Twitter
You are hereBeauty

क्यों होती है नाखूनों में फंगस इंफैक्शन, सर्दियों में कैसे रखें बचाव?

क्यों होती है नाखूनों में फंगस इंफैक्शन, सर्दियों में कैसे रखें बचाव?
Views:- Sunday, November 11, 2018-9:41 AM

नाखून में फंगस इंफैक्शन का मतलब है कि आपके नाखून खराब होने शुरू हो गए हैं। हाथों-पैरों के नाखूनों पर फंगस होना आम-सी बात है लेकिन ये देखने में काफी भद्दे लगते हैं। अगर समय रहते इनकी सफाई न कि जाएं तो यह दूसरे नाखूनों तक भी फैल सकते हैं। चलिए आज हम आपको इसके कारण और कुछ नेल केयर टिप्स बताते हैं, जिससे आप इस समस्या से काफी हद तक बचे रह सकते हैं।
 

क्यों होती है नेल फंगस की समस्या?
यह इंफैक्शन गंदगी, प्रदूषण, साफ सफाई ना करना, सिंथेटिक मोजे और पैरों में बहुत देर तक पसीना जमा रहने की वजह से होता है। इसके अलावा इम्यून सिस्टम कमजोर होने के कारण भी नेल फंगस की समस्या हो सकती है।

PunjabKesari

नेल फंगल इंफैक्शन के लक्षण
-नाखूनों का पीला पड़ना
-नाखूनों के आस-पास रैशेज होना
-नेल्स से सफेद पदार्थ का निकलना
-नाखूनों में दरारें पड़ना
-आस-पास का हिस्सा लाल होना
-नाखूनों में पस पड़ जाता 
-तेज दर्द होना

PunjabKesari

नेल फंगस के घरेलू इलाज
1. एप्पल साइडर विनेगर

अपने हाथों-पैरों को हल्के गर्म पानी और सिरके के घोल में डालकर कुछ देर तक रखें और फिर सादे पानी से साफ कर लें। इससे नेल फंगस खत्म हो जाएगी।

PunjabKesari

2. लहसुन
एंटी फंगल गुण होने के कारण इससे फंगस इंफैक्शन खत्म भी हो जाती है और बैक्टीरिया दोबारा पनपते भी नहीं। इसके लिए कुछ लहसुन की कलियों को मैश करके सफेद सिरका मिक्स करें। फिर नाखूनों को इसमें 10-20 मिनट के लिए भिगोएं। रोज ऐसा करने से फंगस की समस्या दूर हो जाएगी।

3. नींबू का रस
नींबू में एंटीसेप्टिक और एंटीबैक्टीरियल गुण पाए जाते हैं, जो संक्रमण को बढ़ने से रोकते हैं। नींबू का रस दिन में दो बार नाखूनों पर लगाएं और सूखने के लिए छोड़ दें। फिर सादे पानी से इसे साफ कर लें। आप चाहें तो नींबू के पानी में हाथ-पैर डुबोकर भी फंगस इंफैक्शन को दूर कर सकते हैं।

PunjabKesari

4. टी ट्री ऑयल
टी ट्री ऑयल नाखूनों के संक्रमण को ठीक करने के लिए सबसे अच्छा माना जाता है। थोड़ा सा टी ट्री ऑयल और जैतून तेल को मिक्स करके रुई की मदद से नाखूनों पर लगाएं और सूखने के लिए छोड़ दें। फिर पानी से इसे साफ कर लें। ऐसा दिन में कम से कम 2 बार करें।

5. ऑरेगैनो ऑयल
ऑरेगैनो ऑयल में एंटी-फंगल, एंटी बैक्टीरियल, एंटी इंफ्लेमेटरी और एनाल्जेसिक गुण होते हैं। इसके लिए 2 चम्मच ऑरेगैनो ऑयल, 2 चम्मच जैतून का तेल को मिक्स करें। इस मिश्रण को हफ्ते में 2-3 बार नाखूनों पर लगाएं। इससे फंगस की समस्या दूर हो जाएगी।

PunjabKesari

इन बातों का भी रखें ध्यान
- लंबे नाखून में यह समस्या आम है इसलिए नाखूनों को काटकर उन्हें हमेशा साफ रखें। ऐसा करने से न बैक्टीरिया पैदा होगें और ना हीं उसमें गंदगी फसेगी।
- गीले नाखून फंगस का घर बन जाते हैं। ऐसे में हाथ-पैर धोने के बाद उसे अच्छी तरह सूखा लें।
- बंद जूतों की बजाए ओपन चप्पल पहनें, ताकि पैरों को हवा लग सकें।
-हाथों-पैरों को गर्म पानी और नमक के घोल में डालकर रखें और फिर रगड़कर साफ कर लें। फिर पानी से धोएं और मॉइस्चराइजर अप्लाई करें।
-सर्दियों में नेल फंगस से बचने के लिए टाइट जूतें न पहनें।
-अक्सर सर्दियों में लोग सारा दिन जुराबें डालकर रखते हैं। मगर इससे फंगस इंफैक्शन का खतरा बढ़ जाता है इसलिए कुछ देर पैरों को हवा जरूर लगाएं।


यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!
फैशन, ब्यूटी या हैल्थ महिलाओं से जुड़ी हर जानकारी के लिए इंस्टाल करें NARI APP
Edited by:

Latest News