Twitter
You are hereNari

बिना दवा के करें कमर दर्द और हाई ब्लड प्रेशर का इलाज

बिना दवा के करें कमर दर्द और हाई ब्लड प्रेशर का इलाज
Views:- Friday, June 29, 2018-9:53 AM

आज के समय में भागदौड़ भरी कामकाज की जिंदगी में कमर दर्द, ब्लड प्रेशर लो या हाई होना आम बात है। सभी इन समस्याओं के होने पर दवाईयों की तरफ भागते हैं। लेकिन आज हम आपको बिना दवाइयों के इन समस्याओं से छुटकारा पाने का इलाज बताएंगे, इससे विदेशों में कई बड़े-बड़े रोगो को आसानी से ठीक किया जा रहा है। इस चिकित्सा पद्धति का नाम है चुंबकीय पद्धति यानि मैग्नेटिक थैरेपी।
आइए जानिए इन हेल्थ प्रॉब्लम्स में चुंबक कैसे करता है काम और किस तरह करें मैग्नेटिक थैरेपी।

PunjabKesari

चुंबक कैसे करता है काम
चुंबक में एक तरह की शक्ति होती है, जिसे चुंबकीय शक्ति कहते हैं। मानव शरीर के खून में आयरन यानि लोहा पाया जाता है, जो चुंबक द्वारा आकर्षित होता है। इस कारण चुंबक के द्वारा रोगों का इलाज करना संभव है। 
इस चिकित्सा के आधार पर खड़े होने पर शरीर का सिर का हिस्सा उत्तरी ध्रुव और पैर का हिस्सा दक्षिणी ध्रुव होगा। इसी तरह ही लेटने पर शरीर का दाहिना हिस्सा उत्तरी ध्रुव और बायां हिस्सा दक्षिणी ध्रुव होगा जबकि बैठने पर आगे का हिस्सा उत्तरी ध्रुव और पीछे का हिस्सा दक्षिणी ध्रुव होगा। इसी के आधार पर मैग्नेटिक थैरेपी के द्वारा कई बड़े रोगों का इलाज किया जाता है।

1. कमर दर्द का इलाज

PunjabKesari
कमर के ऊपरी हिस्से में दर्द होने पर इस थैरेपी से इलाज करने के लिए चुंबक का उत्तरी ध्रुव लगाएं और निचले हिस्से में दर्द होने पर चुंबक का दक्षिणी ध्रुव लगाएं। अगर कभी कमर के दाहिने तरफ दर्द हो तो उत्तरी ध्रुव लगाएं और बाईं तरफ के दर्द हो तो दक्षिणी ध्रुव लगाएं।

2. हाई ब्लड प्रेशर का इलाज
मैग्नेटिक थैरेपी के द्वारा हाई ब्लड प्रेशर का इलाज करने के लिए हाई पावर वाले चुंबक को 5-6 मिनट तक अपनी हथेलियों पर रखें। अगर आपके हाई पावर का चुंबक न होने पर आप मीडियम पावर के चुंबक को 10 मिनट तक दोनों हाथों पर रख सकते हैं। अगर आपका ब्लड प्रेशर ज्यादा हाई रहता है तो आप चुंबक का बाजूबंद बना कर भी पहन सकते हैं। इसके लिए उत्तरी ध्रुव का प्रयोग करें क्योंकि इसकी तासीर ठंडी होती है। 

3. लो ब्लड प्रेशर का इलाज

PunjabKesari
मैग्नेटिक थैरेपी से लो ब्लड प्रेशर का इलाज के लिए दोनों हथेलियों पर उनकी दिशा के अनुसार चुंबक को 15 से 20 मिनट तक हाई पावर के चुंबकों को रखें या फिर बाजूबंद बनाकर 1 घंटे तक बांधें। लो ब्लड प्रेशर के लिए दक्षिणी ध्रुव का प्रयोग ज्यादा ठीक रहता है क्योंकि इसकी तासीर गर्म होती है। 

मैग्नेटिक थैरेपी करते वक्त इन बातों का रखें ख्याल
1. इस थैरेपी को करते हुए शरीर के अंगों के हिसाब से चुंबक का ध्रुव रखें। बताएं हुए तरीके से ही चुंबक को हथेलियों पर रखें।
2. इस थैरेपी को करते हुए लकड़ी की कुर्सी या तख्त का इस्तेमाल करने से ज्यादा फायदा मिलता है।
3. मैग्नेटिक थैरेपी सुबह खाली पेट का समय बेहतर होता है और इसे करने के बाद आधे घंटे तक  ठंडी चीजें जैसे आइसक्रीम, फ्रिज के पानी का आदि का सेवन न करें।
4. कभी भी खाना खाने के तुरंत बाद थैरेपी न करें। 
5. थैरेपी करते समय अगर किसी तरह की परेशानी हो तो इसे तुरंत बंद कर दें।


यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!
फैशन, ब्यूटी या हैल्थ महिलाओं से जुड़ी हर जानकारी के लिए इंस्टाल करें NARI APP

Latest News