18 SEPWEDNESDAY2019 12:36:26 PM
Nari

अपनी ही गर्लफ्रैंड को मार कर खा गया था यह शख्स, आज हो गया है आजाद

  • Edited By khushboo aggarwal,
  • Updated: 21 Aug, 2019 03:33 PM
अपनी ही गर्लफ्रैंड को मार कर खा गया था यह शख्स, आज हो गया है आजाद

गर्लफ्रैंड ब्वॉयफ्रैंड होना आजकल आम बात है लेकिन आपको पार्टनर चुनने से पहले उसके नेचर व करियर बैकग्राऊंट की जानकारी जरूर होनी चाहिए क्योंकि कई बार बिना जांच किए किसी के प्यार में पढ़ना महंगा पड़ता  है जैसे कि 41 साल की कैरेन को पड़ा। उनके नशेड़ी ब्वॉयफ्रैंड ना उसे जान से मार डाला बल्कि उसके टुकड़े कर खा भी गया। 

जी हां यह मामला है स्पेन का, जहां  60 साल का ड्यूरेंट पॉल अपनी ही गर्लफ्रैंड को मार कर खाने के जुर्म में 14 साल की जेल काट कर वापिस आ गया है। चलिए आपको बताते हैं क्या थी पूरी घटना...

क्या था मामला? 

पिछले महीने ही 60 साल का ड्यूरेंट पाल जेल से छूट कर बाहर आया है, जिसके बाहर आने पर उसके आस-पास के लोग बिल्कुल भी खुश नही है, बल्कि वह सभी काफी डरे हुए है। इस कारण ड्यूरेट द्वारा किया गया अपराध है। यह घटना 2004 की है। ड्यूरेंट ड्रग लेने के साथ चोरी व लूटपाट भी करता था। कई महीनों से वह लूट के केस में फरार था। इसलिए वह ब्रिटेन से भाग कर स्पेन आ गया था। इसकी दौरान उसकी मुलाकात 41 साल की कैरेन से हुई। कैरेन एक तलाकशुदा महिला थी, जिसके दो बच्चे थे। 

PunjabKesari,Nari
कैरेन से मिलने के एक हफ्ते के बाद ही वह उसके अपार्टमेंट के ऊपरी हिस्से में शिफ्ट हो गया था। इसके कुछ दिन बाद कैरेन जब अपने घर से बाहर नही निकली तो आस-पड़ोस वालों को शक हुआ। उन्होंने इस घटना की जानकारी पुलिस को दी। उसके बाद जब पुलिस ने कैरेन के घर की तालाशी ली तो उन्हें वहां खून व खून से सने चाकू मिले। इनके बाद पुलिस ने उनकी तलाश करनी शुरु कर दी।  ड्यूरेंट को पकड़ने के बाद उन्हें कबूल कर लिया की उन्होंने हथौड़ा मार कर कैरेन की हत्या की है, इसके साथ ही उसकी बॉडी के बहुत ही छोटे टुकड़े कर दिए थे। इतना ही नही उसमें से कुछ हिस्सों को वह खा गया था, जिस कारण बॉडी मिल नही पाई हैं।

इतना ही नही, उसके एक दोस्त ने बताया कि ड्यूरेंट ने उसके सामने भी अपनी गर्लफ्रेंड को मारने की बात कुबूल की थी और उसी का एटीएम भी इस्तेमाल किया हैं। इस अपराध के लिए उसे 12 साल की सजा दी गई थी, इसके साथ ही उसके बाकी के जुर्म के लिए उसे कुल मिलाकर 15 साल की जेल की सजा दी गई थी। वहीं कैरेन के परिवार का कहना है कि ड्यूरेंट को उसके जुर्म के लिए कभी भी रिहा नही किया जाना चाहिए था क्योंकि ऐसे अपराधी को छोड़ देना काफी डरावना है। 




 

लाइफस्टाइल से जुड़ी लेटेस्ट खबरों के लिए डाउनलोड करें NARI APP

Related News