Twitter
You are hereNari

रेप के बाद मदद के लिए भीख मांगती रही लड़की, किसी ने नहीं की मदद (Video)

रेप के बाद मदद के लिए भीख मांगती रही लड़की, किसी ने नहीं की मदद (Video)
Views:- Tuesday, November 27, 2018-1:55 PM

देश में आए दिन रेप के कई मामले सुनने को मिलते है। कड़े कदम उठाने के बावजूद भी बलात्कार जैसी घटनाएं कम नहीं हो रहीं। क्या इसके लिए सिर्फ सरकार या फिर गुनहगार ही जिम्मेदार है या आम जनता भी? 

जरा सोचें कि एक रेप विक्टिम लड़की सड़क पर अनजान लोगों से मदद की गुहार लगाती है तो उसके प्रति लोगों की क्या प्रतिक्रिया होनी चाहिए? मदद से पहले क्या लोग उसके कपड़ों की तरफ गौर करेंगे? क्या पीड़िता को ही रेप के लिए दोषी माना जाएगा? सोशल मीडिया पर इन दिनों एक एेसा ही वीडिया वायरल हो रहा है, जिसमें एक 'रेप पीड़ित लड़की' सड़क पर लोगों से मदद मांग रही है, लेकिन उसे जो लोगों से रिस्पॉन्स मिला, वो सच में कई सवाल खड़े कर रहा है। 
PunjabKesari, Rape Victim Girl
दरअसल, यह अबाद नाम के एक एनजीओ द्वारा बनाया गया वीडियो है, जिसमें पीड़िता को एक के बाद दूसरे लड़कों के पास जाते दिखाया गया है। एक शख्स लड़की से सवाल करता है- क्या तुम ड्रग्स ली हुई हो? वहीं, दूसरा शख्स कहता है- मेरी बहन कभी इस तरह की ड्रेस नहीं पहनेगी। वायरल हो रहे इस वीडियो को 20 दिनों में कम से कम 20 लाख लोग देख चुके हैं। लड़की के साथ जो सलूक किया गया, उसे लेकर बहस शुरू हो गई है। 
PunjabKesari, Rape Victim Girl
हालांकि, एक शख्स वीडियो में लड़की से कहता है- क्या किसी ने तुम्हें नुकसान पहुंचाया है, मेरे पास आओ, डरो नहीं। जबकि एक लड़का उसे अपना जैकेट देता हुआ दिखाई देता है। एक महिला भी मदद करती है, लेकिन ज्यादातर लोगों ने लड़की पर ही सवाल उठाए हैं। एक अन्य शख्स महिला को कहता है - क्या तुम नशे में हो? एक अन्य व्यक्ति कहता है कि वह सिर्फ एक वेश्या है, बस किसी ने उसे फेंक दिया है... इसलिए वह चिल्ला रही है... 
 

वीडियो की असलियत

बता दें कि वीडियो में मनल नाम की महिला रेप विक्टिम का एक्ट कर रही है, जबकि लोगों के रिएक्शन सच्चे हैं। यह एक्सपेरिमेंट लेबनान में किया गया है। वीडियो को शेयर करते हुए एनजीओ ने लिखा- क्या होता है कि जब सड़कों पर एक रेप विक्टिम मदद मांगने जाती है? किस पर शर्मिंदा होना चाहिए?
PunjabKesari,Rape Victim Girl

क्या था वीडियो का उद्देश्य?

जेंडर पर आधारित हिंसा को लेकर किए गए इस 16 दिनों के कैंपेन के तहत अबाद एनजीओ ने #ShameOnWho? नाम से एक कैंपेन चलाया था, जिसका उद्देश्य लोगों की वास्तविक प्रतिक्रियाओं को समाज के सामने लाना है। 
 


यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!
Edited by:

Latest News