21 OCTMONDAY2019 5:55:31 PM
Nari

औरतों के ठुड्डी पर क्यों आते हैं अनचाहे बाल? जान लीजिए इसका पक्का इलाज

  • Edited By Anjali Rajput,
  • Updated: 20 Apr, 2019 04:03 PM
औरतों के ठुड्डी पर क्यों आते हैं अनचाहे बाल? जान लीजिए इसका पक्का इलाज

चेहरे, ठोड़ी, अंडरआर्म्स और अन्य हिस्सों में अनचाहे बाल महिलाओं की एक आम समस्या है। मगर जब महिलाओं के चेहरे व शरीर के अन्य हिस्सों पर पुरूषों की तरह दाढ़ी-मूछें आने लगे तो यह गंभीर बीमारी का संकेत हो सकता है। जी हां, हिर्सुटिज़्म (अतिरोमता) नामक बीमारी के चलते महिलाओं के चेहरे व शरीर पर पुरूषों की तरह बाल आने लगते हैं।

 

क्या है हिर्सुटिज़्म?

हिर्सुटिज़्म महिलाओं में अनचाहे, पुरुष-पैटर्न वाले बाल विकास की स्थिति को कहते है। इसमें शरीर की उन जगहों पर बाल होते हैं जहां पर आमतौर पुरुष के बाल बढ़ते हैं जैसे छाती, ठुड्डी, चेहरा और पीठ।

PunjabKesari

हिर्सुटिज़्म के कारण

शरीर में हार्मोन्स बदलाव या किसी एंड्रोजन हार्मोन (मेल हार्मोन) का स्तर बढ़ने के कारण महिलाओं में यह समस्या देखने को मिलती है। इसके अलावा इस बीमारी के कुछ और कारण भी हो सकते हैं, जिसमें रो‍मछिद्रों की संवेदनशीलता भी एक है। जी हां, बालों के भी रोमछिद्र होते हैं, जो एंड्रोजन हार्मोन के बढ़ने से खुल जाते हैं और महिलाओं को इस समस्या का सामना करना पड़ता है।

अनुवांशिक कारण

जी हां, हिर्सुटिज़्म की बीमारी फैमिली हिस्ट्री के कारण भी हो सकती है। अगर परिवार में पहले ही किसी को आगे यह बीमारी है तो उनसे यह बीमारी आगे भी हो सकती है।

PunjabKesari

दवाओं के कारण

दरअसल, कुछ दवाइयां ऐसी होती हैं, जिनका सेवन शरीर में एंड्रोजन हार्मोन का स्तर बढ़ा देता है। वहीं कई बार दवाइयों से हार्मोन्स का बैलेंस बिगड़ जाता है, जोकि इस बीमारी का कारण बनता है।

गर्भावस्था और मेनोपॉज

गर्भावस्था और मेनोपॉज के दौरान भी महिलाओं के शरीर में कई तरह के हार्मोनल बदलाव होते हैं, जिसके कारण इस बीमारी के होने के चांसेस बढ़ जाते हैं। हालांकि ऐसा काफी कम मामलों में ही होता है।

हिर्सुटिज़्म के लक्षण

आमतैर पर इस बीमारी में महिलाओं के चेहरे, सीने और पीठ के पीछे बाल उगने लगते हैं, जो छोड़े कठोर भी होते हैं। यह देखने में भी काफी भद्दे लगते हैं।

ऊपरी होठों, निचले जबड़े, गर्दन, पेट व छाती पर बाल उगना
जांघों में बालों का आना
स्तनों का आकार बहुत छोटा होना
चेहरे पर बहुत अधिक मुंहासे आना
क्लोरिटस का बड़ा हो जाना
आवाज में भारीपन आ जाना

PunjabKesari

क्या है इलाज?

आमतौर पर डॉक्टर इस बीमारी को कंट्रोल करने के लिए महिलाओं को बर्थ कंट्रोल पिल्स देते हैं, जिससे शरीर में बनने वाले मेल हार्मोन्स का लेवल कम होता है। मगर बिना डॉक्टर की सलाह लिए इन दवाइयों का सेवन ना करें। इसके अलावा लेजर तकनीकी ट्रीटमेंट द्वारा भी इन समस्या को दूर किया जा सकता है।

 

पपीता और हल्दी का पैक

कच्चे पपीते में पपाइन नामक सक्रिय एंजाइम होता हैं, जो बालों के रोम छिद्रों को फैलाता है, जिससे बाल धीरे-धीरे गिरने लगते हैं। इसके अलावा इस पैक को लगाने से त्वचा कोशिकाओं दूर होती है और चेहरे पर निखार आता है।  

कैसे बनाएं?

अनचाहे बालों को हटाने के लिए पहले पपीते को छिल कर उसे टुकडों में काट लें और मिक्सी में डालकर ग्राइंड करें। फिर पपीते के पेस्ट में 1/2 टीस्पून हल्दी मिलाएं। फिर इस पेस्ट को चेहरे, हाथ, पैर और जहां-जहां अनचाहे बाल हो वहा लगाकर 15 मिनट के लिए छोड़ दें। इसके बाद मसाज करते हुए पैक को पानी से साफ कर लें। हफ्ते में 2 बार इसका नियमित रूप से इस्तेमाल करें। बाल धीर-धीरे गायब हो जाएंगे।

लाइफस्टाइल से जुड़ी लेटेस्ट खबरों के लिए डाउनलोड करें NARI APP

Related News