23 OCTWEDNESDAY2019 5:58:21 AM
Nari

इन 3 राशि वालों को नुकसान पहुंचाती है कछुए वाली अंगूठी

  • Edited By Harpreet,
  • Updated: 04 Oct, 2019 05:25 PM
इन 3 राशि वालों को नुकसान पहुंचाती है कछुए वाली अंगूठी

ज्योतिष शास्त्र में यकीन रखने वाले लोग हाथ में रत्नों वाली अंगूठी, ब्रेसलेट या फिर गले में चेन बनवाकर पहनते हैं। भिन्न-भिन्न रंगों के ये रत्न जातक की कुंडली के साथ जुड़े होते हैं। मगर आजकल रत्नों के अलावा लोगों ने कछुआ शेप की अंगूठी भी पहनी हुई है। आइए जानते हैं कुछए वाली अंगूठी पहनने के पीछे छिपे कारणों के बारे में विस्तार से...

क्यों पहनते हैं लोग यह अंगूठी ?

दरअसल कछुए वाली अंगूठी को वास्तु और ज्योतिष शास्त्र दोनों में बहुत शुभ माना गया है। यह अंगूठी व्यक्ति के जीवन के कई दोषों को शांत करने का काम करती है। इस अंगूठी को पहनने का सबसे बड़ा लाभ है कि इसे धारण करने वाले व्यक्ति के आत्म विश्वास में वृद्धि होती है। हिंदू धर्म में कछुए को भगवान विष्णु का अवतार माना जाता है। भगवान विष्णु जी ने कछुए के सहयोग से ही सागर मंथन किया था

आइए अब जानते हैं इस अंगूठी को धारण करने के पीछे छिपे फायदों के बारे में...

PunjabKesari,nari

जीवन में शीतलता और सौम्यता

जैसी कि आप जानते हैं कि कछुआ पानी में रहने वाला जीव है इसलिए जो लोग इसे अंगूठी में धारण करके पहनते हैं, उनके जीवन में ठहराव और सौम्यता अपने आप आ जाती है। कुछए को सकारात्मकता और उन्नति का भी प्रतीक माना जाता है। इसी वजह से ज्योतिष और वास्तु शास्त्र के अनुसार इसे पहनने की सलाह दी जाती है।

PunjabKesari,nari

जिन लोगों को ज्यादा गुस्सा आता है या फिर जिनके जीवन में उत्थल-पुत्थल चल रही है, उनके लिए इसे धारण करना बेहद शुभ माना जाता है।

कछुए वाली अंगूठी नहीं है फैशन ट्रेंड

आजकल बहुत से लोग इसे फैशन के तौर पर भी पहनने लग गए हैं। मगर आपको बता दें कि यह अंगूठी किसी ट्रेंड को फॉलो करने के लिए नहीं बल्कि इसे पहनकर आप अपने जीवन के कई नष्ट खत्म कर सकते हैं। इसे पहनने से घर में कभी भी पैसों की कमी नहीं होती। इस अंगूठी को पहनने के बाद आप जिस काम की भी शुरुआत करने जा रहे होते हैं, उसमें आपको सफलता जरुर मिलती है।

सेहत के लिए फायदेमंद

कछुए वाली अंगूठी धारण करने वाला इंसान बीमार भी बहुत कम पड़ता है। असल में इसे पहनने के बाद व्यक्ति खुद को इतना व्यस्त महसूस करता है कि उसके पास किसी नेगेटिव सोच या फिर काम करने का वक्त ही नहीं बचता । जिस वजह से वह हमेशा तंदरुस्त और एक्टिव फील करता है।

PunjabKesari,nari

ये तो बात हुई अंगूठी पहनने के फायदों के बारे में, अब जानेंगे इस अंगूठी को धारण करने की विधि और सही समय के बारे में विस्तार से...

अंगूठी पहनने का सही तरीका और समय

शास्त्रों के अनुसार कछुए वाली अंगूठी हमेशा चांदी में ही बनवानी चाहिए। अगर चांदी नहीं पहन सकते तो अंगूठी में अपनी राशि के मुताबिक रत्न जरुर जड़वा लें। अंगूठी हमेशा यूं बनवाएं कि कछुए के मुख आपकी तरफ हो। ऐसा करने से जीवन में धन आकर्षित होगा। बाहर की तरफ मुख वाले कुछए की अंगूठी कभी नहीं पहननी चाहिए।

पूर्णिमा के दिन पहनना रहेगा शुभ

पूर्णिमा के दिन इस अंगूठी को पहनना और खरीद कर लाना, दोनों ही बातें शुभ मानी जाती हैं। अंगूठी को खरीदने के बाद इसे 
दूध, दही, गंगाजल, शहद और तुलसी का घोल बनाकर उसमें डालकर इसे साफ करें। साफ करने के बाद गाय के घी का दीया जलाकर ‘ओम भगवते कुर्मायै ह्रीं नमः’ मंत्र का जाप करते-करते अंगूठी को पहन लें।

इस राशि के लोग मत पहने ये अंगूठी

कर्क, वृश्चिक और मीन राशि के लोगों को कछुए वाली ये अंगूठी नहीं पहननी चाहिए। इसकी वजह यह है कि ये तीनों राशियां जल तत्व से मेल-जोल रखती हैं। ऐसे में इसे धारण करने से जीवन में शीत प्रकृति बढ़ती है, जिसका सीधा नेगेटिव असर आपके मन और स्वास्थय पर पड़ता है। 

लाइफस्टाइल से जुड़ी लेटेस्ट खबरों के लिए डाउनलोड करें NARI APP

Related News