18 JULTHURSDAY2019 1:03:36 PM
Nari

Vastu Tips: पूजा के दौरान इन बातों पर दें खास ध्यान

  • Edited By Harpreet,
  • Updated: 11 Jul, 2019 11:47 AM
Vastu Tips: पूजा के दौरान इन बातों पर दें खास ध्यान

वास्तु शास्त्रों के अनुसार भगवान से संपर्क साधने का तरीका पूजा होता है। पूजा करने से ईश्वर तो प्रसन्न होता ही है साथ ही इससे मन को भी शांति मिलती है। मगर, पूजा करते वक्त विशेष बातों को ध्यान रखना बहुत अनिवार्य है। अगर उन बातों पर विशेष ध्यान न दिया जाए तो पूजा का फल कम होकर मिलता है। तो चलिए आज बात करते हैं पूजा-अर्चना करने के दौरान ऐसी कौन सी बातें हैं जिनका मुख्य रुप से ध्यान रखना बेहद जरुरी होता है...

पूजा करते समय इन बातों का रखें विशेष ध्यान

हमेशा एक बात ध्यान में रखें पूजा में बैठने से पहले स्नान ग्रहण अवश्य कर लें। पूजा के दौरान कोई भी झूठा बर्तन, जूते-चप्पल और चमड़े का सामान पास रखने से परहेज करें। पूजा में फूल सबसे ज्यादा अहमियत रखते हैं। ऐसे में ध्यान रखें कि फूल बासी नहीं होने चाहिए। अगर कहीं घर में जानवर हैं तो उन्हें पूजा की सामग्री से दूर रखें। किसी भी अनुचित वस्तु को पूजा वाले स्थान पर रखने से परहेज करें। 

PunjabKesari

किन मूर्तियों की न करें पूजा 

पूजा के दौरान ध्यान रखें कि खंडित किसी भी खंडित हुई मूर्ति की पूजा न करें। शास्त्रों में खंडित हुई मूर्तियों की पूजा करना अशुभ माना जाता है। वास्तु शास्त्रों में तो ऐसा भी कहा गया है कि खंडित मूर्ति की पूजा करने से ईश्वर नाराज हो जाते हैं जिससे पूजा का कोई फल नहीं मिल पाता। कोशिश करें खंडित मूर्ति को ऐसी जगहों पर छोड़ आएं जहां पुरानी वस्तुओं को रिसाइकिल करके उनका इस्तेमाल किया जाता है।  

रोली चावल का महत्व 

पूजा के दौरान रोली चावल बहुत अधिक महत्व रखता है। आपने देखा होगा हिंदू लोग पूजा में माथे पर तिलक लगाने के बाद चावल लगाते हैं। ऐसा करना हिंदू धर्म के मुताबिक शुभ माना जाता है। वास्तु के अनुसार चावल सकारात्मकता का प्रतीक माने जाते हैं। ध्यान रखें कि जब आप चावल को पूजा की थाली में रख रहें हैं तो चावल टूटे हुए नहीं होने चाहिए। हो सके तो बासमती चावलों का इस्तेमाल करें। 

आरती के वक्त ये बातें रखें ध्यान में 

हिंदू धर्म में कोई भी पूजा भगवान की आरती के बिना संपन्न नहीं हो सकती हैं।आरती हमेशा तांबे, पीतल या चांदी के दिए से ही करनी चाहिए। आप मिट्टी के दिए से भी आरती कर सकते हैं, ऐसा करना भी शुभ माना जाता है। आप आटे का दीपक भी बना सकती हैं। आरती करने से पहले दीपक पर शुद्ध जल का छिड़काव जरूर करें। कभी भी आरती की थाल को उलटा न घुमाएं। दिए को घूमाने की प्रक्रिया कम से कम 7 बार अवश्य करनी चाहिए। 

Related News

From The Web

ad