23 FEBSATURDAY2019 12:33:48 PM
Nari

सेहत और खूबसूरती दोनों का इलाज है Aroma Therapy, जानें करने का तरीका

  • Edited By Vandana,
  • Updated: 31 Jan, 2019 05:05 PM
सेहत और खूबसूरती दोनों का इलाज है Aroma Therapy, जानें करने का तरीका

अगर आप ऐसी थेरेपी चाहती है जिससे आप अपनी खूबसूरती और सेहत दोनों का साथ-साथ ख्याल रख पाएं तो अरोमाथैरेपी आपके लिए ही हैं। तुलसी,गुलाब और जैसमीन जैसे अन्य पौधों के ऑइल की मदद से यह थेरेपी की जाती है। इस थेरेपी से मेंटल और फिजिकल दोनों तरीके के फायदे होते हैं।

 

क्या हैं अरोमाथेरेपी

अरोमाथेरेपी में बीमारियों का इलाज तरह-तरह की खुशबूदार तेलो के साथ किया जाता है। अरोमाथेरेपी करते समय गुलाब का इत्र, तेल, परफ्यूम, अगरबत्ती का इस्तेमाल किया जाता है। इस वजह से यह शरीर के साथ-साथ हमारे मन पर भी असर डालता है। अच्छी खुशबू से दिल और दिमाग फ्रेश फील करते है। इसमें इस्तेमाल होने वाले तेल बीमार इंसान को राहत दिलाने का काम करती है। यह थेरेपी काफी आसान है और आप खुद भी कुछ बातों का ध्यान रखकर इसका इस्तेमाल कर सकते है। आइए अरोमाथेरेपी के बारे में जानते हैं कि किस तरह से यह काम करता है-

 

प्रेशर पॉइंट्स

इस थेरेपी में प्रेशर पॉइंट्स की मसाज की जाती है जिससे ये पॉइंट्स रिलैक्स होते हैं। पैरों के तलवे और हाथों की हथेली के प्रेशर पॉइंट्स को दबाने से पूरे शरीर में आराम मिलता है। इससे स्किन का रूखापन, डैंड्रफ जैसी परेशानियां भी दूर होती हैं।

 

PunjabKesari

 

ड्राइनेस और डलनेस

इस थेरेपी से आपकी स्किन ग्लो करने लगती है। इस थेरेपी के बाद स्किन में खास तरह की सॉफ्टनेस आ जाती है। स्किन केयर के लिए थेरपी में मॉइश्चराइजिंग लोशन, क्लीनजिंग क्रीम और दूध वगैरह का इस्तेमाल कर सकते हैं। चेहरे की कम हो रही नैचरल ऑइल को बनाए रखने के लिए लैंग लैंग, जरैनियम, रोज कैमोमील, बेनजोइन, जैसमीन ऑइल को मिक्स करके लगाया जाता है।
 

ठंडे या गर्म पानी की मालिश

अगर आप स्ट्रैस कम करना चाहती है तो लैवेंडर और रोजमेरी का तेल इस्तेमाल करें। थेरेपी में इस्तेमाल होने वाले तेल बीमारियों से लड़ने की क्षमता को बढ़ाते हैं।

 

हर स्किन के लिए अलग तेल

इस थेरेपी की खासियत है कि थेरेपी शुरु करने से पहले आपके स्किन के हिसाब से तेल का इस्तेमाल किया जाता है। मसलन, सेंसिटिव स्किन के लिए कैमोमील, रोज, नेरोली यूज होता है। नॉर्मल स्किन के लिए सैंडलवुड, लवेंडर, नेरोली या रोज ऑइल ठीक है। ये ऑइल अकेले या फिर दूसरों के साथ मिलाकर भी यूज किए जा सकते हैं।


PunjabKesari

Related News

From The Web

ad