18 AUGSUNDAY2019 2:16:14 AM
Nari

प्रेग्नेंसी कंसीव नहीं होने देता यह रोग, फिर भी महिलाएं हैं अनजान

  • Edited By Anjali Rajput,
  • Updated: 24 Jul, 2019 08:00 PM
प्रेग्नेंसी कंसीव नहीं होने देता यह रोग, फिर भी महिलाएं हैं अनजान

बिना प्रोटेक्शन शारीरिक संबंध बनाने से शादीशुदा महिलाओं को कई रोग हो सकते हैं, जिसमें से गोनोरिया या प्रमेह भी एक है। यह एक ऐसी बैक्टीरियल बीमारी है, जिसके कारण ना सिर्फ प्रेग्नेंसी में दिक्कत आती है ब्लकि यह पीरियड्स में भी बाधा पैदा करता है। इतना ही नहीं, इस बीमारी के बैक्टीरिया प्रेग्नेंसी के दौरान मां से बच्चे में भी फैल सकते हैं। इसके बैक्‍टीरिया मुंह, गले, आंख, योनि तथा गुदा में बढ़ते हैं।

 

गर्भपात का बन सकता है कारण

गर्भावस्‍था के समय यदि महिलाओं को ये समस्‍याएं हो जाती है जिससे गर्भपात का खतरा बहुत बढ़ जाता है। यह संक्रमण गर्भवती महिलाओं के द्वारा गर्भ में पल रहे बच्‍चे को भी हो सकता है। इसके अलावा इससे बच्‍चे का जन्‍म समय से पहले होने की संभावना बढ़ जाती है। अगर सही समय पर इलाज ना करवाया जाए तो HIV होने का खतरा भी बढ़ जाता है। यह बीमारी आमतौर पर 2 से 10 दिन में फैलने के बाद पता चलता है।

PunjabKesari

बच्चे को भी पहुंचाता है नुकसान

-गर्भावस्‍था के दौरान गोनोरिया बीमारी होने पर पेट में पल रहे बच्‍चे के आंखों पर असर पड़ता, जिससे बच्‍चे की आंखों की रोशनी भी जा सकती है।
-इसके कारण बच्‍चे को रक्‍त और जोड़ों में गंभीर संक्रमण होने का खतरा रहता है जिससे दिमागी बुखार जैसी समस्याएं हो सकती हैं।

इन समस्याओं का भी बन सकता है कारण

-पेल्विक इंफ्लेमेटरी डिजीज, एक ऐसी स्थिति है जो फोड़े का कारण बन सकती है।
-क्रोनिक पेल्विक दर्द
-बांझपन
-अस्थानिक गर्भावस्था (Ectopic Pregnancy), जिसमें भ्रूण गर्भाशय के बाहर संलग्न होता है।

गोनोरिया रोग के कारण

-प्राइवेट पार्ट की साफ-सफाई में अनदेखी
-असुरक्षित यौन संबंध बनाना।
-एक से अधिक पार्टनर से संबंध बनाना।
-ओरल या फिर संक्रमित व्यक्ति के साथ संबंध बनाना।

PunjabKesari

चलिए अब हम आपको गोनोरिया रोग के कुछ लक्षण बताते हैं, जिसे पहचानकर आप समय रहते इलाज करवा सकती हैं।

पेट के निचले हिस्‍से में दर्द

इसके बैक्टीरिया पेल्‍विस के माध्‍यम से योनि तक पहुंच जाते हैं, जिसके कारण पेट के निचले हिस्से में तेज दर्द और प्राइवेट पार्ट जलन व खुलजी हो सकती है।

पेशाब करते वक्त जलन

पेशाब करते वक्त जलन या दर्द होना भी इस रोग का लक्षण हो सकता है। ऐसे में बेहतर होगा कि आप इस समस्या को इग्नोर करने की बजाए किसी अच्छे डॉक्टर से चेकअप करवाएं।

PunjabKesari

पीरियड्स के बीच में ब्‍लीडिंग

इसके कारण ना सिर्फ पीरियड्स में हैवी ब्लीडिंग होती है बल्कि यह पीरियड्स साइकल को भी खराब कर देता है। इसके कारण पीरियड्स समय से पहले या लेट भी हो सकते हैं।

सूजी हुई ग्रंथियां

मुंह, गले, आंख, योनि तथा गुर्दे में सूजन या गांठ दिखाई दे तो तुरंत डॉक्टर से चेकअप करवाएं क्योंकि यह भी गोनोरिया रोग का लक्षण हो सकता है।

सर्दी-जुखाम जैसे लक्षण

गोनोरिया में सर्दी-जुखाम जैसे आम लक्षण दिखाई देते हैं। इसमें आपको बुखार, मासपेशियों में दर्द, थकान या सिरदर्द हो सकता है।

PunjabKesari

व्हाइट डिस्‍चार्ज

सिर्फ कैंडिडा या यीस्‍ट इंफेक्‍शन ही नहीं बल्कि इस रोग के कारण भी व्हाइट डिस्चार्ज की समस्या होने लगती है। ऐसे में आपको इस समस्या को इग्नोर करने की बजाए डॉक्टर से चेकअप करवाना चाहिए।

गोनोरिया के बचाव 

यौन संबंध बनाते वक्त कॉन्डम का इस्तेमाल करें। मल्टिपल संबंध ना रखें। संबंध बनाने से पहले डॉक्टरी जांच करवाएं। इसके अलावा संबंध बनाने के बाद प्राइवेट पार्ट की अच्छी तरह सफाई करें।

PunjabKesari

लाइफस्टाइल से जुड़ी लेटेस्ट खबरों के लिए डाउनलोड करें NARI APP

Related News

From The Web

ad