31 OCTSATURDAY2020 10:47:55 AM
Nari

फिनलैंड का अनोखा Women Rights अभियान, 16 साल की युवा लड़की ने संभाली PM सना मरीन की कुर्सी

  • Edited By Janvi Bithal,
  • Updated: 08 Oct, 2020 11:02 AM
फिनलैंड का अनोखा Women Rights अभियान, 16 साल की युवा लड़की ने संभाली PM सना मरीन की कुर्सी

सना मरीन फिनलैंड की सबसे युवा प्रधानमंत्री हैं। हाल ही में उन्होंने अपनी सत्ता एक दिन के लिए 16 वर्षीय युवा लड़की को सौंपी। दरअसल लड़कियों के अधिकारों को बढ़ावा देने के लिए एक अभियान के तहत 16 वर्ष की युवा लड़की एक दिन के लिए फिनलैंड की पीएम बनीं। दक्षिणी फिनलैंड के वास्की से एवा मुर्टो ने कहा कि उसके लिए यह दिन एक 'रोमांचक दिन' था। इतना ही नहीं 16 वर्षीय एवा ने इस दौरान न्याय के चांसलर के साथ बैठक भी की वहीं मीडिया के साथ भी मुलाकात की। आपको बता दें कि एवा जलवायु परिवर्तन और मानव अधिकारों से संबंधित मुद्दों पर एक सक्रिय प्रचारक भी है।

PunjabKesari

एवा 'गर्ल्स टेकओवर' नाम के अभियान के तहत इसका हिस्सा बनीं। जिसका मुख्य उद्देश्य तकनीकी उद्योगों में लड़कियों के डिजिटल स्किल्स और अवसरों को जागरूक करना है वहीं साथ ही महिलाओं के खिलाफ बढ़ रही ऑनलाइन उत्पीड़न की समस्या को भी उजागर करना है।

PunjabKesari

अपने रोमांचक दिन के बारे में बात करते हुए एवा ने कहा कि उसने इस तहत कानून के बारे में बहुत सी नई चीजें सीखीं। वहीं एवा ने यह भी कहा,' लड़कियों को यह महसूस करने की जरूरत है कि वे कितनी महत्वपूर्ण हैं और वे प्रौद्योगिकी क्षेत्र में लड़कों की तरह ही अच्छी हैं। मुझे लगता है कि जो युवा हैं वह अडल्टस को ज्यादा इनोवेटिव होना सीखा सकते हैं।  

PunjabKesari

एवा ने भले ही बुधवार को अपने कार्यकाल के तहत कोई नया कानून नहीं बनाया हो लेकिन प्रौद्योगिकी में महिलाओं के अधिकारों को उजागर करने के लिए वह राजनेताओं से मिली। इस बार यह चौथा साल है जब फिनलैंड ने प्लान इंटरनेशनल के गर्ल्स टेकओवर में भाग लिया है। जो दुनिया भर के देशों के किशोरों को एक दिन के लिए राजनीति और अन्य क्षेत्रों में कदम रखने की अनुमति देता है। वहीं बात अगर इस साल की करें तो इस बार फोकस था लड़कियों के अधिकारों को बढ़ावा देना और लड़कियों के लिए डिजीटल स्किल्स को बढ़ाना।

Related News