18 OCTFRIDAY2019 12:28:38 AM
Nari

पीरियड्स के दौरान एसिडिटी से रहती हैं परेशान तो करें ये काम

  • Edited By Anjali Rajput,
  • Updated: 07 Aug, 2019 12:47 PM
पीरियड्स के दौरान एसिडिटी से रहती हैं परेशान तो करें ये काम

महिलाओं को आमतौर पर 21 दिनों बाद हर महीने पीरियड्स के दर्द से गुजरना पड़ता है। इस दौरान महिलाओं को पेट दर्द के साथ शरीर में ऐंठन, उल्टी सी महसूस होना, कमर दर्द और चिड़चिड़ापन जैसी परेशानियों का सामना भी करना पड़ता है। वहीं पीरियड्स शुरू होने से पहले और उसके बाद कुछ महिलाओं को एसिडिटी यानि पेट में गैस बनने की समस्या हो जाती है लेकिन क्या आपने कभी सोचा है कि आखिर ऐसा क्यों होता है। चलिए आपको बताते हैं कि पीरियड्स के दौरान गैस क्यों बनती हैं और कैसे पाएं इससे छुटकारा।

 

क्यों बनती है पीरियड्स के दौरान गैस?

-दरअसल, पीरियड्स के शरीर में एस्ट्रोजेन और प्रोजेस्ट्रोन हार्मोन का स्तर बढ़ जाता है, जिसका असर पेट और छोटे इंटेस्टाइन्स पर पर भी पड़ता है। एस्ट्रोजेन की ज्यादा मात्रा की वजह से गैस और कब्ज की दिक्कत हो जाती है। हमारे शरीर में एक पाइपनुमा चीज होती है, जो खाने को एक जगह से दूसरी जगह पहुंचाती है। मगर इन हॉर्मोन्स के कारण पाइप में गैस फंस जाती है, जिससे चलते आपको काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है।

PunjabKesari

-वहीं पीरियड्स शुरू होने से थोड़ा पहले गर्भाशय की अंदरूनी परत में प्रोस्टाग्लैंडिन एसिड रिलीज होता है, जो हॉर्मोन जैसे ही बीहेव करता है। यह गर्भाशय की अंदरूनी परत को सिकुड़ने में मदद भी करता है, ताकी गंदा खून बाहर निकल सके। वहीं अगर इसकी मात्रा बढ़ जाए तो यह नसों तक पहुंचकर मांसपेशियों को सिकोड़ देता है, जिससे खाने की प्रक्रिया पर असर पड़ता है। इससे एसिडिटी के साथ पेट से जुड़ी अन्य समस्याओं का सामना भी करना पड़ता है।

ये भी हो सकती हैं वजहें

वैसे तो पीरियड्स के दौरान गैस बनना आम है लेकिन इसके पीछे कुछ और वजहें भी हो सकती हैं। अगर गैस इन वजहों से बन रही है तो आपको डॉक्टर को दिखाना चाहिए।

-इर्रिटेबल बाउल सिंड्रोम यानी आंतों की बीमारी
-एन्डोमीट्रीओसिस (इसमें गर्भाशय के अंदर रहने वाली एंडोमेट्रियल सेल्स उसके बाहर पनपने लगते हैं)

PunjabKesari

क्या करें?

-ढेर सारा पानी पिएं और डाइट में ज्यादा से ज्यादा तरल चीजों को शामिल करें।
-कब्ज से बचने के लिए एक्सरसाइज करिए।
-थोड़ा-थोड़ा खाएं, ताकि खाना अच्छे से पच सकें।
-कोल्ड, फास्ट-फूड्स और जंक फूड्स से परहेज करें।
-हरी पत्तेदार सब्जियां, मछली, दही, केले, पपीता का सेवन करें।
-शक्कर या रिफाइंड कार्बोहाइड्रेट लेना भी कम करें।
-8 घंटे की पूरी नींद लें। इससे आपके थकान दूर होगी और आपका शरीर जल्‍दी रिकवर करेगा।
-सौंफ का काढ़ा बनाकर पीने से भी पेट में गैस की समस्या दूर होती है।

PunjabKesari

लाइफस्टाइल से जुड़ी लेटेस्ट खबरों के लिए डाउनलोड करें NARI APP

Related News