18 JULTHURSDAY2019 12:21:44 PM
Nari

घर की खुशहाली के लिए औरतें सुबह उठते ही करें ये काम

  • Edited By Anjali Rajput,
  • Updated: 17 Jun, 2019 05:06 PM
घर की खुशहाली के लिए औरतें सुबह उठते ही करें ये काम

शास्त्रों में लिखा है कि घर में खुशहाली की चाबी महिला के हाथ में होती है। घर की औरत जैसा चाहे अपने घर को बना सकती है। वास्तु शास्त्रों के अनुसार अगर औरत कुछ चीजों को ध्यान रखे तो घर की तमाम समस्याओं से छुटकारा पाया जा सकता है। कहते हैं कि जिस घर का निर्माण वास्तु के हिसाब से नहीं होता है वहां के लोगों को कई सारी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। इसके साथ ही वास्तु शास्त्र में कुछ ऐसी बातें भी बताई गई हैं जिनका महिलाओं के द्वारा पालन करना लाभकारी माना गया है। तो  चलिए जानते हैं कि वास्तु शास्त्रों के हिसाब से घर की महिलाओं को किन पांच बातों का ध्यान रखना चाहिए....

सूर्योदय से पहले उठना

वास्तु शास्त्रों के अनुसार घर की महिलाओं को सूर्योदय से पहले उठ जानी चाहिए। सुबह उठकर घर की साफ सफाई करने के बाद भगवान की आरती उतारने से घर में मौजूद आलस्य और परेशानियों मीलों दूर भाग जाती हैं। साथ ही घर के लोगों का स्वास्थय अच्छा बना रहता है। 

PunjabKesari

पानी का छिड़काव

घर की मुखिया अगर सुबह उठकर तांबे के लोटे में पानी भरकर, मेन गेट या फिर दरवाजे के आसपास बाहर पानी का छिड़काव करती हैं तो वास्तु के अनुसार घर की पैसों से संबंधित परेशानियां दूर होती हैं। घर में लक्ष्मी जी का वास होता है। 

ल्क्षमी जी की पूजा

प्रत्येक शुक्रवार को यदि घर की महिला श्री सूक्त या श्री लक्ष्मी सूक्त का पाठ करती है तो इससे घर में धन लाभ बढ़ता है। अगर आप लक्ष्मी जी के नाम का व्रत भी रखती हैं तो इससे आपके बच्चों की जीवन में तरक्की का राह भी खुलेगा। 

PunjabKesari

अमावस्या को घर की सफाई

वास्तु शास्त्र की मानें तो अमावस्या के दिन पूरे घर की अच्छी तरह से साफ-सफाई करनी चाहिए। कहते हैं कि ऐसा करने से घर की समस्त नकारात्मक ऊर्जा दूर हो जाती है। परिवार के लोगों का स्वास्थ्य बेहतर होता है।

गाय को चारा

अगर घर के आसपास गोशाला है तो वास्तु के अनुसार हर रोज गाय को चारा डालने से घर मे कलह-कलेश नहीं पड़ता। घर के सभी सदस्यों में प्रेम और विश्वास बढ़ता है। यदि घर में तुलसी का पौधा विराजमान है तो रोज सुबह स्नान-ध्यान करने के बाद, पौधे को पानी डालें। ऐसा करने से शारीरिक संबंधी परेशानियों से घर के सदस्य मुक्त रहते हैं। 

कोशिश कीजिए घर के बच्चों को भी अपने साथ-साथ इन संस्कारों की आदत डालिए। खासतौर पर घर की लक्ष्मियों को, आखिर उन्हें एक दिन नए घर जाना है। इससे आपका घर तो संवरेगा ही साथ ही आपकी बेटी अपने ससुराल की खुशहाली को बढ़ाएगी। 
 

लाइफस्टाइल से जुड़ी लेटेस्ट खबरों के लिए डाउनलोड करें NARI APP

Related News

From The Web

ad