Twitter
You are hereNari

डायबिटीज और मोटापे से बचने के लिए जरूरी है विटामिन 'K'

डायबिटीज और मोटापे से बचने के लिए जरूरी है विटामिन 'K'
Views:- Saturday, October 27, 2018-4:48 PM

स्वस्थ रहने और बीमारियों से बचने के लिए विटामिन्स बहुत जरूरी है। इन्हीं में से एक है विटामिन-के। विटामिन के न सिर्फ बीमारियों से बचाता है बल्कि यह सेल्स, बालों और त्वचा के निर्माण के लिए भी बहुत जरूरी हैं। इतना ही नहीं, विटामिन 'K' डायबिटीज और मोटापे से बचाने में भी मदद करता होता है। आइए आपको बताते हैं कि विटामिन 'K' से शरीर को क्या-क्या फायदे होते हैं और कैसे इसकी कमी को पूरा किया जाए।

 

1. किन आहारों से मिलता है विटामिन 'K'
विटामिन 'के' दो प्रकार के होते हैं K-1 और K-2। विटामिन के-1 फलों, पत्तागोभी, ब्रोकली, पालक, चुकंदर, सरसो का साग, चुकंदर, पालक, मूली, शलजम आदि से प्राप्त होता है। वहीं विटामिन के-2 दूध, पनीर, दही, चीज, घी, मक्खन, योगर्ट आदि मिलता है। इसके अलावा गेहू, जौ, जैतून तेल, लाल मिर्च, केले और अंकुरित अनाज भी विटामिन के से भरपूर होते हैं। इसकी कमी को पूरा करने के लिए इन चीजों को अपनी डाइट में शामिल करें।

PunjabKesari

2. विटामिन 'K' के फायदे
-डायबिटीज और मोटापे को करता है कम

शोध के मुताबिक, विटामिन 'के' शरीर में ऐसे प्रोटीन का निर्माण करता है, जिससे डायबिटीज और मोटापा कंट्रोल में रहता है। इस प्रोटीन को ऑस्टियोकैल्सिन कहते हैं, जो वसा में घुलनशील होता है। विटामिन के शरीर में इन्सुलिन के निर्माण में मदद करता है साथ ही रक्त में शुगर का स्तर ठीक रखता है।

PunjabKesari

-दिल के रोगों से बचाव
विटामिन 'K' हड्डियों को मजबूत करने के साथ धमनियों में कैल्शियम का जमाव रोकता है। इससे दिल के रोग औ हार्ट अटैक का खतरा कम हो जाता है।

-बेहतर पाचन क्रिया
विटामिन 'K' की वजह से शरीर में पाचन क्रिया ठीक से कार्य करती है और इससे आपको पेट से जुड़ी समस्याएं भी नहीं होती।

-मजबूत हड्डियां
इसके कारण हड्डियों में कैल्शियम का अशोषण ठीक से होता है और हड्डियां मजबूत बनती है।

PunjabKesari

-कैंसर से बचाव
विटामिन k पेट, कोलोन (colon), लिवर, मुँह, प्रोस्टेट और नाक के कैंसर के खिलाफ लड़ने में मदद करता है।

-एंटी-एंजिंग
इससे भरपूर फलों का सेवन करने से एंटी-एंजिंग की समस्याएं भी दूर रहती हैं।

-ऑक्सीडेटिव तनाव को रखे दूर
यह विटामिन मस्तिष्क को फ्री रेडिकल्स की क्षति के कारण होने वाले ऑक्सीडेटिव तनाव से बचाता है। ऑक्सीडेटिव तनाव मस्तिष्क की कोशिकाओं को नुकसान पहुंचाकर अल्जाइमर, पार्किंसंस जैसी बीमारियों का कारण बन सकता है।

PunjabKesari

3. रोजाना कितनी होती है विटामिन के की जरूरत
0-6 माह का शिशु- 2 माइक्रोग्राम
7 से 12 माह का शिशु- 2.5 माइक्रोग्राम
1 से 3 साल के बच्चे- 30 माइक्रोग्राम
4 से 8 साल के बच्चे- 55 माइक्रोग्राम
9 से 13 साल के बच्चे- 60 माइक्रोग्राम
14 से 18 साल के बच्चे- 75 माइक्रोग्राम
19 साल से ऊपर के लोग- 90 माइक्रोग्राम
 


यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!
फैशन, ब्यूटी या हैल्थ महिलाओं से जुड़ी हर जानकारी के लिए इंस्टाल करें NARI APP
Edited by:

Latest News