15 OCTTUESDAY2019 7:04:08 PM
Nari

पति व पत्नी के बीच न आए पैसे, फाइनेंशियल मैनेजमेंट के लिए पढ़ें ये टिप्स

  • Edited By khushboo aggarwal,
  • Updated: 03 Jul, 2019 10:43 AM
पति व पत्नी के बीच न आए पैसे, फाइनेंशियल मैनेजमेंट के लिए पढ़ें ये टिप्स

रिश्ता कोई भी हो पैसा उसमें दरार डालने के लिए काफी हैं। पैसा एक ऐसा मुद्दा है जिसे लोग हर रिश्ते से दूर रखना पसंद करते है, लेकिन मैरिड लाइफ में पैसे लाना बहुत ही जरुरी होता है। शादीशुदा जिंदगी को सही ढंग से चलाने के लिए पैसों का बैंलेस होना भी बहुत ही जरुरी होता है। 

शादी के बाद पैसों को लेकर यहीं बात सुनी जाती है कि पत्नियां अपने मेकअप या शॉपिंग पर ज्यादा पैसे खर्च करती है तो वहीं पति गैजेट पर। जब भी पति कहीं पैसे खर्च करने लगता है तो पत्नी उसे घर खर्च याद दिलाने लगती है, वहीं जब पत्नी शॉपिंग की बात करती है पति बजट हिलने की बातें बोलने लगते है। ऐसे में रिश्तों में खटास या नौक झोंक चलती रहती हैं। इसलिए जरुरी है कि शादीशुदा जिदंगी में पति व पत्नी दोनो मिलकर पैसों पर बात कर, उसका हल निकालेें। उसके लिए उन्हें कुछ बातों को ध्यान में रखना चाहिए। 

आरोप न लगाएं 

पैसे को मामले को लेकर कभी भी एक दूसरे पर आरोप न लागएं। अगर आपको लगता है कि आपका पार्टनर आपको बिना बताए सारे पैसे खर्च कर रहा तो इस पर कोई तीखी प्रतिक्रिया न देकर आराम से उनसे बात करें। उसके बाद आपस में बात कर अपने खर्च पर अकुंश लगाए। इसमें एक नहीं दोनों ही पार्टनर शामिल होेने चाहिए। 

PunjabKesari

साथ बनाएं बजट

हर महीने की शुरुआत में दोनो पार्टनर मिलकर एक बजट तैयार करें। जिसमें घर, किचन, काम वाली, शॉपिंग, सेविंग, बच्चों के खर्च को शामिल करें। इस बजट को घर की किसी जगह पर लिख कर रख दें, इससे दोनों को  हमेशा अपना बजट याद रहेगा। यह आपकी फजूलखर्ची को रोकने में काफी मदद करेगा। 

PunjabKesari

ज्वाइंट अकाउंट

रिश्तों में किसी भी दिक्कत न हो इसके लिए जरुरी है कि आप कुछ नियम बना लें जिस पर आप दोनों मिल कर चलें। कोई भी इस नियम को नहीं तोड़ेगा। अगर आप एक दूसरे खर्चे पर अंकुश लगाएगें तो दूसरा इस से दुखी हो कर अधिक खर्च करेगा। इसलिए एक ज्वाइंट अकाउंट खोलें, जिसमें आप अपने महीने का घर खर्च डाल दें। उसके बाद अपनी सैलरी का कुछ हिस्सा पर्सनल अकाउंट में रखें। इससे आपका खर्चों पर अंकुश तो लगेगा साथ ही आपको अपनी सेविंग का भी आइडिया रहेगा। 

प्लानर की लें मदद 

अगर पति व पत्नी दोनों मिलकर भी अपने घर का खर्च मैनेज नही कर पा रहे तो आपकों फाइनेशल प्लैनर की जरुरत है, जो कि आपको बताए की आपको किस तरह से अपनी सेविंग करके खर्च करना चाहिए। इससे आपको खर्च करने के काफी आइडिया भी मिल जाएगें। 

PunjabKesari


 
कैश से करें शॉपिंग 

क्रेडिट कार्ड के जितने फआयदे है उतने नुकसान भी है, क्योंकि जब हमारे पास कार्ड होता है जब अपने खर्चे पर ध्यान नहीं देते है। इसलिए जब भी शॉपिग पर जाए अपना पार्टनर को कहें व खुद अपना कार्ड घर छोड़ कर जाएं। इससे आपके पास जो कैश है उसी से शॉपिंग करेगा, आपकी फालतू खर्ची पर भी बहुत कंट्रोल होगा। 

PunjabKesari

 

समझे पैसे की वैल्यू , करें अपने लिए सेविंग

अब आपको यह नहीं भूलना चाहिए कि आप सिंगल नहीं है, आपका भी परिवार है। किसी जरुरी समय में आपको भी पैसे की जरुरत पड़ सकती है। इसलिए समय समय पर सेविंग जरुर करें, इससे आपका भविष्य सुरक्षित रहेगा। 

1. अपने पास इमरजेंसी फंड जरुर रखें, ताकि परिवार में जरुरत पड़ने पर इस्तेमाल कर सकें। 


2. प्राइवेट जॉब में पेशन का कोई माध्मय नहीं होता है इसलिए कोशिश करें कि अपनी जॉब के साथ साथ ही बुढ़ापे के लिए भी सेविंग प्लान करें। 


3. अपने पैसे को घर में रखने की जगह कहीं पर इंवेस्ट कर दें, जिससे उसकी वैल्यू डबल हो जाएगी। 


4. परिवार के साथ साथ बच्चों के लिए प्लान बना कर रखें। 
 

Related News