22 SEPSUNDAY2019 5:29:56 PM
Nari

थायराइड से बचना है तो करें सूर्य नमस्कार, जानिए और भी कई फायदे

  • Edited By Anjali Rajput,
  • Updated: 03 Sep, 2019 06:13 PM
थायराइड से बचना है तो करें सूर्य नमस्कार, जानिए और भी कई फायदे

गलत खान-पान, बिजी शेड्यूल और तनाव के चलते महिलाएं किसी ना किसी परेशानी से घिरी रहती हैं। थायराइड, मोटापा, हार्मोन्स असंतुलन और एंटी-एजिंग समस्याएं महिलाओं में आम देखने को मिल रही है। ऐसे में वो सोचती हैं कि ऐसा क्या किया जाए, जिससे सारी प्रॉब्लम्स का हल भी निकल आए और ज्यादा समय व पैसे भी ना खर्च करने पड़ें। आज हम आपको आसनों के राजा कहे जाने वाले 'सूर्य नमस्कार' के बारे में बताने जा रहे हैं, जो एक नहीं बल्कि आपकी हर प्रॉब्लम का हल है।

12 तरीकों से किया जाता है सूर्य नमस्कार

सूर्य नमस्कार का अर्थ है सूरज को अर्पन या नमस्कार करना। इसके 12 आसन होते हैं, जिसमें 6 विधि के बाद फिर उन्हीं 6 विधि को उल्टे क्रम में दोहराया जाता है। इसमें सबसे पहले प्रणामासन, हस्तउत्तानासन, हस्तपादासन, अश्वसंचालासन, अधोमुखश्वानासन, अष्टांगनमस्कारासन और भुजंगासन किया जाता है। फिर अष्टांगनमस्कारासन से प्रणामासन तक आसनों को दोहराया जाता है।

PunjabKesari

क्यों फायदेमंद है सूर्यनमस्कार?

सूर्य नमस्कार का अर्थ है सूरज को अर्पन या नमस्कार करना। इस योग करते समय सूरज की किरणें सीधी शरीर पर पड़ती है। यह आसन शरीर के लगभग सभी अंगों पर अच्छा प्रभाव डालता है इसलिए यह सभी योगासनों में से सर्वश्रेष्ठ है। इसे 5 से 10 मिनट तक करना जरूरी है और आप इसे रोज 5-12 बार तक कर सकती हैं।

नोटः भले ही आप कोई और योगासन ना करें। सुबह सिर्फ 5 बार सूर्य नमस्कार कर लें। बीमारियों से बची रहेगी। चलिए अब हम आपको बताते हैं कि महिलाओं के लिए सूर्य नमस्कार करना क्यों फायदेमंद होता है...

वजन होगा कम

लगातार बढ़ता मोटापा महिलाओं के लिए समस्या बन गई है। मगर रोजाना सूर्यनमस्कार करने से शरीर में ब्लड सर्कुलेशन व मेटाबॉलिज्म तेज होता है, जिससे ना सिर्फ वजन घटाने बल्कि इसे कंट्रोल करने में मदद मिलेगी।

PunjabKesari

थायराइड से बचाव

सूर्य नमस्कार के कई आसन कुछ ग्रंथियो को उत्तेजित करते हैं, जैसे की थाइराइड ग्रंथि। यह आसन थाइराइड ग्रंथि (जो वजन पर ज्यादा असर डालता है) के हॉर्मोने के स्राव को बढ़ाकर पेट की अतिरिक्त वसा को कम करने में मदद करते हैं। साथ ही इससे आप थायराइड की समस्या भी बची रहती हैं।

स्किन रहेगी जवां

सूर्य नमस्कार करने से शरीर को प्रयाप्त मात्रा में विटामिन डी मिलता हैं, जोकि त्वचा को निखरी और बेदाग बनाता हैं। इसके अलावा इससे आप बढ़ती उम्र की समस्याएं जैसे झुर्रियां, फाइन लाइस, डार्क सर्कल्स आदि से भी बची रहती हैं। साथ ही यह आसन बालों के लिए भी फायदेमंद है।

बैलेंस में रहेंग हार्मोंन्स

ब्लड स्ट्रीम में हार्मोन बहुत अधिक या बहुत कम होने की स्थिति को 'हार्मोन असंतुलन' कहते हैं। इसके कारण वजन बढ़ना, थकावट, तनाव, पिंपल्स जैसी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। मगर सूर्य नमस्कार करने से आप अपने हार्मोन्स को बैलेंस कर सकती हैं।

PunjabKesari

शरीर रहेगा एक्टिव

रोजाना 10-15 मिनट सूर्यनमस्कार करने से शरीर में ऑक्सीजन का स्तर बढ़ता है और कार्बन-डाईऑक्साइड बाहर निकलती है। इससे शरीर को दिनभर ऊर्जा मिलती है, जिससे आप कई बीमारियों से बचे रहते हैं।

सही होंगे अनियमित पीरियड्स

अनियमित मासिक चक्र की समस्या होने पर महिलाओं को सूर्य नमस्कार के आसन करने चाहिए। इससे आपके मासिक-धर्म रेगुलर हो जाते है।

मिलता है परफेक्ट फिगर

इससे आप न सिर्फ एक्स्ट्रा कैलोरी होती है बल्कि यह पेट की मांसपेशियों को टोन्ड करने में भी मदद करता है। जिससे बैली फैट कम होता है और आपको परफेक्ट फिगर मिलता है।

तनाव करे दूर

सूर्य नमस्कार करने से नर्वस सिस्टम शांत होता है। इसके अलावा सूर्य नमस्कार से एंडोक्राइन ग्लैंड्स खासकर थॉयरायड ग्लैंड की क्रिया नॉर्मल होती है। इससे आपके मानसिक तनाव की समस्या दूर हो जाती है।

प्रेगनेंसी में फायदेमंद

गर्भावस्था के दौरान स्वस्थ रहने के लिए महिलाओं को योगा करने की सलाह दी जाती है। ऐसे में सूर्य नमस्कार आपके लिए बेस्ट ऑप्शन है क्योंकि इससे बच्चे का विकास ठीक से होता है और प्रसव के दौरान भी कोई समस्या नहीं होती।

PunjabKesari

लाइफस्टाइल से जुड़ी लेटेस्ट खबरों के लिए डाउनलोड करें NARI APP

Related News