26 MARTUESDAY2019 12:23:04 AM
Nari

भारत में 60 % लोगों को 'नस ब्लॉकेज' की समस्या, 5 चीजें खाकर करें बचाव

  • Edited By Anjali Rajput,
  • Updated: 05 Mar, 2019 12:07 PM
भारत में 60 % लोगों को 'नस ब्लॉकेज' की समस्या, 5 चीजें खाकर करें बचाव

गलत खान-पान के कारण शरीर में कोलेस्ट्रोल की मात्रा बढ़ने से रक्त कोशिकाएं बंद हो जाती है, जिसे नस ब्लाकेज कहा जाता है। रक्त धमनियों के बंद होने पर कोरोनरी धमनी रोग, मन्या धमनी रोग, परिधीय धमनी रोग, लकवा, और हार्ट अटैक जैसी समस्याएं हो सकती है। हार्ट व शरीर के अन्य हिस्सों में ब्लॉकेज खोलने के लिए सर्जरी व दवाओं का सहारा लिया जाता है जो काफी महंगा इलाज है। इसलिए बजाए आप डाइट में कुछ फूड्स को शामिल करके इस परेशानी से छुटकारा पा सकते हैं।

 

भारत के 60% लोगों को है यह समस्या

रिसर्च के अनुसार, भारत में लगभग 40-60% लोगों की धमनियां कमजोर है। वहीं 20% महिलाओं को गर्भावस्था के बाद यह परेशानी होती है। इसकी पहचान सही समय पर नहीं हो पाती, जिसका असर वैरिकाज वेंस (varicose veins) के रूप में सामने आता है। दरअसल, बुरे कोलेस्ट्रॉल की मात्रा बढ़ने से नसों में खून का प्रवाह अच्छे से नहीं होता, जिससे पैरों में सूजन व नसों के गुच्छे बनने शुरू हो जाते हैं, जो बाद में ब्लॉकेज का रूप ले लेता है।

PunjabKesari

किन लोगों को होती है ब्लाकेज की परेशानी?

यह परेशानी ज्यादातर उन लोगों को होती है, जो लगातार कई घंटों तक रोजाना एक ही पोस्चर में बैठे रहते हैं। वहीं, 30 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों में यह अधिक देखने को मिल रही है। वैरिकॉज की परेशानी पैरों की धमनियों में अधिक होती हैं क्योंकि यहां खून के प्रवाह का भार अधिक होता है।

 

नस ब्लॉकेज के लक्षण

चक्कार आना या बेहोश हो जाना
पैर की सतह की नसों में फैलाव
पैरों या शरीर में दर्द होना
तेज सिरदर्द
थकान महसूस होना
छोटी सांस आना
सीने में दर्द

PunjabKesari

आहार जो करते हैं नसों की सफाई

पुदीने का तेल

यदि आपकी नसों में बहुत दर्द होता है, तो दर्द से प्रभावित जगह पर पुदीने के तेल से मालिश करें। इससे आपको नसों के दर्द से राहत मिलेगी।

 

लहसुन

बंद धमनियों की समस्या होने पर 3 लहसुन की कली को 1 कप दूध में उबाल कर पीएं। इसके अलावा अपने आहार में लहसुन का सेवन करने से कोलेस्ट्रॉल और हार्ट स्टोक का खतरा कम हो जाता है।

PunjabKesari

अनार का जूस

रोज सुबह 1 गिलास अनार के जूस का सेवन शरीर में कोलेस्ट्रोल की मात्रा को कंट्रोल करता है। इससे आप नस ब्लॉकेज और कई गंभीर बीमारियों से बचे रहते है।

 

अश्वगंधा

100 ग्राम अश्वगंधा, 100 ग्राम सतावर, 100 ग्राम बाहीपत्र, 100 ग्राम इसबगोल और 400 ग्राम मिश्रीको मिला लें। इस मिश्रण को सुबह शां दूध के साथ लेने से नम ब्लॉकेज की समस्या दूर रहती है।

 

एवोकाडो

एवोकाडो में मौजूद मिनरल्स, विटामिन्स रक्त कोशिकाओं में कोलेस्ट्रॉल जमा नहीं होने देते। इससे नस ब्लॉकेज की समस्या से बचे रहते है।

PunjabKesari

इन चीजों से करें परहेज

नस ब्लॉकेज की समस्या होने पर आपके नमक, शक्कर, आइसक्रीम, तले हुए चीजें, प्रोसेस्ड या रिफाइंड आहार, जंक फूड्स, नॉनवेज प्रोटीन्स और शराब के सेवन नहीं करना चाहिए। इस चीजों का सेवन आपकी समस्या को और भी बढ़ा सकता है।

लाइफस्टाइल से जुड़ी लेटेस्ट खबरों के लिए डाउनलोड करें NARI APP

Related News

From The Web

ad