महिलाओं को प्रसव के बाद हल्का, कम दर्दनाक और कम अवधि का अनुभव होता है। एंडोमेट्रियोसिस वाली महिलाओं को प्रसव के बाद मासिक धर्म चक्र में सकारात्मक बदलाव महसूस होते है। दरअसल, 
प्रेगनेंसी में  प्रोजेस्टेरोन का स्तर बड़ जाता है, जो मासिक धर्म के लक्षणों को कम करने में मददगार है। यह  एस्ट्रोजन के स्तर को संतुलित रखता है, जिससे अतिरिक्त गर्भाशय कोशिकाओं का विकास होता है।

कितने दिन रहेंगे पीरियड्स

स्वास्थ्य स्थिति और हार्मोनल परिवर्तनों के आधार पर पीरियड्स सामान्य से अधिक समय तक रह सकते हैं। आमतौर पर महिलाओं को 7 दिन पीरियड्स आते हैं जबकि कई मामलों में औरतों को 12 दिन अवधि रहती है। पहली अवधि के दौरान, गहरे रंग या चमकीले लाल थक्के दिखाई दे सकते हैं। यह आमतौर पर तब होता है जब आप भारी रक्तस्राव से गुजर रहे होते हैं।

PunjabKesari

Related News