17 OCTTHURSDAY2019 11:48:00 PM
Nari

मैरिड लाइफ में खुशियां लाएंगे ये 5 वास्तु टिप्स

  • Edited By Anjali Rajput,
  • Updated: 09 Jun, 2019 02:37 PM
मैरिड लाइफ में खुशियां लाएंगे ये 5 वास्तु टिप्स

नए वैवाहिक जीवन की शुरुआत हर कोई हस्ते-खेलते हुए करना चाहता है। यदि आपकी भी नई-नई शादी हुई है या फिर होने वाली है तो आज का यह टॉपिक आपके लिए बहुत फायदेमंद हो सकता है। वास्तु के अनुसार शादी के शुरुआती दिनों में हमें कुछ बातों का अवशय ध्यान रखना चाहिए जिससे हमारे नए जीवन की शुरुआत अच्छी तरह हो सके। तो चलिए जानते हैं नए शादीशुदा जीवन की शुरुआत में आपको किन-किन बातों को ध्यान में रखना चाहिए ताकि आपकी जिंदगी के नए पड़ाव की शुरुआत बिना किसी अड़चन के हो सके...

दीवारों का रंग

शादी वाले घर में सबसे पहला काम घर की दीवारों को रंग करवाना होता है। ध्यान रखें कभी भी घर की दीवारों को गहरे रंग से न सजाएं। बल्कि हल्के और आंखों को ठंडक देने वाले रंग ही करवाएं। इसके अलावा आप घर के वातावरण को पॉसिटिव बनाने के लिए लीविंग रुम में मोमबत्तियों के साथ सजावट कर सकते हैं। 

बैडरुम को रखें साफ

बेडरूम को हमेशा साफ़ सुथरा रखें।अपने बैड का रोजाना झाड़ने से आलस और गलत ख्याल आपसे दूर भागेंगे। बेड हमेशा वुडन का होना चाहिए,न कि लोहे का। क्योंकि लोहे में शनि का वास होता है और शनि अंधेरे का कारक है। इससे आपके दांपत्य जीवन में अंधेरा छाने लग सकता है। यहां तक तलाक की नौबत भी आ सकती है।

 

PunjabKesari

बैडशीट्स

कोशिश करें बैडशीट्स का रंग बी सॉफ्ट एंड लाइट रहे। नवविवाहित कप्पल चाहे तो अपने कमरे में पानी के पॉट से भरा फूलों का गुलदस्ता भी रख सकते हैं। इससे दोनों के रिशते में सकारात्मकता बनी रहेगी।

फोटो कैप्शन

घर और कमरे की  दीवारों को हमेशा अच्छी यादों से भरपुर तस्वीरों के साथ सजाने से भी न्युली वैड कपल के संबंधों में मधुरता आती है। छोटी-मोटी अनबन तो हर रिश्ते में होती ही है, ऐसी सिचुएशन बनने पर यही तस्वीरें आपको अच्छे दिनों की याद दिलाकर एक नई शुरुआत करने में मदद करेंगी।

PunjabKesari

पुराने कपड़ों से रहें दूर

लड़का-लड़की दोनों को अपने शादी के पहले वाले कपड़ों से कुछ दिनों के लिए दूरी बनाकर रखनी चाहिए। नए कपड़े पहनने से आप खुशी महसूस करने के साथ-साथ, नई सकारात्मक सोच के भी मालिक बनते हैं।

PunjabKesari

अनजान लोगों की बातें करें अनसुनी

कई बार कुछ लोग हमारे शुभचिंतक होने का दिखावा तो करते हैं, लेकिन असल में वह हमारे जीवन में मुश्किलें खड़ी करना चाहते हैं। इसलिए कोशिश करें कि अनजान लोगों की सलाहें लेने से बचें। अगर कोई फिर भी आपके जीवन में हस्तक्षेप करे जा रहा है तो आप उससे दूरी बना लीजिए। घर के बड़े बुजुर्गों की बातें जरुर ध्यान से सुनें और जैसो वह बोलें वैसा ही करें।
 

Related News